IND vs SA: टीम इंडिया की जीत पर बोले कोच शास्त्री, जब तक ऐसा चल रहा है, मजे करें

India vs South Africa: टीम इंडिया की रांची में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ऐतिहासिक जीत पर टीम के कोच ने हर खिलाड़ी की तारीफ की. 

IND vs SA: टीम इंडिया की जीत पर बोले कोच शास्त्री, जब तक ऐसा चल रहा है, मजे करें
रवि शास्त्री टीम इंडिया के सबसे सफल कोच बनते जा रहे है. . (फोटो:PTI)

नई दिल्ली: टीम इंडिया ने भारत और दक्षिण अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज 3-0 से जीतकर कई रिकॉर्ड बना दिए. रांची में हुए इस सीरीज के तीसरे और आखिरी टेस्ट मैच में टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका को एक पारी और 202 रन से हराकर मेहमान टीम पर इतिहास की सबसे बड़ी टेस्ट जीत दर्ज की. इससे पहले टीम इंडिया ने पुणे में खेले गए पिछले टेस्ट में ही दक्षिण अफ्रीका को एक पारी और 137 रन से हराया था. रांची टेस्ट जीतने के बाद टीम के कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने बताया कि इस जीत के लिए उनकी क्या सोच रही और किन बातों पर फोकस रहा.

20 विकेट लेने पर था फोकस
रांची टेस्ट में टीम इंडिया का बैटिंग और बॉलिंग दोनों से बढ़िया प्रदर्शन किया. शास्त्री ने बताया कि उनकी टीम का फोकस 20 विकेट लेने का था. उन्होंने कहा, "हमारी इच्छा ती कि हम पिच को पर निर्भर न रहें. हम हमेशा ही 20 विकेट लेना चाहते थे चाहे हम कहीं भी खेल रहे हों. हम केवल 20 विकेट पर फोकस कर रहे थे." इस सीरीज में टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका को हर पारी में ऑलआउट किया था. इसमें टीम के स्पिनर्स और पेसर्स हर तरह के गेंदबाजों का योगदान रहा. 

यह भी देखें: तस्वीरों में देखें, कैसे दर्ज की टीम इंडिया ने रांची में ऐतिहासिक जीत

रोहित की क्या रही खास बात
शास्त्री ने टीम की बल्लेबाजी की भी तारीफ की. उन्होंने कहा, "हमारी बल्लेबाजी बिलकुल फरारी की तरह रही. अजिंक्य रहाणे हमेशा से ही मौजूद थे उन्हें केवल खुद का फॉर्म हासिल करना था. जब आप टेस्ट में ओपन करते हैं, तो आप 10 गेदों में आउट हो सकते हैं. लेकिन रोहित पहले दो घंटे तक डटे रहे और उनके लिए लंच के बाद हालात बदल गए जिसका उन्होंने फायदा उठया. ओपनर को इस तरह से काम में संतुष्टि मिलना बहुत बढ़िया है." 

नदीम को भी मिली कोच की तारीफ
शाहबाज नदीम ने रांची में अपने करियर का पहला टेस्ट खेला और दोनों पारियों में दो-दो विकेट लिए. उनकी तारीफ में शास्त्री ने कहा, " मैं नदीम से बहुत प्रभावित हूं. वे टॉप पर जल्दी से आए और उनकी रिस्ट पोजीशन बहुत बढ़िया रही. उन्होंने घरेलू क्रिकेट में शानदार रिकॉर्ड रखा है. मैं खुश हूं कि उन्हें अंततः अपने घरेलू मैदान पर मौका मिला वे घबराते नहीं दिखे. उन्होंने लगातार तीन मेडिन फेंके."

टीम में कई खिलाड़ी हैं परफॉर्म करने वाले
शास्त्री ने टीम की तारीफ करते हुए कहा, "जीत एक टीम प्रयास है. आमतौर पर भारतीय क्रिकेट में एक दो खिलाड़ी ही छाए रहते हैं. लेकिन यहां 6 या 7 रहे. आपके पास कप्तान है जो कि उदाहरण के साथ लीड करता है और दोहरा शतक लगाता है. आपके पास पुजारा हैं. रहाणे मिडिल ऑर्डर में रन बना रहे हैं. आपके पास छठे नंबर पर जडेजा हैं और विकेट भी ले रहे हैं. आप यही चाहते हैं. जब तक ऐसा चल रहा है मजे करें.