close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गेंद से छेड़छाड़ विवाद के बाद नई शुरुआत, मैच से पहले खिलाड़ी मिलाएंगे हाथ

टिम पेन ने इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन से मैच से पहले दोनों देशों के खिलाड़ियों के एक दूसरे से हाथ मिलाने का अनुरोध किया, जिसे उन्होंने मान लिया.

गेंद से छेड़छाड़ विवाद के बाद नई शुरुआत, मैच से पहले खिलाड़ी मिलाएंगे हाथ
ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने की नई पहल (Twitter/Cricket.com.au)

लंदन: ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन ने कहा कि उनके खिलाड़ी ‘गेंद से छेड़छाड़’ के विवाद से उबरने के लिए इंग्लैंड के खिलाफ शुरू हो रही पांच मैचों की एकदिवसीय क्रिकेट सीरीज के पहले मैच से पूर्व विरोधी टीम के खिलाड़ियों से हाथ मिलाऐंगे.  इस विवाद के बाद यह पहला मौका है जब टीम एकदिवसीय मैच खेलेगी. टिम पेन ने इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन से मैच से पहले दोनों देशों के खिलाड़ियों के एक दूसरे से हाथ मिलाने का अनुरोध किया, जिसे उन्होंने मान लिया, लेकिन सिर्फ पहले मैच के लिए. 

पेन ने कहा, ‘‘उन्हें ऐसा करना जरूरी नहीं है लेकिन हम ऐसा हर सीरीज से पूर्व करना चाहते हैं, हर मैच से पहले नहीं.’’ ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ, उपकप्तान डेविड वॉर्नर और कैमरुन बैनक्रॉफ्ट को गेंद से छेड़छाड़ का दोषी पाए जाने के बाद निलंबित किया गया था. 

मोर्गन ने भी इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि इंग्लैंड की टीम ऑस्ट्रेलिया के अनुरोध से सहमत है. हम खेल को सकारात्मक दृष्टिकोण से आगे बढ़ाने में उनकी मदद के लिए तैयार हैं. मोर्गन ने कहा, ‘‘मैं इससे खुश हूं, इससे मुझे कोई परेशान नहीं है. वे इस खेल में अपने देश की छवि को बदलने की कोशिश कर रहे हैं और हम सब इसके लिए तैयार हैं.’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘हम चाहते हैं कि क्रिकेट हमेशा अपने असल रूप में लोकप्रिय हो.’’ 

सब कुछ पहले जैसा हो जाएगा : गिलक्रिस्ट
हाल ही में हुए बॉल टैंपरिंग विवाद के बाद ऑस्ट्रेलिया ने काफी कुछ देखा. बीते दिनों जो हुआ उससे पूरा देश एक तरह से हैरान था, लेकिन पूर्व विकेटकीपर-बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट का मानना है कि एक बार जब क्रिकेट दोबारा से शुरू होगी तो सब कुछ पहले जैसा सामान्य हो जाएगा. उस विवाद के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम बुधवार को पहली बार मैदान पर उतरेगी. वह यहां द ओवल पर इंग्लैंड के खिलाफ पांच वनडे मैचों की सीरीज का पहला मैच खेलेगी. 

बीबीसी ने गिलक्रिस्ट के हवाले से लिखा है, "वो विश्वास जो खो चुका है, उसे दोबारा पाने के प्रयास में इंग्लैंड के खिलाफ होने वाली सीरीज पहला कदम है. इसमें कोई शक नहीं है कि जो हुआ उसके लिए खिलाड़ी जिम्मेदार थे. इस दिग्गज बल्लेबाज ने कहा कि इस टीम को उस विवाद से निकलने में परेशानी तो आएंगी लेकिन समय के साथ सब ठीक हो जाएगा.

पूर्व विकेटकीपर ने कहा, "अगले 12 महीनों में इस टीम को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा. न सिर्फ दर्शकों, प्रशंसकों का विश्वास जीतने में बल्कि खिलाड़ियों को बनाने में भी. इसमें काफी चुनौतियां आने वाली हैं."

गिलक्रिस्ट ने माना है कि यह टीम के लिए सही समय नहीं है और ऐसे में टीम के सीनियर खिलाड़ियों को आगे आना होगा. उन्होंने कहा, "अगर टीम को वापस शीर्ष पर वापस आना है तो कप्तान, सीनियर खिलाड़ियों को आगे आना होगा. उम्मीद है कि हम दोबारा पुरानी स्थिति को पा सकेंगे और अपनी सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेल सकेंगे."

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हुए बॉल टैंपरिंग विवाद के बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने तत्कालीन कप्तान स्टीव स्मिथ और उप-कप्तान डेविड वॉर्नर पर 12-12 महीनों का प्रतिबंध लगा दिया गया था जबकि सलामी बल्लेबाज कैमरून बैनक्रॉफ्ट पर नौ महीनों का प्रतिंबध लगाया गया था. कुछ दिनों बाद कोच डैरेन लैहमन ने भी टीम के मुख्च कोच पद से इस्तीफा दे दिया था. टिम पेन को टीम का नया कप्तान नियुक्त किया गया था जबकि जस्टिन लेंगर को टीम के नए मुख्च कोच के पद पर बैठाया गया है.