जब टेस्ट में दोंनो ओपनर हुए हैं नर्वस नाइंटीज के शिकार, भारतीय का नाम भी है शामिल

टेस्ट क्रिकेट शुरू होने के करीब 100 साल बाद पहली बार किसी टीम के बल्लेबाजों का नाम इस दुर्भाग्यपूर्ण रिकॉर्ड से जुड़ा था.

जब टेस्ट में दोंनो ओपनर हुए हैं नर्वस नाइंटीज के शिकार, भारतीय का नाम भी है शामिल

नई दिल्ली: किसी भी बल्लेबाज के लिए टेस्ट क्रिकेट में 2 बार ही सबसे मुश्किल पल माने जाते हैं. पहला जब वो बल्लेबाज ओपनिंग करने के लिए नई गेंद का सामना कर रहा हो और दूसरा जब बल्लेबाज 90 का आंकड़ा पार करते हुए नर्वस नाइंटीज (90 से 99 के बीच आउट होना) के खतरे से जूझ रहा हो. क्या आपको पता है कि क्रिकेट में आज तक महज  56 ऐसे मौके आए हैं, जब किसी टीम के दो बल्लेबाज एक ही पारी में नर्वस नाइंटीज का शिकार हुए हैं. इसमें भी महज 4 बार किसी टीम के दोनों ओपनिंग बल्लेबाज नर्वस नाइंटी में पहुंचने के बाद शतक बनाने से चूक गए. इनमें से 2 बार ये दुर्भाग्यपूर्ण रिकॉर्ड टीम इंडिया के ओपनरों ने बनाया है. 

टेस्ट क्रिकेट चालू होने के 100 साल बाद हुआ पहली बार
टेस्ट मैचों का इतिहास 1877 में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहला ऑफिशियल टेस्ट मैच शुरू हुआ था. लेकिन दोनों ओपनरों के एक ही पारी में नर्वस नाइंटीज पर आउट होने का रिकॉर्ड पहली बार करीब 100 साल बाद बना था. पाकिस्तान के खिलाफ 1978-79 के लाहौर टेस्ट में टीम इंडिया के लिए ओपनिंग में उतरे दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने 97 रन और चेतन चौहान (Chetan Chauhan)ने 93 रन बनाए थे. 

मैच की पहली पारी में इमरान खान (IMRAN KHAN) और सरफराज नवाज (Sarfaraz Nawaz)की जोड़ी ने भारतीय टीम को 199 रन पर लुढ़का दिया था. जवाब में पाकिस्तान ने जहीर अब्बास (Zaheer Abbas)के 235 रन से 6 विकेट पर 539 रन बनाए. 340 रन से पिछड़ी टीम इंडिया को गावस्कर और चेतन की जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 192 रन जोड़कर खतरे से उबारने की कोशिश की, लेकिन दोनों अपना शतक नहीं बना सके. टीम इंडिया ने 465 रन बनाए और उसे 8 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था.

दूसरी बार भी भारतीय जोड़ी के ही नाम चढ़ा ये रिकॉर्ड
गावस्कर-चेतन की जोड़ी के बाद टेस्ट इतिहास में दूसरी बार भी ओपनिंग जोड़ी के नर्वस नाइंटी स्कोर बनाने का रिकॉर्ड टीम इंडिया के ही नाम चढ़ा. 1997-98 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कोलकाता टेस्ट में वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) ने 95 और नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने 97 रन के नर्वस नाइंटी स्कोर बनाए थे.

ऑस्ट्रेलिया ने पहले खेलते हुए 233 रन बनाए थे. इसके जवाब में लक्ष्मण और सिद्धू की जोड़ी ने शतक से चूककर भी 191 रन की शुरुआत टीम इंडिया को दी. बाद में टीम इंडिया ने मोहम्मद अजहरुद्दीन (Mohammad Azharuddin) के 163 रन की मदद से 5 विकेट पर 633 रन ठोक दिए. फिर ऑस्ट्रेलिया को 181 रन पर रोककर एक पारी और 219 रन से मैच जीत लिया था.

2006 में पाकिस्तानी बल्लेबाजों ने नाम किया शामिल
ओपनरों के नर्वस नाइंटीज में आउट होने के रिकॉर्ड में साल 2006 में पाकिस्तानी टीम का भी नाम शामिल हो गया. इंग्लैंड दौरे पर द ओवल टेस्ट में पाकिस्तान के ओपनरों मोहम्मद हफीज (Mohammad Hafeez) ने 95 रन और इमरान फरहत (Imran Farhat) ने 91 रन की पारी खेली थी. 

3 साल बाद फिर रिकॉर्ड बुक में आया पाक का नाम
करीब 3 साल बाद 2009-10 में पाकिस्तान का नाम इस रिकॉर्ड से तीसरी बार जुड़ा. हालांकि इस बार उसके खिलाफ ये रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों ने बनाया था. मेलबर्न में खेले गए टेस्ट मैच में शेन वॉटसन (Shane Watson) ने 93 रन और साइमन कैटिच (Simon Katich)ने 98 रन की पारी खेली थी.