close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ICC ने हटाया विवादित बाउंड्री काउंट नियम, अब ऐसे होगा टाई मैचों का फैसला

ICC: क्रिकेट विश्व कप 2019 के फाइनल विवाद के बाद आईसीसी ने बाउंड्री काउंट नियम हटा दिया है. 

ICC ने हटाया विवादित बाउंड्री काउंट नियम, अब ऐसे होगा टाई मैचों का फैसला
आईसीसी पर बाउंड्री काउंट नियम हटाने का दबाव था. (फोटो: IANS)

 दुबई: क्रिकेट विश्व कप 2019 के फाइनल में सुपर ओवर टाई होने के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिेकेट परिषद (ICC) के उस नियम की बहुत आलोचना हुई थी जिसके तहत इंग्लैड को विजेता घोषित कर दिया गया था. उस मैच में फैसला बाउंड्री काउंट नियम ( Boundary Count Rule) के आधार पर किया गया था. सोमवार को आईसीसी ने इस विवादित बाउंड्री काउंट नियम को हटा दिया है. अब मैच में सुपर ओवर टाई होने पर तब तक सुपर ओवर बार बार होते रहेंगे जबतक किसी एक टीम के पक्ष में फैसाला नहीं आता.

सुपर ओवर नहीं होना चाहिए खत्म
आईसीसी की क्रिकेट समिति और मुख्य कार्यकारी समिति (CEC) ने इस बात पर सहमति जताई है कि आईसीसी प्रतियोगिताओं में गहुए टाई मैचों का फैसला सुपर ओवर से होना चाहिए. आईसीसी ने इस सिफारिश को मान लिया है. सीईसी और क्रिकेट समिति दोनों ने माना कि आईसीसी विश्व कप का फाइनल मैच बहुत ही रोमांचक था और सुपर ओवर का प्रावधान वनडे और टी20 दोनों विश्व कप में ही होना चाहिए. 

यह भी पढ़ें: B'day Special: खिलाड़ी जिसने भारत और पाकिस्तान दोनों के लिए खेले टेस्ट मैच

इसी साल जुलाई में हुए इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच आईसीसी वनडे विश्व फाइनल में इंग्लैंड के पक्ष में मैच का नतीजा ज्यादा बाउंड्री काउंट के आधार पर गया था. यह फाइनल भविष्य में हमेशा ही अपने रोमांचक अंत के लिए जाना जाएगा. इससे पहले इंटरनेशनल वनडे मैचों में कभी बाउंड्री काउंट से फैसला नहीं हुआ था. न ही कोई मैच टाई होने के बाद उसका सुपर ओवर टाई हुआ था. 

तो क्या है नया नियम
अब नए नियम के मुताबिक आईसीसी की किसी भी प्रतियोगिता में वनडे और टी20 मैचों में अगर कोई लीग मैच टाई होता है तो अंक दोनों टीमों में बराबर बांटे जाएंगे, लेकिन सेमीफाइनल और फाइनल मुकाबलों में यह स्थिति आने पर सुपर ओवर से विजेता का फैसला होगा. अगर सुपर ओवर भी टाई होता है तो उसके बाद सुपर ओवर तब तक होते रहेंगे जबकि कोई एक टीम दूसरी टीम से ज्यादा रन नहीं बना लेती. उल्लेखनीय है कि इससे पहले विश्व कप के बाद बिग बैश लीग ने भी इस तरह के बदलाव अपने नए सीजन के लिए किए हैं. 

 विश्व कप के बाद दुनिया भर में बाउंड्री काउंट नियम की जम कर आलोचना हो रही थी और यहां तक की इंग्लैंड में भी कई लोगों ने माना की इसके कारण इंग्लैंड की जीत कुछ फीकी पड़ गई थी. इस मैच में पहले न्य़जीलैंड ने इंग्लैड के लिए 242 रन का लक्ष्य रखा था जिसके बाद इंग्लैंड टीम भी 50 ओवर में 242 रन ही बना सकी थी. सुपर ओवर में भी दोनों टीमें 15-15 रन ही बना सकीं. इसके बाद बाउंड्री काउंट 26-17 से इंग्लैंड के पक्ष में गया और उसे विजेता घोषित कर दिया गया.