सचिन तेंदुलकर ने गेंदबाजी में भी दिखाए हैं कमाल, जानिए वनडे में उनका ये रिकॉर्ड

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने भले ही बल्लेबाजी के कई रिकॉर्ड्स अपने नाम किए हैं, लेकिन गेंदबाजी में भी उनका जलवा रहा है.

सचिन तेंदुलकर ने गेंदबाजी में भी दिखाए हैं कमाल, जानिए वनडे में उनका ये रिकॉर्ड
सचिन तेंदुलकर (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने न जाने कितनी बार अपनी टीम और देश का नाम रोशन किया. उनकी उपलब्धियों ने ये साबित कर दिया है कि आखिर क्यों उन्हें महान बल्लेबाज कहा जाता है. उनकी मेहनत और क्रिकेट के प्रति समर्पण ने ही उन्हें दुनिया का बेस्ट क्रिकेटर बनाया. उन्होंने अपनी शानदार बल्लेबाजी से वनडे और टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी की लिस्ट में नंबर एक का दर्जा पाया है. मास्टर ब्लास्टर क्रिकेट के इन दोनों प्रारूपों को मिलाकर इंटरनेशनल क्रिकेट में 100 शतक लगाने वाले एकमात्र बल्लेबाज हैं. 

वहीं अक्सर हम सचिन तेंदुलकर के बल्लेबाजी में बनाए रिकार्ड्स के बारे में पढ़ते हैं लेकिन उनकी बल्लेबाजी के साथ-साथ सचिन की गेंदबाजी भी काफी शानदार थी. उन्होंने कई बार सामने वाली टीम के बल्लेबाजों के विकेट झटके थे और अपनी टीम को जीत के दरवाजे तक पहुंचाया था. सचिन तेंदुलकर ने वनडे, टेस्ट और टी20 क्रिकेट में 201 विकेट अपने नाम किए हैं. इसी कारण आज हम आपको इस स्टोरी में तेंदुलकर के वनडे क्रिकेट में गेंदबाजी के उन रिकार्ड्स के बारे में बतायेंगे जिनसे ज्यादातर लोग अंजान हैं.
 
वनडे क्रिकेट में विकेट लेने वाले सबसे युवा भारतीय
सचिन ने सिर्फ 17 साल की उम्र में वनडे क्रिकेट में अपना पहला विकेट झटका था. सचिन ऐसा करने वाले सबसे कम उम्र के भारतीय खिलाड़ी हैं. दरअसल, साल 1990 में सचिन ने श्रीलंका (Sri Lanka) के रोशन महानामा (Roshan Mahanama) को आउट कर अपना पहला वनडे विकेट हासिल किया था. इस मैच में सचिन तेंदुलकर ने 41 गेंदों पर 53 रन भी बनाए थे.

आखिरी ओवर में दो बार बचाए 6 रन
वनडे मैच के लास्ट ओवर में 6 या उससे कम रन बचाने के मामले में सचिन तेंदुलकर इकलौते गेंदबाज हैं. उन्होंने दो बार 6 या उससे कम रन देकर विपक्षी टीम के हाथों में आई जीत छीन ली. साल 1993 में हीरो कप सेमीफाइनल में तेंदुलकर ने साउथ अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ 6 रन बचाए थे और भारतीय टीम को रोमांचक जीत दिलाई थी. इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया (Australia) के खिलाफ भी सचिन ने लास्ट ओवर की पहली गेंद पर विकेट लेकर ये कमाल एक बार फिर कर दिखाया था.

एशिया कप के एक एडिशन में सबसे ज्यादा विकेट वाले इंडियन स्पिनर
महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर ने साल 2004 के एशिया कप (Asia Cup) में 12 विकेट अपने नाम किए थे और ऐसा करने वाले पहले इंडियन स्पिनर और दूसरे गेंदबाज हैं, क्योंकि इस मामले में पहले नंबर पर इरफान पठान (Irfan Pathan) ने अपना नाम लिखवा रखा है. आपको बता दें कि सचिन ने उस एशिया कप में 6 मैचों में 12 विकेट लिए थे. इसके अलावा 5 मैचों में उन्होंने हर बार कम से कम एक विकेट जरुर लिया था. 12 विकेट लेने के अलावा तेंदुलकर ने 281 रन भी बनाए थे.