close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IND vs SA: अपनी पारी पर बोले पुजारा, एक ही फॉर्मेट के बल्लेबाज का ऐसे नहीं होता गुजारा

चेतेश्वर पुजारा का मानना है कि एक ही फॉर्मेट में खेलने से खिलाड़ी को जल्द फॉर्म में लौटना होता है. 

IND vs SA: अपनी पारी पर बोले पुजारा, एक ही फॉर्मेट के बल्लेबाज का ऐसे नहीं होता गुजारा
पुजारा ने पहली पारी में 6 और दूसरी पारी में 81 रन की पारी खेली थी. (फोटो : IANS)

विशाखापट्टनम: भारत और दक्षिण अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच टेस्ट सीरीज के पहले टेस्ट मैच में चौथे दिन के बाद टीम इंडिया (Team India) की जीत की उम्मीदें कायम हैं. टीम इंडिया को जीत के लिए 9 विकेट की जरूरत है और दक्षिण अफ्रीका लक्ष्य से 378 रन दूर है. इस मैच में रोहित शर्मा ने दोनों पारियों में शतक लगाया वहीं मयंक अग्रवाल केवल पहली पारी में ही चले. शनिवार को  मैच के बाद टीम इंडिया के लिए दूसरी पारी में शानदार हाफ सेंचुरी वाली पारी खेलने वाले चेतेश्वर पुजारा ने अपने फॉर्म के बारे बात करते हुए इस पारी की अहमित बताई.

क्यों होती है जल्दी
भारत के नंबर तीन के क्रम के बल्लेबाज पुजारा ने बताया कि कि एक ही प्रारूप में खेलते रहने के चलते उन्हें जल्द से जल्द इस फॉर्म में लौटने की जरूरत होती है. पुजारा ने यहां दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जारी पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन भारत की दूसरी पारी में 148 गेंदों पर 81 रन की पारी खेली. पुजारा ने दिन के खेल समाप्ति के बाद कहा, "एक ही प्रारुप में खेलते रहने से इसका आप पर प्रभाव पड़ता है. लेकिन ये मुझे अपनी फिटनेस और फील्डिंग पर काम करने की इजाजत देता है. जब आप ही एक फॉर्मेट में लगातार खेलते रहते हैं तो फिर इसमें आपको जल्द से फॉर्म में लौटने की जरूरत होती है."

पिच थी मुश्किल
पुजारा ने रोहित शर्मा (127)के साथ पहले विकेट के लिए 169 रनों की साझेदारी की. उन्होंने कहा, "हां, ये थोड़ी मुश्किल पिच थी और मुझे स्ट्राइक रोटेट करने में मुकिश्लें हो रही थी. मुझे पता था एक बार अगर मैं जम गया तो फिर यह आसान हो सकता है. चायकाल तक अच्छा स्कोर खड़ा करना चाहता था. चीजें मेरे पक्ष में रही और रोहित ने भी मेरी अच्छी मदद की."

कैसा था विकेट
भारतीय बल्लेबाज ने पांचवें और अंतिम दिन के विकेट को लेकर कहा, "पांचवें दिन गेंद ज्यादा स्पिन होगी, इसलिए बल्लेबाजी करना आसाना नहीं होगा. मैं अपनी फिटनेस पर काम कर रहा हूं और मैंने तेजी से रिकवर करना शुरू कर दिया है."

टीम इंडिया ने उम्मीदों को रखा जिंदा
इस मैच में पहली पारी में टीम इंडिया केवल 71 रन की बढ़त हासिल कर सकी थी. उसके बाद टीम इंडिया के सामने यह मैच जीतने की चुनौती है, लेकिन भारतीय बल्लेबाजों ने इस चुनौती को स्वीकारा और दूसरी पारी में शानदार बल्लेबाजी करते हुए केवल 67 ओवरों में 323 रन ठोक दिए. इस पारी में टीम इंडिया के बल्लेबाजों ने 14 छक्के लगाए. पुजारा के 81 के अलावा रोहित ने 149 गेंदों में 127 रन बनाए.