close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बुमराह के बाद अब पांड्या पीठ दर्द से परेशान, लंबे समय तक रह सकते हैं क्रिकेट से दूर

ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या पीठ दर्द के इलाज के लिए तीसरी बार इंग्लैंड जा रहे हैं. 

बुमराह के बाद अब पांड्या पीठ दर्द से परेशान, लंबे समय तक रह सकते हैं क्रिकेट से दूर
हार्दिक पांड्या एक मैच के दौरान कप्तान विराट कोहली के साथ. (फोटो: IANS)

नई दिल्ली: जसप्रीत बुमराह के टीम से बाहर होने के बाद भारतीय क्रिकेट को एक और झटका लगा है. टीम इंडिया (Team India) के स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या की पीठ का दर्द फिर उभर आया है. वे इस कारण लंबे समय तक क्रिकेट के मैदान से दूर रह सकते हैं. हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) इस दर्द से निजात के लिए इंग्लैंड के डॉक्टरों की मदद ले रहे हैं. वे बुधवार को इलाज के लिए इंग्लैंड जाएंगे. वे पीठ दर्द की इसी समस्या के चलते तीसरी बार इंग्लैंड जा रहे हैं. 

ऑलराउंडर हाल के समय में पीठ की चोट की वजह से टीम इंडिया से बाहर होने वाले दूसरे क्रिकेटर हैं. तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) पीठ की दर्द की वजह से ही टीम से बाहर चल रहे हैं. अब हार्दिक के बाहर होने से टीम को दूसरा झटका लगा है. हार्दिक पांड्या ने 11 टेस्ट में 17 विकेट लेने के साथ 532 रन बनाए हैं. उन्होंने 54 वनडे मैचों में 937 रन बनाए हैं और 54 विकेट लिए हैं. इसी तरह 40 टी20 इंटरनेशनल मैचों में उनके नाम 310 रन और 38 विकेट दर्ज हैं.

यह भी पढ़ें: Athletics: मां बनने के 10 महीने बाद इस महिला एथलीट ने तोड़ा उसैन बोल्ट का रिकॉर्ड

25 साल के हार्दिक पांड्या पिछले साल से ही पीठ दर्द से परेशान चल रहे हैं. उन्हें पिछले साल सितंबर में एशिया कप के दौरान एक मैच बीच में ही छोड़ना पड़ा था. बीसीसीआई (BCCI) के एक अधिकारी ने बताया कि पांड्या बुधवार को इंग्लैंड जा रहे हैं. वे डॉक्टर से बात करेंगे कि क्या उन्हें सर्जरी की जरूरत है या फिर वे दवाइयों और एक्सरसाइज की मदद से ठीक हो सकते हैं. 

बोर्ड के इस अधिकारी ने कहा, ‘हार्दिक पांड्या ने वर्ल्ड कप (ICC World Cup) के बाद फिट रहने के लिए तमाम कोशिशें कीं. वे वेस्टइंडीज दौरे पर भी नहीं गए. इसके बावजूद जब वे दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए मैच में उतरे तो पीठ दर्द ने उन्हें परेशान किया. इसीलिए उन्होंने इसका इलाज कराने का निर्णय लिया. अब वे इंग्लैंड जा रहे हैं.