IND vs AUS: ऑस्ट्रेलिया को महंगा पड़ सकता है भारत से 2 डे-नाइट टेस्ट खेलना: चैपल

IND vs AUS: इयान चैपल ने कहा कि भारत का गेंदबाजी आक्रमण मजबूत है, ऐसे में ऑस्ट्रेलिया को सतर्क रहना होगा. 

IND vs AUS: ऑस्ट्रेलिया को महंगा पड़ सकता है भारत से 2 डे-नाइट टेस्ट खेलना: चैपल

मेलबर्न: क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) का 2020-21 में भारत के खिलाफ दो डे-नाइट टेस्ट (Day-Night Test) मैच खेलने का विचार उसके लिए मंहगा साबित हो सकता है. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल (Ian Chappell) ने कहा है कि अपने देश के बोर्ड को इस बात के लिए चेताया है. चैपल को लगता है कि भारत का गेंदबाजी आक्रमण बेहतर है, जो ऑस्ट्रेलिया (Australia) के लिए दुखदायी हो सकता है. 

इयान चैपल ने वेबसाइट क्रिकइंफो में अपने कॉलम में लिखा है, ‘क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (Cricket Australia) 2020-21 में भारतीय टीम के दौरे पर दो दिन-रात प्रारूप के टेस्ट मैच खेलने पर विचार कर रही है.’ भारतीय टीम (Team India) को 2021 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाना है. 

यह भी पढ़ें: INDvsWI: विलियम्स ने 2 दिन के भीतर लिया कोहली से बदला, एक इशारे से स्टेडियम खामोश...

इयान चैपल ने कहा, ‘इस कदम का मकसद ऑस्ट्रेलिया को फायदा पहुंचाना है. लेकिन यह कदम उलटा साबित हो सकता है क्योंकि भारत के पास मजबूत आक्रमण है. साथ ही विराट कोहली ने पहले ही बता दिया है कि वह विश्व के इस हिस्से में कप्तानी में उस्ताद हैं.’

वेबसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक, जब अगले साल जनवरी में ऑस्ट्रेलिया भारत का दौरा करेगी तब सीए (CA) का प्रतिनिधिमंडल बीसीसीआई के नए अधिकारियों से मिलेगा. ऑस्ट्रेलिया के इस मंडल का नेतृत्व उसके चेयरमैन अर्ल एडिंग्स करेंगे.

प्रतिनिधिमंडल के अध्यक्ष अर्ल एडिंग्स ने कहा, ‘उन्होंने अपना पहला डे-नाइट टेस्ट मैच खेला और आसानी से जीत गए. यह अच्छी बात है. अब चूंकि वे इसमें आ गए हैं तो हो सकता है कि यहां से वो आगे बढ़ना शुरू करें. मुझे इस बात में कोई शक नहीं है कि वे एक या उससे ज्यादा डे-नाइट टेस्ट मैच खेलने के बारे में विचार करेंगे.’

यह भी पढ़ें: ‘16 साल के नसीम’ पर बोले पूर्व कप्तान- खुदा के लिए खिलाड़ियों की सही उम्र बताए पाकिस्तान 

बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली भी इसके पक्ष में नहीं हैं. सौरव गांगुली ने कहा, ‘मैंने सीए से अभी तक कुछ भी आधिकारिक तौर पर नहीं सुना है. चार में से दो ज्यादा होंगे. डे-नाइट मैच पारंपरिक टेस्ट मैच का स्थान नहीं ले सकता. लेकिन हम हर सीरीज में एक मैच गुलाबी गेंद से खेल सकते हैं.