close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

केन विलियमसन ने आईसीसी के टेस्ट लीग शुरू करने को बताया 'पॉजीटिव स्टेप'

आईसीसी के फैसले के बारे में पूछने पर विलियमसन ने कहा, ‘‘यह सचमुच ऐसी चैम्पियनशिप की ओर सकारात्मक कदम है जिससे टेस्ट क्रिकेट को और अधिक महत्व मिलेगा तथा यह दर्शकों के लिये भी अच्छा है।’’

केन विलियमसन ने आईसीसी के टेस्ट लीग शुरू करने को बताया 'पॉजीटिव स्टेप'
मुंबई में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान न्यूजीलैंड के कोच माइक हेसन (बाएं) और कप्तान केन विलियमसन. (PTI/15 Oct, 2017)

मुंबई: न्यूजीलैंड टीम के कप्तान केन विलियमसन ने रविवार (15 अक्टूबर) को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के टेस्ट लीग शुरू करने के फैसले की प्रशंसा करते हुए इसे ‘सकारात्मक कदम’ करार दिया। आईसीसी नौ टीमों की एक टेस्ट लीग और 13 टीमों की वनडे लीग क्रमश: 2019 और 2020 में शुरू करने की तैयारी में है, जिसका उद्देश्य द्विपक्षीय क्रिकेट को अधिक रोमांचक बनाना है। लीग के पहले चरण में प्रत्येक टीम चार घरेलू मैदान पर और चार विपक्षी टीम के मैदान पर सीरीज खेलेगी जिसमें प्रत्येक में तीन-तीन वनडे होंगे।

आईसीसी के फैसले के बारे में यहां प्रेस कांफ्रेंस में पूछने पर विलियमसन ने कहा, ‘‘यह सचमुच ऐसी चैम्पियनशिप की ओर सकारात्मक कदम है जिससे टेस्ट क्रिकेट को और अधिक महत्व मिलेगा तथा यह दर्शकों के लिये भी अच्छा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जब हम इसे शुरू करेंगे, तो रैंकिंग में और अधिक स्पष्टता होगी। दर्शक देख सकते हैं कि टीमें कैसे प्रगति कर रही हैं और हर मैच में क्या हुआ। टेस्ट हालांकि क्रिकेट में सबसे अहम है लेकिन लोगों को पता नहीं चलता था इसकी क्या अहमियत है और टीमें जीतने या हारने के बाद कहां चली गयीं। अब इस संदर्भ में और अधिक स्पष्टता होगी।’’ 

IND vs NZ: न्यूजीलैंड के लिए मुश्किल होगा कुलदीप, चहल का सामना करना

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने रविवार (15 अक्टूबर) को कहा कि सीमित ओवरों की आगामी श्रृंखला में भारत के युवा कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की स्पिन जोड़ी का सामना करना उनकी टीम के लिये मुश्किल काम होगा. विलियमसन ने यहां पत्रकारों से कहा, ‘दोनों (कुलदीप और चहल) काफी प्रतिभाशाली गेंदबाज हैं. आईपीएल में उनका अनुभव उनके लिये काफी अहम रहा जिससे उन्होंने भारत के लिये खेलने की अपनी दावेदारी पेश की. ये दोनों काफी सफल भी रहे हैं. हम जानते हैं कि यह कड़ी चुनौती होगी, लेकिन हमारे खिलाड़ी इस चुनौती का सामना करने के लिये तैयार हैं.’

उन्होंने कुलदीप का जिक्र करते हुए कहा, ‘अभी बहुत अधिक चाइनामैन गेंदबाज नहीं हैं और जो हैं वे काफी सफल हो रहे हैं. उनका सामना करना चुनौती है.’ विलियमसन ने कहा, ‘‘निश्चित रूप से उनके (कुलदीप और चहल) गेंदबाज काफी अच्छे हैं, लेकिन यह महत्वपूर्ण है कि हम यहां की पिचों पर किस तरह से अनुकूलित होते हैं.’’ भारत ने दो अक्तूबर से यहां हो रही तीन मैचों की वनडे सीरीज के लिये सीनियर स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा को टीम में शामिल नहीं किया, जबकि उसने कुलदीप, चहल और बायें हाथ के आर्थोडोक्स स्पिनर अक्षर पटेल को टीम में रखा है.