IND vs SA: विराट सेना का पुणे में शानदार प्रदर्शन, इतिहास रचने से केवल 3 कदम दूर

India vs South Africa: फॉलोऑन खेलते हुए दक्षिण अफ्रीका ने पुणे टेस्ट के चौथे दिन के दूसरे सत्र तक 7 विकेट गंवा दिए. 

IND vs SA: विराट सेना का पुणे में शानदार प्रदर्शन, इतिहास रचने से केवल 3 कदम दूर
टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सबसे बड़ी जीत हासिल कर सकती है. (फोटो : ANI)

नई दिल्ली: पुणे में टीम इंडिया दक्षिण अफ्रिका के खिलाफ (India vs South Africa) इतिहास रचने के करीब पहुंच गई है. पारी की हार से बचने के लिए 326 रन का पीछा कर रही दक्षिण अफ्रिकी टीम ने चाय तक सात विकेट गंवा दिए हैं. क्रीज पर वर्नेन फिलेंडर (29 नाबाद) और केशव महाराज (17 नाबाद) किला लड़ा रहे हैं जिन्होंने पहली पारी में अपनी टीम के लिए सबसे बड़ी 109 रन की साझेदारी की थी. टीम ने चायकाल तक 7 विकेट के नुकसान पर 172 रन बना लिए हैं और टीम अब भी पारी की हार से 154 रन पीछे हैं.

लंच के बाद भी गिरते रहे विकेट
लंच के बाद दूसरे सत्र की पारी की शुरुआत टेम्बा बवुमा और क्विंटन डिकॉक ने की. टीम 74 रन पर चार विकेट गंवा चुकी थी. लेकिन विकेट गिरने का सिलसिला दूसरे सत्र में नहीं थमा क्योंकि लंच के बाद के तीसरे ओवर में ही क्विंटन डिकॉक टीम के 79 के स्कोर पर रवींद्र जडेजा की गेंद पर बोल्ड हो गए. इससे पहले डिकॉक पहली पारी में भी बोल्ड हुए थे. इस पारी में डिकॉक केवल 5 रन बना सके.

यह भी पढ़ें: IND vs SA: अभी तक केवल एक ही टेस्ट पारी से जीत पाई है टीम इंडिया, अब है दूसरा मौका

कुल तीन विकेट गिरे दूसरे सत्र में
डिकॉक के जाने के बाद बवुमा ने सेनुरन मुथुस्वामी के साथ मिलकर टीम का स्कोर 100 के पार कराया, लेकिन बवुमा को जडेजा ने 38 के निजी स्कोर पर उपकप्तान रहाणे के हाथों कैच करा दिया. इसके अगले ही ओवर में मोहम्मद शमी ने मुथुस्वामी को रोहित शर्मा से लपकवाकर मेहमान टीम की मुसीबतें बढ़ा दीं. अब टीम के 7 विकेट केवल 129 के स्कोर पर ही गिर चुके थे.

एक बार फिर संकटमोचन बने महाराज और फिलेंडर
सात विकेट गिरने के बाद एक बार फिर फिलेंडर और महाराज की जोड़ी क्रीज पर थी. इस बार भी दोनों ने शानदार डिफेंस दिखाया और 8वें विकेट के लिए 43 रन की साझेदारी कर डाली. हालांकि चाय तक यह दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी की तीसरी सबसे बड़ी साझेदारी थी. दूसरे सत्र में टीम इंडिया के फिल्डर्स कुछ मुश्किल कैचों का पकड़ने में कामयाब नहीं हो सके. इसी बीच फिलेंडर ने जडेजा को लगातार दो छक्के भी लगाए. 

खराब शुरुआत रही अफ्रीकी टीम की
पहले सत्र में पारी की हार बचाने के लिए 326 रन का पीछा कर रही दक्षिण अफ्रीकी टीम ने दूसरी पारी में मेहमान टीम की शुरुआत ही खराब रही और छह ओवर के भीतर दी दो विकेट गिर गए. कप्तान फाफ डु प्लेसिस और डीन एल्गर ने कुछ संघर्ष करने की कोशिश की लेकिन दोनों ही लंच से पहले पवेलियन वापस लौट गए. 

ईशांत शर्मा ने तीसरी पारी की दूसरी ही गेंद पर एडिन मार्करम को एलबीडब्ल्यू आउट कर तगड़ा झटका दे दिए इसके बाद जल्द ही उमेश यादव ने थेयुनिस डि ब्रुइन को मैच में दूसरी बार अपना शिकार बनाया. उसके बाद फाफ और एल्गर ने 49 रन की साझेदारी की. अश्विन ने फाफ को साहा के हाथों कैच कराकर इस साझेदारी को तोड़ा. इसके बाद लय दिख रहे डीन एल्गर भी अश्विन की गेंद पर लंच से दो ओवर पहले आउट हो गए.

मैच के तीसरे दिन दक्षिण अफ्रिकी टीम 275 रन पर आउट हो गई थी जिससे वह टीम इंडिया को पहली पारी के आधार पर 326 रन की लीड मिली. इसके बाद विराट कोहली ने मेहमान टीम को फॉलोऑन खेलने को कहा. इस मैच में टीम इंडिया के पास अब तक की सबसे बड़ी जीत हासिल करने का मौका है.