गांगुली ने किया भारत में डे-नाइट टेस्ट मुमकिन, इस पूर्व कप्तान से मिली तारीफ

Day-Night test: कोलकाता में होने वाले डे-नाइट टेस्ट का आयोजन बीसीसीआई के नए अध्यक्ष सौरव गांगुली की कोशिशों का नतीजा है. 

गांगुली ने किया भारत में डे-नाइट टेस्ट मुमकिन, इस पूर्व कप्तान से मिली तारीफ
सौरव के अध्यक्ष बनने के बाद ही डे-नाइट टेस्ट का आयोजन संभव हो सका. (फाइल फोटो)

कोलकाता: डन गार्डन्स मैदान पर भारत और बांग्लादेश (India vs Bangladesh) के बीच होने जा रहे पहले डे-नाइट टेस्ट के लिए उत्साह चरम पर है. स्टेडियम शुक्रवार को होेन वाले मैच के लिए पूरी तरह से तैयार है. इस मैच के आयोचन के लिए पूर्व कप्तान दिलीप वेंगसरकर (Dilip Vengsarkar) ने गुरुवार को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI)) के अध्यक्ष सौरभ गांगुली (Sourav Gaguly) की तारीफ की है. 

गांगुली ने ही इसे मुमकिन बनाया
वेंगसरकर ने कहा है कि भारत में पहला दिन-रात टेस्ट मैच आयोजित करने का श्रेय गांगुली को जाता है और यह उनकी एक और उपलब्धि है. गांगुली के बीसीसीआई अध्यक्ष बनने के बाद भारत के गुलाबी गेंद से खेलने का रास्ता साफ हुआ है गांगुली ने पहले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को इसके लिए तैयार किया और उसके बाद उन्होंने बांग्लादेश की पीएम को भी इसमें शामिल होने के लिए राजी किया था. 

यह भी पढ़ें: IND vs BAN: आज से शुरू हो रहा है डे-नाइट टेस्ट, कार्यक्रम में नजर आएंगी ये हस्तियां

क्या कहा वेंगसरकर ने
वेंगसरकर ने यहां एक कार्यक्रम में कहा, "किसी भी प्रशासक का अगर बैकग्राउंड क्रिकेट का है तो यह उसे सही फैसले लेने में मदद करेगा. वे शानदार क्रिकेटर रहे हैं, इसलिए एक प्रशासक के तौर पर सही फैसले ले रहे हैं. भारत में पहला दिन-रात टेस्ट मैच उनके नेतृत्व में हो रहा तो यह उनकी उपलब्धियों में नया इजाफा है."

Dilip vengsarkar
दिलीप वेंगसरकर कप्तान रहते हुए टीम इंडिया केलिए ईडन गार्डन में शतक लगा चुके हैं. (फोटो: IANS)

पहला इनकार करता रहा था भारत डे-नाइट टेस्ट खेलने से
भारत ने पहले दिन-रात टेस्ट मैच खेलने के लिए मना कर दिया था. पिछले साल आस्ट्रेलियाई दौरे पर भी भारत के सामने दिन-रात टेस्ट मैच खेलने का प्रस्ताव था लेकिन विराट कोहली की कप्तानी वाली भारतीय टीम ने इसके लिए हामी नहीं भरी थी.

पहली बार खेल रहे हैं दोनों देश यह टेस्ट
गांगुली के बोर्ड का अध्यक्ष बनने के बाद से भारत ने इस ओर कदम बढ़ाए और अब भारत शुक्रवार से कोलकाता के ईडन गार्डन्स स्टेडियम में अपना पहला दिन-रात का टेस्ट मैच खेलने जा रहा है जो बांग्लादेश के खिलाफ होगा. यह बांग्लादेश का भी पहला दिन-रात का टेस्ट मैच है. अब तक टेस्ट इतिहास में केवल 11 टेस्ट मैच हुए हैं. केवल यही दोनों टीमें अब तक डे-नाइट टेस्ट नहीं खेली थीं. 

क्या रहा है वेंगी का ईडन का खास अनुभव
इस मैच के सफल होने के बारे में वेंगसरकर ने कहा, "हमें इंतजार करना होगा और देखना होगा. यह भारत के सबसे अच्छे मैदानों में से एक पर होगा. मैंने वहां अपना पहला शतक बनाया था. एक कप्तान के तौर पर भी मैंने वहां वेस्टइंडीज के खिलाफ शतक बनाया था. वह मेरे पसंदीदा स्टेडियमों में से एक है. मुझे पूरी उम्मीद है कि यह सफल रहेगा. मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि यह काफी लोगों को स्टेडियम में लेकर आएगा."
(इनपुट आईएएनएस)