एनकाउंटर पर बोले गंभीर- ज्यूडिशियल सिस्टम बदलो, रेप केस में दया याचिका भी बंद हो

गौतम गंभीर ने कहा, ‘ऐसे मामलों की सुनवाई एक महीने के भीतर पूरी होनी चाहिए. मौत की सजा पर अमल भी एक महीने में हो जाना चाहिए.’

एनकाउंटर पर बोले गंभीर- ज्यूडिशियल सिस्टम बदलो, रेप केस में दया याचिका भी बंद हो
पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर बीजेपी के सांसद भी हैं. (फोटो: PTI)

नई दिल्ली: हैदराबाद में गैंगरेप और हत्‍या (Hyderabad Gangrape-Murder Case) के चार आरोपियों के एनकाउंटर के बाद देश के कई हिस्सों में मिठाई बांटी गई. ज्यादातर लोग इन आरोपियों के मारे जाने से खुश हैं. कुछ ऐसे भी लोग हैं, जो एनकाउंटर पर सवाल उठा रहे हैं. इस बीच पूर्व क्रिकेटर और सांसद गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने अदालती सिस्टम में बदलाव की मांग की है. उन्होंने कहा कि रेप के केस को अन्य मामलों से इतर लिए जाने की जरूरत है. 

हैदराबाद में महिला डॉक्टर से गैंगरेप और उसकी हत्या करने वाले चारों आरोपियों को पुलिस ने शुक्रवार तड़के एनकाउंटर में मार गिराया. पुलिस के मुताबिक इन आरोपियों को जांच के सिलसिले में क्राइम सीन रिक्रिएट करने के लिए उसी जगह ले जाया गया था, जहां उन्होंने घटना को अंजाम दिया था. आरोपियों ने वहां से भागने की कोशिश की और पुलिस पर पथराव भी किया. इस कारण पुलिस को गोलियां चलानी पड़ी, जिसमें सभी आरोपी मारे गए. 

यह भी पढ़ें: ज्वाला गुट्टा ने ‘हैदराबाद एनकाउंटर’ पर उठाए सवाल, कहा- क्या इससे रेप रुक जाएंगे?

गौतम गंभीर ने इस बारे में कहा, ‘अब वक्त आ गया है कि ज्यूडिशियल सिस्टम में बदलाव किया जाए. बलात्कार के मामलों में फास्ट ट्रैक कोर्ट के फैसले को अंतिम माना जाना चाहिए. मौत की सजा पर दया याचिका दाखिल करने का अधिकार भी नहीं होना चाहिए. ऐसे मामलों की सुनवाई हर हाल में एक महीने के भीतर पूरी होनी चाहिए. मौत की सजा पर अमल भी एक महीने के भीतर हो जाना चाहिए.’

यह भी पढ़ें: एक सीरीज में 2 डे-नाइट टेस्ट खेलेगा भारत! क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया बना रहा प्लान 

क्या आरोपियों का एनकाउंटर उचित है? गौतम गंभीर ने इस सवाल पर कहा कि अगर आरोपी भाग रहे थे, तब वे पुलिस की कार्रवाई का समर्थन करेंगे. सिर्फ गौतम गंभीर ही नहीं, ज्यादातर खिलाड़ियों ने एनकाउंटर को सही बताया. साइना नेहवाल, सुशील कुमार और बबीता फोगाट (Babita Phogat) ने पुलिस को बधाई भी दी. बबीता फोगाट ने ट्वीट किया, ‘ठोक दिया, सही किया.’ 

यह भी पढ़ें: INDvsWI: जो धोनी ने हासिल किया है, उसे पाने में पंत को 15 साल लगेंगे: गांगुली 

हालांकि, कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं, जिन्होंने इस मामले पर पुलिस से सवाल भी पूछे. बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा (Jwala Gutta) ने ट्वीट किया, ‘क्या यह भविष्य के बलात्कारियों को रोक सकेगा?? और एक महत्वपूर्ण सवाल, क्या अब हर रेपिस्ट से ऐसा ही बर्ताव किया जाएगा... उनकी सामाजिक प्रतिष्ठा के बावजूद.’  

इससे पहले बैडमिंटन की स्टार खिलाड़ी साइना नेहवाल (Saina Nehwal) और ओलंपिक में दो मेडल जीत चुके सुशील कुमार ने इस एनकाउंटर के लिए पुलिस को शाबाशी दी. साइना नेहवाल ने ट्वीट कर पुलिस के इस काम की तारीफ की. उन्होंने लिखा, ‘बहुत अच्छा काम. हैदराबाद पुलिस... हम आपको सलाम करते हैं.’