close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IND vs SA, Ranchi Day 1: रोहित-रहाणे की रिकॉर्ड साझेदारी, खराब मौसम ने रोका खेल

India vs South Africa: रांची टेस्ट में तीसरे सत्र में केवल 6 ओवर का खेल हो सका जिसके बाद खराब रोशनी ने खेल रोक दिया, लेकिन रोहित और रहाणे ने एक खास रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया. 

IND vs SA, Ranchi Day 1: रोहित-रहाणे की रिकॉर्ड साझेदारी, खराब मौसम ने रोका खेल
रोहित रहाणे ने साझेदारी का एक नया रिकॉर्ड बनाया. (फोटो: IANS)

रांची: तीसरे टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ (India vs South Africa) पहले दिन का तीसरा सत्र मौसम के नाम रहा. सत्र के छह ओवर ही हुए थे कि अंपयारों को खराब रोशनी की चलते खेल रोकना पड़ा. उससे पहले रोहित शर्मा (Rohit Sharma) और अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने टीम इंडिया के शानदार बल्लेबाजी करते हुए मजबूत साझेदारी की और अपनी टीम को खराब शुरुआत से उबारते हुए वापसी कराई. 

तीसरे सत्र के छह ओवरों में रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे केवल 19 रन जोड़ सके. खेल रोके जाने तक टीम इंडिया का स्कोर तीन विकेट के नुकसान पर 224 रन हो गया था. रोहित शर्मा 117 रन और अजिंक्य रहाणे 83 रन पर खेल रहे थे. दोनों के बीच 185 रन की साझेदारी हो चुकी थी. 

यह भी पढ़े: IND vs SA: रोहित शर्मा ने पूरा किया छक्के से छठा शतक, बनाए एक साथ कई रिकॉर्ड

साझेदारी का नया रिकॉर्ड
इसी सत्र में रोहित और रहाणे ने एक खास रिकॉर्ड अपने नाम किया. दोनों ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चौथे विकेट की सबसे बड़ी पारी का रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया जो हाल ही में बना था.. इससे पहले यह रिकॉर्ड पिछले टेस्ट में ही विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे ने बनाया था जो कि 178 रन का था. उससे पहले राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली ने 1996-97 में जोहानिसबर्ग में 145 रन की साझेदारी की थी. चौथे स्थान पर वीरेंद्र सहवाग और एस बद्रीनाथ के बीच 2009/10 में नागपुर में 136 रन की साझेदारी है. 

रोहित की बेहतरीन पारी
दूसरा सत्र खत्म होने तक रोहित ने 108 रन और अजिंक्य रहाणे ने 74 रन की पारी खेली. रोहित के करियर की यह छठी और इस सीरीज की तीसरी सेंचुरी थी. रोहित ने 149 गेदों में 13 चौकों और चार छक्कों के साथ 108 रन बनाए. वहीं रहाणे की 74 रन की पारी में 10 चौके और एक छक्का आया. दूसरे सत्र में अफ्रीकी गेंदबाज उस तरह से दबाव नहीं बना सके जैसा कि उन्होंने पहले सत्र में जल्दी से तीन विकेट लेकर बनाया था. 

इस मैच को जीत कर टीम इंडिया लगातार दूसरी क्लीन स्वीप अपने नाम करना चाहती है. इससे पहले टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज में तीन टेस्ट मैचों की सीरीज क्लीन स्वीप की थी. इसके अलावा विराट कोहली की निगाहे अपने ही घर में लगातार 12वीं टेस्ट जीत पर भी है.