close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IND vs SA: रोहित की ओपनिंग को मिला कोच और उपकप्तान का साथ, जानिए क्या है प्लान

India vs South Africa:  टेस्ट सीरीज के लिए रोहित शर्मा की ओपनिंग टीम और रोहित दोनों के लिए कड़ी चुनौती है. 

IND vs SA: रोहित की ओपनिंग को मिला कोच और उपकप्तान का साथ, जानिए क्या है प्लान
रोहित शर्मा अभ्यास मैच में शून्य पर आउट हो गए थे. (फाइल फोटो)

 नई दिल्ली: दो अक्टूबर से शुरू हो रही भारत और दक्षिण अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का फैंस बेसब्री से इंतजार है. वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप शरू होने के बाद से यह टीम इंडिया की पहली घरेलू टेस्ट सीरीज है. गांधी मंडेला सीरीज में टीम इंडिया के लिए कुछ कड़ी चुनौतियां हैं. इनमें सबसे बड़ी चुनौती सलामी बल्लेबाजी के तौर पर रोहित शर्मा की शुरूआत है. 

सलामी बल्लेबाजी की चुनौती का सामना करेंगे रोहित
टीम इंडिया के सामने सबसे पहली चुनौती है सलामी बल्लेबाजी में बड़ा बदलाव. रोहित शर्मा इस सीरीज से पहली बार टेस्ट टीम इंडिया के लिए बतौर ओपनिंग करेंगे. टीम में केएल राहुल की जगह रोहित को मौका दिया जा रहा है, जबकि केएल टीम में ही नहीं हैं. राहुल हाल की सीरीज में अपनी पारी को बड़े स्कोर में बदलने में नाकाम रहे थे. इससे साफ है कि टीम रोहित को हर हाल में आजमाने के मूड में है. 27 टेस्ट खेल चुके रोहित का घरेलू पिचों पर बेहतर रिकॉर्ड है.

यह भी पढ़ें: IND vs SA: बुमराह के न होने के बाद भी क्यों टेस्ट टीम इंडिया में नहीं हैं भुवनेश्वर

कोच शास्त्री का सपोर्ट
रोहित के लिए यह चुनौती कठिन तब हो गई जब अभ्यास मैच में वे केवल दो गेंद खेल कर ही आउट हो गए. इसके बाद भी उन्हें कोच और टीम का पूरा सपोर्ट है. इस मुद्दे पर कोच शास्त्री ने कहा, "मैंने रोहित से कहा  हकि 2015-16 में उन्होंने मुंबई के लिए पारी का आगाज किया था. तभी से वे मुझे लगा कि उनमें एक्स फैक्टर है. यह हमेशा ही मुश्किल होता है खासकर नंबर 5 या नंबर 6 के बल्लेबाज के लिए. लेकिन यह केवल एक दिमागी बात है. यदि रोहित इससे ऊपर उठ पाते हैं, वे मैच विनर हो सकते हैं हम उन्हें वक्त देंगे. हमें उन पर जोर नहीं देंगे."

रहाणे को भी रोहित पर विश्वास
टीम के उपकप्तान रहाणे ने कहा, "उन्होंने (रोहित ने) मौका हासिल करने के लिए काफी मेहनत की है. मुझे यकीन है कि वे बढ़िया करेंगे. हम सब जानते हैं कि उनमें क्या खूबी है. टेस्ट क्रिकेट और वनडे में मानसिकता ही सब कुछ होती है. आपको जाकर खुद वहां खड़े होना पड़ता है. टेस्ट क्रिकेट में यदिन दो गेंदबाज बढ़िया बॉलिंग कर रहे हों तो आपको उन्हें सम्मान देना होता है और मजबूती दिखाते हुए खेल खेलना होता है."

मयंक के सामने भी है चुनौती
टीम के दसरे ओपनर मयंक अग्रवाल हैं. मयंक ने अभी तक निराश नहीं किया है, लेकिन उन्हें भी लंबी पारी की बहुत जरूरत है. घरेलू मैदान पर उम्मीद है के वे अपने घरेलू क्रिकेट के रिकॉर्ड के साथ न्याय करने में जरूर कामयाब होंगे. मयंक को भी कई खिलाड़ी जैसे पृथ्वी शॉ, केएल राहुल जैसे खिलाड़ियों से चुनौती मिल रही है. 

भारतीय टीम: विराट कोहली (कप्तान), मयंक अग्रवाल, रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (उप कप्तान), हनुमा विहारी, ऋषभ पंत, ऋद्धिमान साहा, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, कुलदीप यादव, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा, शुभमन गिल.