close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IND vs SA: पुणे में होगी टीम इंडिया की परीक्षा, पिछली बार ऑस्ट्रेलिया से मिली थी हार

Team India: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरा टेस्ट मैच पुणे में होना है. इस मैदान पर टीम इंडिया ने अब तक केवल एक ही टेस्ट मैच खेला है जिसमें भी उसे करारी हार का सामना पड़ा.

IND vs SA: पुणे में होगी टीम इंडिया की परीक्षा, पिछली बार ऑस्ट्रेलिया से मिली थी हार
पुणे के पिछले मैच में विराट कोहली नहीं चले थे जबकि स्मिथ ने तीसरी पारी में शतक लगाया था. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के तहत भारत और दक्षिण अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मैच टीम इंडिया ने जीत कर शुरुआती बढ़त हासिल कर ली. अब दोनों टीमें गुरुवार को दूसरा टेस्ट मैच पुणे में खेलेंगी. टीम इंडिया का घरेलू मैदान पर बेहतरीन टेस्ट रिकॉर्ड रहा है. भारत ने अब तक 536 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें से उसने अपने घरेलू मैदान पर 268 टेस्ट मैच खेले हैं. इनमें से उनसे 102 मैचों में जीत हासिल की है और केवल 52 टेस्ट मैचों में उसे हार मिली है. 

पिछले कुछ सालों में सुधरा है टीम इंडिया का घरेलू रिकॉर्ड
वैसे घरेलू मैदान पर 113 मैच ड्रॉ होने का रिकॉर्ड कई लोगों को खटक सकता है, लेकिन पिछले कुछ सालों में मैच ड्रॉ होने तेजी से कम हुए हैं. इस सदी में घरेलू मैदान खेले गए 93 मैचों में से केवल 27 मैच ड्रॉ हुए हैं जबकि टीम इंडिया ने 54 मैचों में जीत भी हासिल की है और केवल 12 टेस्ट में उसे हार का सामना करना पड़ा है. वहीं अगर पुणे के मैदान की बात की जाए तो यहां टीम इंडिया अपना दूसरा टेस्ट मैच खेलेगी. 

यह भी पढ़े: IND vs SA: रोहित नहीं इस बल्लेबाज को बताया वीवीएस लक्ष्मण ने टीम इंडिया में आज का सहवाग

पहला मैच था उस टेस्ट सीरीज का
इस मैदान पर टीम इंडिया ने 23-25 फरवरी को 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच खेला था. यह चार टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मैच था. इस मैच में ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज स्टीव ओकीफी ने दोनों पारियों में छह छह विकेट लेकर मैच ऑस्ट्रेलिया की तरफ कर दिया था. और स्टीव स्मिथ की कप्तानी वाली कंगारू टीम ने इस मैच में 333 रन से जीत हासिल की थी. 

पहली पारी में केवल 260 रन ही बना सकी थी ऑस्ट्रेलियाई टीम
इस मैच में पहली पारी में ऑस्ट्रेलियाई टीम बहुत बड़ा स्कोर खड़ा नहीं कर सकी थी. पहली पारी में मैट रैनशॉ और मिचेल स्टार्क ही हाफ सेंचुरी लगा सके थे, जिसके कारण ऑस्ट्रेलियाई टीम पहली पारी में केवल 260 रन का स्कोर ही बना पाई. इसके जवाब में टीम इंडिया मौके का फायदा नहीं उठा सकी और केवल 105 रन पर ही सिमट गई. केवल केएल राहुल ने 64 रन बनाए और मुरली विजय (10) और अजिंक्य रहाणे (130 के अलावा कोई भी बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा भी न छू सका.

दूसरी पारी में भी टीम इंडिया के शेर हुए ढेर
दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया स्मिथ की शतकीय पारी के दम पर 285 रन  बना गई और टीम इंडिया को जीत के लिए 411 रन का टारगेट मिला. लेकिन एक बार फिर ओकीफी ने बेहतरीन गेंदबाजी की और दूसरी पारी में भी टीम इंडिया को केवल 107 पर समेट कर मैच के तीसरे दिन ही नतीजा मेहमान टीम के पक्ष में कर दिया. 

इस समय भले ही टीम इंडिया का पलड़ा दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारी हो लेकिन मेहमान टीम वापसी में सक्षम न हो ऐसा नहीं है. उल्लेखनीय है कि विशाखापत्तनम टेस्ट की दूसरी पारी मे आखिरी तीन बल्लेबाजों ने 191 में से 121 रन बटोर लिए थे. इसके अलावा अफ्रीकी गेंदबाजी भी बहुत कमजोर हो ऐसा भी विराट मान के नहीं चल सके थे.