close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

INDvsENG: कितने तैयार हैं केएल राहुल, द्रविड़ के ‘वारिस’ बनने को

इंग्लैंड के खिलाफ टी20 में शतक और उसके बाद एसेक्स के खिलाफ अभ्यास मैच में 58 रन, केएल राहुल की दोनों पारियां देख कर लोग मानने लगे हैं कि वे टीम इंडिया में राहुल द्रविड़ के ‘वारिस’ बनने की राह पर हैं.

INDvsENG: कितने तैयार हैं केएल राहुल, द्रविड़ के ‘वारिस’ बनने को
इस समय केएल राहुल को राहुल द्रविड़ के वारिस होने का प्रबल दावेदार माना जा रहा है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: टीम इंडिया में इन दिनों इंग्लैंड के कठिन दौरे पर है जहां उसका एक अगस्त से टेस्ट सीरीज का इम्तिहान है. पिछले कुछ समय में टीम में कई खिलाड़ियों की निरंतररता की कमी टीम के स्थायित्व को चुनौती दे रही है. टीम में पुराने दिग्गजों की जगह लेने वाले खिलाड़ियों की तलाश अक्सर रहती है. हमेशा इसलिए नहीं कि कुछ दिग्गज ऐसे भी होते हैं जिनकी भरपाई नामुमकिन होती है. लेकिन राहुल द्रविड़ ऐसे दिग्गज हैं जिनकी भरपाई भले ही असंभव लगे, लेकिन फिर उनके ‘‘वारिस’’ की तलाश टीम इंडिया में आज भी जारी है. कई भारतीय बल्लेबाज उनके ‘वारिस’ की दावेदारी में शामिल हैं. इनमें आजकल एक नाम चर्चा में है वो है केएल राहुल. उनसे पहले चेतेश्वर पुजारा और आजिक्य रहाणे इस दौड़ में आगे थे, लेकिन जहां पुजारा विदेशी पिचों पर नाकाम रहे हैं तो वहीं पिछले कई समय से रहाणे आउट ऑफ फॉर्म में चल रहे हैं. इसी दौरान केएल राहुल ने जिस तरह से अपना प्रदर्शन किया है, वे राहुल के उत्तारिधाकारी बनने के प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं. 

राहुल इस बार अपने पहले इंग्लैंड दौरे पर हैं और इंग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज के पहले ही मैच में उन्होंने शानदार शतक लगा कर अपने इरादे भी जाहिर था. इसके अलावा राहुल ने भी अभ्यास मैच के मौके को भुनाया और 92 गेंदों पर 11 चौकों के साथ 58 रन बनाए. राहुल की तकनीक की दिग्गज भी काफी तारीफ करते हैं. हाल ही में आईपीएल में उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया था. 

केएल राहुल का प्रदर्शन ही राहुल द्रविड़ का ‘वारिस’ होने के लिए काफी नहीं है. राहुल के बारे में जो सबसे ज्यादा बातें हो रही हैं वह है उनकी बल्लेबाजी की तकनीक टी20 सीरीज से शुरुआत जब की तो पहली बार इंग्लैंड दौरे पर आए केएल ने दूसरी गेंद पर ही शानदार चौका लगा कर जता दिया कि विरोधी टीम के लिए वे आसान शिकार नहीं होंगे. टी20 फॉरमेंट में राहुल के शॉट्स की सफाई में क्रिकेट पंडितों को वही इरादा नजर आया जो कभी राहुल द्रविड़ की ओर से हर गेंद को खेलते वक्त दिखाई देता था. 

इसके अलावा चेम्सफोर्ड में  एसेक्स के खिलाफ अभ्यास मैच में लोग केएल की तकनीक की ही तारीफ कर रहे हैं. इस पारी के बारे में लोगों का कहना है कि यह केवल मिडिल ऑर्डर की पारी का एक विस्तार ही नहीं था कि उन्होंने 90 गेदों पर 58 रनों की पारी खेली, बल्कि जब मुरली विजय और विराट कोहली जल्दी जल्दी आउट हुए और टीम इंडिया का स्कोर 147 रनों पर पांच विकेट हो गया था, तब पारी को संभालने का काम जिस तरह से केएल ने किया उसने कई लोगों को राहुल द्रविड़ की याद दिला दी. राहुल द्रविड़ के बारे में एक सबसे खास बात यह थी कि वे मि. रिलायबल यानि मि. भरोसेमंद खिलाड़ी माना जाता था. उम्मीद की जाती थी कि भले ही टीम के बाकी बल्लेबाज असफल हो जाएं, द्रविड़ जरूर टिकेंगे. 

केएल का छोटा करियर रिकॉर्ड भी प्रभावित करता है
अब तक केवल 24 टेस्ट खेल सके 26 साल के केएल राहुल ने 38 पारियों में 40.86 के औसत से 4 शतक और 11 अर्धशतकों के साथ 1512 रन ही बनाए हैं. विदेशों में 12 मैच खेलते हुए केएल ने 34.94 के औसत के साथ 664 रन बनाते हुए  तीन शतक और तीन अर्धशतक बनाए हैं. इन शतकों में से एक ऑस्ट्रेलिया, एक श्रीलंका और एक वेस्टइंडीज में लगाया है. यह रिकॉर्ड द्रविड़ के रिकॉर्ड के आगे कुछ भी नहीं है, लेकिन 26 साल के राहुल को अभी काफी क्रिकेट खेलना है और उनको मौके भी काफी मिलने की उम्मीद जताई जा रही है.

जिस तरह से केएल प्रदर्शन कर रहे हैं, वे अभी भले ही राहुल द्रविड़ की जगह लेने की स्थिति में न हों लेकिन उसके दावेदारों में इस समय सबसे आगे चल रहे हैं. कभी द्रविड़ के ही शागिर्द रहे केएल राहुल की तरह विकेट कीपिंग भी कर सकते हैं. वे आईपीएल में भी विकेटकीपर के तौर पर खेलते आ रहे हैं.