IND vs NZ: वेलिंगटन में टीम इंडिया का 8वां टेस्ट, पटौदी को छोड़ सब फेल; पढ़ें पूरी रिपोर्ट

India vs New Zealand: भारत ने वेलिंगटन में पहला टेस्ट मैच 1968 में खेला था. भारत ने टाइगर पटौदी की कप्तानी में यह मैच जीता था. 

IND vs NZ: वेलिंगटन में टीम इंडिया का 8वां टेस्ट, पटौदी को छोड़ सब फेल; पढ़ें पूरी रिपोर्ट

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम जब शुक्रवार को वेलिंगटन के मैदान पर उतरेगी तो कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) के पास मंसूर अली खान पटौदी के रिकॉर्ड की बराबरी करने का मौका होगा. एक पटौदी ही हैं, जिनकी कप्तानी में भारत ने वेलिंगटन (Wellington Test) में टेस्ट मैच जीता है. बाकी भारतीय कप्तानों को यहां या तो हार नसीब हुई है या ड्रॉ. अब देखना है कि विराट कोहली इस मैच में भारत को जीत दिला पाते हैं या नहीं. कोहली वेलिंगटन के मैदान पर कप्तानी करने वाले सातवें भारतीय होंगे. उनसे पहले यहां मंसूर अली खान पटौदी, बिशन सिंह बेदी, सुनील गावस्कर, मोहम्मद अजहरुद्दीन, सौरव गांगुली और एमएस धोनी कप्तानी कर चुके हैं. 

भारत और न्यूजीलैंड (India vs New Zealand) के बीच शुक्रवार से वेलिंगटन में दो मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट मैच खेला जाएगा. भारत इस मैदान पर आठवीं बार टेस्ट मैच खेलेगा. उसने यहां अब तक सात टेस्ट मैच खेले हैं, जिनमें से एक में उसे जीत मिली है. चार मैचों में भारत को हार का सामना करना पड़ा है. दो मैच ड्रॉ रहे हैं. इन सभी मैचों का लेखा-जोखा कुछ इस तरह है. 

यह भी पढ़ें: IND vs NZ: न्यूजीलैंड से पहला टेस्ट सुबह 4 बजे से, यह हो सकती है भारत की प्लेइंग XI

1968 में जीता पहला टेस्ट
भारतीय टीम ने 1968 में वेलिंगटन में पहला टेस्ट खेला और इसे जीता भी. भारतीय गेंदबाजों ने इस मैच में न्यूजीलैंड को 186 और 199 रन पर समेट दिया था. भारतीय जीत के हीरो ऑफ स्पिनर इरापल्ली प्रसन्ना और अजित वाडेकर रहे थे. प्रसन्ना ने इस मैच में पहली पारी में पांच और दूसरी पारी में तीन विकेट झटके थे. भारतीय टीम ने मैच में पहली पारी में 327 और दूसरी पारी में 59/2 रन बनाकर जीत दर्ज की थी. अजित वाडेकर ने 143 रन की पारी खेली थी. इस मैच में भारतीय टीम के कप्तान नवाब पटौदी थे, जिन्हें टाइगर पटौदी भी कहा जाता था.  

यह भी पढ़ें: Match Fixing में फंसा पाकिस्तान का एक और क्रिकेटर, खेल चुका है 6 वर्ल्ड कप 

बेदी कायम नहीं रख पाए जीत का सिलसिला
न्यूजीलैंड और भारत के बीच वेलिंगटन में दूसरा टेस्ट 1976 में खेला गया. मेजबान टीम ने भारत को यहां पारी व 33 रन से हराया. इस मैच में भारत की कप्तानी बिशन सिंह बेदी के हाथों में थी. भारतीय टीम इस मैच में महज 220 और 81 रन बनाकर आउट हो गई थी. न्यूजीलैंड ने 334 रन बनाए थे. 

यह भी पढ़ें: IND vs NZ: अजिंक्य रहाणे ने बताया- टेस्ट मैच जीतने के लिए बनाने होंगे कितने रन

गावस्कर की टीम को भी मिली हार
न्यूजीलैंड और भारत के बीच वेलिंगटन में तीसरा टेस्ट 1981 में खेला गया. इस मैच में भारत की कप्तानी सुनील गावस्कर कर रहे थे. न्यूजीलैंड ने इस मैच में भारत को यहां 62 रन से हराया. उसने मैच में 375 और 100 का स्कोर खड़ा किया. भारतीय टीम इसके जवाब में 223 और 190 रन ही बना सकी. 

अजहर नहीं रोक सके हार की हैट्रिक
भारतीय टीम ने वेलिंगटन में चौथा टेस्ट 1998 में अजहरुद्दीन की कप्तानी में खेला. कप्तान अजहर ने मैच में 103 रन की पारी खेली. दूसरी पारी में सचिन तेंदुलकर ने 113 रन बनाए. इसके बावजूद भारत को मैच में चार विकेट से हार का सामना करना पड़ा. 

गांगुली की टीम 10 विकेट से हारी 
न्यूजीलैंड और भारत के बीच वेलिंगटन में पांचवां टेस्ट 2002 में खेला गया. इस मैच में भारत की कप्तानी सौरव गांगुली कर रहे थे. न्यूजीलैंड ने इस मैच में भारत को पहली पारी में 161 और दूसरी पारी में 121 रन पर समेट दिया. मेजबान टीम ने यह मैच 10 विकेट से जीता था. 

धोनी की टीम ने 2 मैच ड्रॉ खेले 
महेंद्र सिंह धोनी भारत के एकमात्र कप्तान हैं, जिन्होंने वेलिंगटन में दो टेस्ट मैचों में कप्तानी की है. एक और इत्तफाक है. धोनी की कप्तानी वाले इन दोनों ही मैचों में भारत ना तो जीता और ना ही हारा. साल 2009 और 2014 में खेले गए ये दोनों ही मैच ड्रॉ रहे थे. भारत ने 2009 में टेस्ट सीरीज जीती थी. वह आखिरी मौका था जब भारतीय टीम न्यूजीलैंड में सीरीज जीती थी.