फॉर्मूला-1: वियतनाम 2020 में पहली बार करेगा एफ-1 रेस की मेजबानी

वियतनाम की राजधानी हनोई दक्षिण पूर्व एशिया की तीसरी मेजबान बनेगी. सिंगापुर और मलेशिया फॉर्मूला-1 रेस की पहले से मेजबानी कर रहे हैं. 

फॉर्मूला-1: वियतनाम 2020 में पहली बार करेगा एफ-1 रेस की मेजबानी
लुईस हैमिल्टन ने 2018 की एफवन चैंपियनशिप 19वीं रेस में ही जीत ली है. अभी इस साल की दो रेस होनी बाकी हैं. (फोटो: PTI)

हनोई (वियतनाम): मर्सडीज के रेसर लुईस हैमिल्टन के वर्ल्ड चैंपियन बनने के बाद फॉर्मूला-1 के अगले सेशन की बातें होने लगी हैं. ब्रिटेन के हैमिल्टन अगले साल अपने खिताब का बचाव करने उतरेंगे. इसके एक साल बाद यानी, 2020 में फॉर्मूला-1 चैंपियनशिप में एक और मेजबान का नाम जुड़ जाएगा. वियतनाम 2020 में पहली बार राजधानी हनोई में फॉर्मूला-1 रेस की मेजबानी करेगा. 

वियतनाम के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी. अगले साल एफ-1 रेस के लिए सर्किट का उद्घाटन किया जाएगा. वियतनाम सरकार ने एफ-1 रेस के आयोजन के लिए अपना समर्थन दिया है, लेकिन वह रेस के आयोजन के लिए वित्तीय सहायता नहीं दे रही है. यह जिम्मेदारी आयोजकों पर छोड़ी गई है, जो इसके लिए निजी क्षेत्रों से मदद ले रहे हैं. 

अगले साल तैयार हो जाएगा ट्रैक 
वियतनाम के अधिकारी ने कहा कि ट्रैक पर काम तेजी से चल रहा है. अगले साल तक इसे खत्म कर लिया जाएगा, ताकि इसका सही समय पर उद्घाटन हो सके. ऐसे में 2020 में वियतनाम की ग्रांप्री एफ-1 के कार्यक्रम में प्रवेश करेगी. दक्षिण-पूर्वी एशिया की यह तीसरी रेस होगी. इसमें सिंगापुर ग्रांप्री और मलेशिया ग्रांप्री शामिल हैं. दक्षिण एशिया में नई दिल्ली भी फॉर्मूला-1 रेस की मेजबानी कर चुकी है. 

लुईस हैमिल्टन ने पांचवीं बार जीता खिताब
मर्सिडीज के रेसर लुईस हैमिल्टन ने 28 अक्टूबर को मैक्सिको ग्रांप्री रेस में दूसरा स्थान हासिल करते ही इस साल की फॉर्मूला-1 चैंपियनशिप जीत ली थी. उन्होंने अपने करियर में पांचवीं बार फॉर्मूला-1 खिताब पर कब्जा किया है. हैमिल्टन ने इसके साथ ही अर्जेटीना के दिग्गज जुआन मैनुएल फांगियो के 5 खिताब जीतने के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली. हालांकि, वे जर्मनी के रेसर माइकल शूमाकर के रिकॉर्ड की बराबरी करने से दो खिताब पीछे हैं. शूमाकर ने सात बार एफ-1 का खिताब को अपने नाम किया है.

2018 में अभी दो रेस और होनी हैं 
लुईस हैमिल्टन ने साल की 19वें रेस में ही ड्राइवर चैंपियनशिप जीतने के लिए जरूरी 358 अंक हासिल कर लिए. उन्होंने साल की 19 में से नौ रेस जीतीं और तीन में दूसरे नंबर पर रहे. हालांकि, फॉर्मूला-1 चैंपियनशिप में इस साल 21 रेस होनी हैं. जर्मनी के सेबस्टियन वेटल (294) ड्राइवर चैंपियनशिप में दूसरे नंबर पर चल रहे हैं. यानी, वेटल ब्रिटिश रेसर हैमिल्टन से 64 अंक पीछे हैं. अगर वे अगली दो रेस जीत लें तो भी उनके अधिकतम 344 अंक ही हो सकते हैं. यानी, तब भी वे हैमिल्टन से पीछे ही रहेंगे. 

(इनपुट- आईएएनएस)