close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IND vs SA: अफ्रीकी पुच्छल्ले बल्लेबाज कर रहे थे परेशान, शमी ने दिलाई भारत को जीत

India vs South Africa: विशाखापत्तनम में टीम इंडिया की जीत की राह में दक्षिण अफ्रीका के निचले क्रम के बल्लेबाजों ने मुश्किलें खड़ी की, लेकिन मोहम्मद शमी ने पांच विकेट लेकर टीम इंडिया को जीत दिलाई.

IND vs SA: अफ्रीकी पुच्छल्ले बल्लेबाज कर रहे थे परेशान, शमी ने दिलाई भारत को जीत
मोहम्मद शमी ने पांचवी पार टेस्ट मैच की पारी में 5 विकेट लिए हैं. (फोटो : IANS)

विशाखापत्तनम: टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ (India vs South Africa) ऐतिहासिक जीत दर्ज की जब उसने तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मैच में 203 रन से हरा दिया. इस मैच को जीतना आासान नहीं था. पहली पारी में 431 रन बनाने के बाद दक्षिण अफ्रीका को दूसरी पारी में जीत के लिए आखिरी दिन 384 रन चाहिए थे और उसका एक विकेट गिर चुका था. टीम इंडिया ने पांचवे दिन के पहले सत्र तक मेहमान टीम के 8 विकेट गिरा भी दिए थे, लेकिन दक्षिण अफ्रीका को निचले क्रम के बल्लेबाजों ने टीम को जीत से काफी समय तक दूर रखा. मोहम्मद शमी ने आखरी दो विकेट लेकर दूसरे सत्र में टीम इंडिया को जीत दिलाई. 

अंतिम दो विकेट लेने में आया पसीना
जिस तरह से दक्षिण अफ्रीका ने पहली पारी में बैटिंग की, उसको देखकर लग नहीं रहा था कि टीम इंडिया मैच को तीसरे सत्र में जाने से पहले ही जीत जाएगी. लेकिन टीम इंडिया के गेंदबाजों ने केवल 70 के स्कोर पर ही 8 विकेट गिराकर टीम की जीत सुनिश्चित कर दी थी. इसके बाद भारतीय गेदबाजों को अंतिम दो विकेट लेने में खासा पसीना आ गया. आखिरी दो विकेट लेने में टीम इंडिया को 37 ओवर लगे जबकि पहले 8 विकेट केवल 27वें ओवर तक ही गिर गए थे. 

यह भी पढ़ें: IND vs SA: अश्विन ने 350 टेस्ट विकेट लेकर बनाया ये रिकॉर्ड, अब निगाह इस मुकाम पर

पहले सत्र में फेल हुए अफ्रीकी दिग्गज
पांचवे दिन का खेल शुरू होने पर अश्विन ने अपने करियर का 350 वां विकेट लेते हुए थियुनिस डि ब्रूयुन को बोल्ड कर दिया  इसके बाद2वें ओवर में मोहम्मद शमी ने टेम्बा बवुमा को बोल्ड कर दक्षिण अफ्रीकी टीम को संकट में डाल दिया. कुछ देर तक कप्तान फाफ डु प्लेसिस और एडिन मार्करम ने संघर्ष जरूर किया लेकिन मोहम्मद शमी ने उन्हें भी 13 की निजी स्कोर पर और फिर क्विंटन डि कॉक को भी बोल्ड कर टीम इंडिया को जीत के नजदीक ला दिया.  

जडेजा के तीन विकेट के बाद आईं मुश्किलें
27वें ओवर में जडेजा ने एडिन मार्करम को अपनी ही गेंद पर कैच किया और उसके बाद उसी ओवर में केशव महाराज और फिर वर्नेन फिलेंडर, दोनों को शू्न्य पर एलबीडब्ल्यू आउट कर टीम इंडिया को जीत के नजदीक ला दिया. इसके बाद से भारतीय गेंदबाजों को डेन पिड्ट और सेनुरन मुथुस्वामी ने अपना विकेट लेने नहीं दिया और लंच से पहले टीम की स्कोर 100 के पार कराया. और लंच तक टीम का स्कोर 117 तक पहुंचाया. 

पिड्ट, रबाडा और मुथुस्वामी ने किया नाक में दम
दूसरे सत्र में भी पिड्ट और मुथुस्वामी ने बेहतरीन शॉट्स लगाए. पिड्स ने अपनी फिफ्टी भी पूरी की उसके बाद मोहम्मद शमी ने दोनों की 91 रन की साझेदारी को तोड़ा. पिड्सने अपनी टीम के लिए सबसे ज्यादा 56 रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे.  इसके बाद रबाडा ने भी मुथुस्वामी के साथ अपने हाथ खोले, लेकिन शमी ने रबाडा को 18 के निजी स्कोर पर आउट कर दिया और मेहमान टीम 191 रन पर समेट दी. मुथुस्वामी 49 रन बनाकर नाबाद लौटे.

मोहम्मद शमी ने दूसरी पारी में कुल पांच विकेट लिए. उन्होंने 10.5 ओवर में केवल 35 रन दिए. केवल 43 टेस्ट खेल चुके शमी का यह पांचवा 5 विकेट टेस्ट हॉल है. हाल ही में वेस्टइंडीज दौरे में 150 टेस्ट विकेट पूरे करने वाले शमी अब तक टेस्ट में 158 विकेट ले चुके हैं.