IND vs SA: अश्विन अफ्रीकी टेलएंडर्स के टिकने से नहीं हुए निराश, कही ये बड़ी बात

 India vs South Africa: पुणे टेस्ट के तीसरे दिन दक्षिण अफ्रीकी टेल एंडर्स ने भारतीय गेंदबाजों को दिन भर विकेट लेने नहीं दिए. अश्विन ने के कहा कि इस बात ने उन्हें निराश नहीं किया. 

IND vs SA: अश्विन अफ्रीकी टेलएंडर्स के टिकने से नहीं हुए निराश, कही ये बड़ी बात
अश्विन ने मैच की दूसरी पारी में चार विकेट लिए. (फोटो : IANS)

पुणे: आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के तहत भारत और दक्षिण अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच चल रही तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन के पहले सत्र में दक्षिण अफ्रीका की टीम गहरे संकट में दिख रही थी. आधी अफ्रीकी टीम केवल 53 के स्कोर पर पवेलियन लौट गई थी, लेकिन इसके बाद पहले कप्तान डुप्लेसिस और फिर टेल एंडर्स में केशव महराज (Keshav Maharaj) और वर्नेन फिलेंडर (Vernon Philander) ने टीम इंडिया को काफी देर तक विकेट लेने नहीं दिए. इस पर टीम इंडिया के प्रमुख स्पिनर आर अश्विन (R Ashwin) का कहना है कि इससे वे निराश नहीं हैं. 

अफ्रीकी टेलएंडर्स ने काफी देर तक बल्लेबाजी की और इसका नतीजा यह हुआ कि मेहमान टीम की पारी खत्म होने में पूरा दिन लग गया. दिन के अंत में अश्विन ने दक्षिण अफ्रीकी टीम के आखिरी दो विकेट लेकर उसकी पारी समेटी. दक्षिण अफ्रीका का छठा विकेट पहले सत्र में क्विंटन डिकॉक के रूप में 128 के स्कोर पर गिरा. इसके बाद दूसरे सत्र में  पहले सेनुरन मुथुस्वामी 139 और फिर कप्तान फाफ डु प्लेसिस 162 के स्कोर पर आउट हुए. 

यह भी पढ़ें: IND vs SA: अभी तक केवल एक ही टेस्ट पारी से जीत पाई है टीम इंडिया, अब है दूसरा मौका

डुप्लेसिस के आउट होने के बाद केशव महाराज और वर्नेन फिलेंडर ने मिलकर 109 रन की साझेदारी की और खेल दिन के अंत तक पहुंचा दिया. अश्विन ने केशव को 72 के निजी स्कोर पर आउट कर इस साझेदारी को तोड़ा और अंत में रबाडा को एलबीडब्ल्यू कर मेहमान टीम 275 रन पर समेट दिया.

मैच के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए अश्विन ने कहा, "मैं निराश नहीं हुआ. मैं निराश होना भी नहीं चाहता था क्योंकि मैं दोबारा गेंदबाजी करने से काफी खुश हूं चाहे मेरे खिलाफ जो भी बल्लेबाजी करे. मैं उनके खिलाफ गेंदबाजी करते रहने से खुश हूं. इसलिए यह निराशजनक कतई नहीं था."

अश्विन ने इस बात को माना की दक्षिण अफ्रीकी टीम 11 नंबर तक बल्लेबाजी कर सकती है. उन्होंने कहा, "दक्षिण अफ्रीकी टीम के साथ एक बड़ी समस्या यह है कि वे 11 नंबर तक बल्लेबाजी कर सकते हैं. आपको उन्हें ऐसे गेंदबाजी करनी पड़ती है जैसे आप टॉप ऑर्डर को करते हैं." अश्विन ने फिलेंडर की तारीफ करते हुए कहा, "फिलेंडर ने बढ़िया बल्लेबाजी की. उनकी स्पिन और तेज गेंदबाजी के खिलाफ रक्षात्मक तकनीक शानदार रही. उन्होंने हलके हाथ से खेला.  मुझे लगता है कि टेल एंडर्स के बारे में कुछ बढ़चढ़ कर बोला जा रहा है.जब बल्लेबाज अच्छा खेलता है तो वह अच्छा ही खेलता है."