धोनी की राह पर चलीं हरमनप्रीत कौर, टीम इंडिया के इस रिकॉर्ड की कर सकती हैं बराबरी

हरमनप्रीत कौर के नेतृत्व में टीम इंडिया ने ग्रुप चरण में यह चौथी जीत हासिल की है. ग्रुप बी में भारत ने न्यूजीलैंड, आयरलैंड, पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया को हराया.

धोनी की राह पर चलीं हरमनप्रीत कौर, टीम इंडिया के इस रिकॉर्ड की कर सकती हैं बराबरी
भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 48 रनों से मात दी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: आईसीसी महिला टी-20 वर्ल्ड कप में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 48 रनों से मात देकर शानदार जीत दर्ज की. इस जीत में स्मृति मंधाना ने अपने करियर की बेस्ट पारी खेलते हुए 83 रन बनाए. प्रोविडेंस स्टेडियम, गुआना में ग्रुप बी के मैच में भारत ने मजबूत समझी जा रही ऑस्ट्रेलियाई टीम को हराकर लगातार चौथी जीत दर्ज की. हालांकि, दोनों टीमें पहले से ही सेमीफाइनल में पहुंच गई थीं. हार-जीत का दोनों ही टीमों पर कोई खास फर्क नहीं पड़ना था, लेकिन भारत की इस जीत ने टीम का हौंसला जरूर बुलंद किया.

हरमनप्रीत कौर के नेतृत्व में टीम इंडिया ने ग्रुप चरण में यह चौथी जीत हासिल की है. ग्रुप बी में भारत ने न्यूजीलैंड, आयरलैंड, पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया को हराया. वह ग्रुप में शीर्ष पर है. हरमनप्रीत की टीम वर्ल्ड कप टी-20 में टॉप पर है. इससे पहले टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की टीम ने 2014 वर्ल्ड कप टी-20 में 4 और 2015 में सभी छह मैच जीते थे. दोनों ही बार महेंद्र सिंह धोनी टीम के कप्तान थे. 

ऑस्ट्रेलिया को हराने के बाद कप्तान हरमनप्रीत कौर ने कहा, 'इस जीत का श्रेय सभी लड़कियों को जाता है. हम सबने कड़ी मेहनत की. फील्डिंग कोच बहुत खुश होगी यह देखकर कि हमने अच्छी फील्डिंग की. मुझे अपने लड़कियों पर गर्व है. मंधाना वाकई शनदार खेली. हम उससे ऐसा ही खेला की उम्मीद कर रहे थे.' बता दें कि गुरुवार को भारत ने आयरलैंड को 52रन से हराकर 2010 के बाद पहली बार सेमीफाइनल में जगह बनाई थी.

बता दें कि पाकिस्तान के खिलाफ खराब फील्डिंग के बाद ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारतीय महिला टीम की फील्डिंग शानदार रही. भारतीय कप्तान हरमनप्रीत कौर ने कहा कि उनकी टीम को स्तरीय खिलाड़ियों की मौजूदगी के कारण अच्छा प्रदर्शन करना ही होगा. उन्होंने साथ ही कहा कि आईसीसी विश्व महिला टी-20 के ग्रुप चरण के अंतिम मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 48 रन की जीत से टीम के स्तर का पता चलता है. पहले तीन मैच जीतकर पहले ही सेमीफाइनल में जगह बना चुके भारत ने ऑस्ट्रेलिया की मजबूत टीम के खिलाफ महज औपचारिकता के मैच में कोई कोताही नहीं बरती. 


तस्वीर : स्मृति मंधाना के इंस्टाग्राम से साभार

अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलने वाली स्मृति मंधाना ने 55 गेंद में 83 रन बनाए. मंधाना ने वेदा कृष्णमूर्ति का भी आभार जताया, जिन्होंने उन्हें डीआरएस (DRS) लेने के लिए कहा जबकि उन्हें लग रहा था कि वह आउट हैं.

स्मृति मंधाना ने कहा, ''पहले तीन मैचों में मैंने शुरुआत की लेकिन इसे बड़ी पारी में नहीं बदल पाई. इसलिए मैं आज बड़ी पारी खेलना चाहती थी. वेदा ने रिव्यू लेने पर जोर दिया और उन्हें धन्यवाद देती हूं कि हम 20 से 30 अतिरिक्त रन बना पाए.'' टीम की उप कप्तान स्मृति ने कप्तान की बात को दोहराया कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम की गेंदबाजी और फील्डिंग शानदार थी.


तस्वीर : स्मृति मंधाना के इंस्टाग्राम से साभार

टीम की सबसे युवा सदस्य जेमिमाह रोड्रिगेज ने कहा कि टीम का लक्ष्य 23 नवंबर को सेमीफाइनल में इस लय को बरकरार रखना है. आईसीसी की वेबसाइट ने जेमिमाह के हवाले से कहा, ‘‘मुझे लगता है कि यह महत्वूर्ण है, हमारे लिए और हमारी टीम के लिए क्योंकि हम लय में हैं.’’ 


तस्वीर :  जेमिमहा रोड्रिगेज के इंस्टाग्राम से साभार

उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए हमें यह लय बरकार रखनी होगी, जो कर रहे हैं उसे जारी रखना होगा, सिर्फ नतीजों पर ध्यान नहीं देना होगा. मुझे लगता है कि इसका हमारी टीम पर बड़ा असर पड़ेगा. हमें आत्ममुग्धता से बचाना होगा और सेमीफाइनल में और बेहतर करने का प्रयास करना होगा.’’ जेमिमाह ने खुलासा किया कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच से पूर्व पिछले साल वनडे वर्ल्ड कप के दौरान इस टीम के खिलाफ हरमनप्रीत कौर की 171 रन की ऐतिहासिक पारी पर भी चर्चा हुई.

(भाषा इनपुट के साथ)