close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IND vs SA: बुमराह के न होने के बाद भी क्यों टेस्ट टीम इंडिया में नहीं हैं भुवनेश्वर

India vs South Africa: भुवनेश्वर कुमार ने 2018 के दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर शानदार प्रदर्शन किया था. इसके बाद भी वे इस बार टेस्ट टीम इंडिया में नहीं हैं. इसकी वजह फिटनेस नहीं कुछ और है. 

IND vs SA: बुमराह के न होने के बाद भी क्यों टेस्ट टीम इंडिया में नहीं हैं भुवनेश्वर
भुवनेश्वर कुमार ने 2018 में जोहानिसबर्ग टेस्ट में शानदार प्रदर्शन कर भारत को जीत दिलाई थी. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: भारत और दक्षिण अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच बुधवार से शुरू होने वाली टेस्ट सीरीज के लिए दोनों ही टीमें जमकर प्रैक्टिस कर रही हैं. ऐसे में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) का ध्यान सीरीज में हर हाल में बढ़िया प्रदर्शन करने पर है. टीम इंडिया के लिए इस सीरीज में कई प्लस प्वाइंट हैं, लेकिन इस बार विराट कोहली (Virat Kohli) के सामने कई चुनौतियां भी हैं जिसमें तेज गेंदबाजी विभाग में टीम को जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) के साथ ही भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) की कमी भी खल सकती है. 

बुमराह के न होने के बाद भी भुवी टीम में नहीं
इस समय टीम इंडिया की स्थिति काफी मजबूत मानी जा रही है, फिर भी दक्षिण अफ्रीकी टीम विराट कोहली (Virat Kohli) की टीम को कड़ी टक्कर नहीं दे पाएगी ऐसा कोई नहीं मान सकता है. टीम इंडिया के लिए सबसे बड़ा प्लस प्वाइंट बताया जाता है उसकी तेज गेंदबाजी. लेकिन टेस्ट सीरीज से पहले जसप्रीत बुमराह का चोटिल होकर बाहर होना टीम के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. इसके अलावा टीम में भुवनेश्वर कुमार को मिस करने की कुछ खास वजहें हैं.

यह भी पढ़ें: IND vs SA: पिछली सीरीज हार कर भी विराट ने जीता था दिल, इस बार घर में जीत की चुनौती.

क्यों नहीं हैं भुवी टीम में 
भुवी को उन हालातों में बेहतरीन गेंदबाज माना जाता है जहां गेंद स्विंग होती है. ऐसे हालातों में वे हमेशा ही दुनिया के सबसे मारक बॉलर साबित हुए हैं. फिलहाल ये हालात भारत के उन मैदानों पर नहीं हैं जहां टीम इंडिया को टेस्ट मैच खेलने हैं. इसके अलावा पिछले एक साल में जहां भुवी फिटनेस के कारण भी टीम से बाहर हुए तो उनकी जगह लेने के लिए उमेश यादव और नवदीप सैनी जैसे गेंदबाजों की दावेदारी मजबूत हो गई. ऐसे में टीम इंडिया के लिए भुवी अब उस तरह के फेवरेट नहीं रहे.  

पिछले दौरे पर शानदार प्रदर्शन किया था भुवी ने
भुवी एक समय टीम इंडिया के नंबर एक और सबसे प्रमुख गेंदबाज रहे थे. लेकिन बीच में भुवी को कभी चोट के कारण तो कंडीशन्स यानि मैदानी हालातों के कारण टीम इंडिया के लिए सर्वश्रेष्ठ विकल्प नहीं माना गया. लेकिन भुवी ने वापसी की और वह भी 2018 में दक्षिण अफ्रीकी दौरे में जहां उन्होंने लाल गेंद और सफेद गेंद दोनों से ही बेहतरीन प्रदर्शन किया. दक्षिण अफ्रीका में उन्होंने दो टेस्ट मैचों में 20.30 के औसत और 3.02 की इकोनॉमी से 10 विकेट लिए. 

इसके बाद भी भुवी क्यों नहीं
यह प्रदर्शन भुवी की वापसी का ऐलान था. इस सीरीज के तीसरे मैच में वे मैन ऑफ द मैच भी रहे जो टीम इंडिया सीरीज का एकमात्र टेस्ट जीत रही. उस मैच में भुवी ने 30 और 33 रन बनाकर अपनी बढ़िया बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया था. लेकिन उसके बाद भुवी का इंग्लैंड दौरे से बाहर होना और बाकी गेंदबाजों को टीम में बढ़िया प्रदर्शन भुवी को पीछे ढकेलता गया. टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री भुवी को वनडे में अहम गेंदबाज तो मानते हैं लेकिन उनका मानना है की टीम में अब उनसे बेहतर विकल्प हैं.