अफरीदी ने उड़ाया गंभीर का मजाक, कहा- वे खुद को ब्रैडमैन और बॉन्ड का मिश्रण समझते हैं

शाहिद अफरीदी ने अपनी बायोग्राफी में लिखा कि गंभीर का रवैया प्रतिस्पर्धी नहीं था. वे नकारात्मकता से भरे खिलाड़ी थे. 

अफरीदी ने उड़ाया गंभीर का मजाक, कहा- वे खुद को ब्रैडमैन और बॉन्ड का मिश्रण समझते हैं
गौतम गंभीर और शाहिद अफरीदी (फोटो: ANI)

नई दिल्ली: पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने बायोग्राफी ‘गेम चेंजर’ में अपनी उम्र से पर्दा हटाने के साथ ही कई विवादित बातें भी लिखी हैं. उन्होंने क्रिकेटर से नेता बने गौतम गंभीर के व्यक्तित्व पर भी सवाल उठाए हैं. अफरीदी ने किताब में गंभीर के साथ अपनी मैदानी लड़ाई का जिक्र भी किया है. उन्होंने लिखा कि गंभीर का अपना कोई व्यक्तित्व नहीं है. वे खुद को सर डॉन ब्रैडमैन और जेम्स बॉन्ड का मिश्रण समझते हैं. पाकिस्तान के पूर्व कप्तान ने आगे लिखा कि गंभीर के रवैये को प्रतिस्पर्धी नहीं कहा जा सकता है. वास्तव में, वे नकारात्मकता से भरे खिलाड़ी थे. 

शाहिद अफरीदी और गौतम गंभीर जब क्रिकेट खेलते थे, तब इनके बीच अक्सर बहस होती रहती थी. एक बार तो अफरीदी गेंदबाजी करने के बाद गंभीर के रास्ते में खड़े हो गए थे. तब गंभीर ने उन्हें धक्का देकर रन पूरा किया था. अफरीदी भारतीय ओपन गंभीर को लेकर यह कड़वाहट अपनी किताब से भी बाहर नहीं निकाल पाए. उन्होंने लिखा, ‘'कुछ प्रतिस्पर्धा व्यक्तिगत होती हैं, तो कुछ पेशेवर. गंभीर के मामले में ऐसा ही था. वे और उनका रवैया ही सबसे बड़ी समस्या थी. उनका कोई व्यक्तित्व नहीं है. उनके पास कोई रिकॉर्ड नहीं है. फिर भी वे बहुत ज्यादा एटिट्यूड रखते हैं.’ 

एकदूसरे को देते थे गालियां 
अफरीदी ने यह भी लिखा है कि वे और गंभीर जब आमने-सामने आते थे तो एकदूसरे से गालीगलौच करना आम बात थी. पाकिस्तानी पत्रकार साज साजिद ने अफरीदी की किताब के कुछ हिस्से ट्वीट किए हैं. इसके मुताबिक अफरीदी और गंभीर 2007 के एशिया कप में एक बार भिड़ गए थे. इसके बाद अंपायरों को बीचबचाव करना पड़ा था. लेकिन जब तक अंपायर बीच में आए तब तक दोनों खिलाड़ी एकदूसरे को गालियां देते रहे. 

 

 

 

फाइनल में टॉप स्कोरर थे गंभीर 
शाहिद अफरीदी कुछ भी दावे कर रहे हैं, लेकिन सच यह है कि गंभीर बड़े मैचों में बेहतर प्रदर्शन करते थे. भारत ने गंभीर के करियर के दौरान दो विश्व कप (टी20 और वनडे विश्व कप) जीते. गंभीर इन दोनों ही विश्व कप के फाइनल में भारत की ओर से सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी थे. गंभीर ने इसी साल जनवरी में क्रिकेट से संन्यास ले लिया था. अब वे चुनावी पारी खेलने उतर चुके हैं और लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं. 

उम्र का खुलासा किया, फिर भी कन्फ्यूजन
शाहिद अफरीदी ने आत्मकथा में अपनी सही उम्र का खुलासा भी किया है. हालांकि, वे इसमें भी भ्रमित नजर आए. उन्होंने किताब में अपनी जन्मतिथि 1975 बताई है. आधिकारिक रिकॉर्ड में यह 1 मार्च 1980 दर्ज है. अफरीदी ने 1996 में अपना पहला मैच खेला था. तब उनकी आधिकारिक उम्र 16 साल थी. अफरीदी ने किताब में कहा कि वे तब 16 नहीं 19 साल के थे. हालांकि, अगर उनकी जन्मतिथि 1975 की मानी जाए तो वे 1996 में 21 साल के रहे होंगे. 

अफरीदी ने 2017 में संन्यास लिया
शाहिद अफरीदी ने 27 टेस्ट, 398 वनडे और 99 इंटरनेशनल टी20 मैच खेले हैं. उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट से फरवरी 2017 में संन्यास ले लिया था. अफरीदी ने टेस्ट में 1716, वनडे में 8064 और टी20 में 1416 रन बनाए हैं. इस ऑलराउंडर ने टेस्ट में 48, वनडे में 395 और टी20 में 98 विकेट लिए हैं.