93 रनों की शानदार पारी खेलने में हनुमा विहारी को कुछ ऐसे मिली मदद, किया खुलासा

भारत और विंडीज का दूसरा मैच 30 अगस्त से किंग्सटन के सबिना पार्क में शुरू होगा.

93 रनों की शानदार पारी खेलने में हनुमा विहारी को कुछ ऐसे मिली मदद, किया खुलासा
भारत ने विंडीज को पहले टेस्ट में 318 रनों से मात दी. (फोटो: IANS)

नोर्थ साउंड (एंटिगा): वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले गए पहले टेस्ट की दूसरी पारी में 93 रनों की बेहतरीन पारी खेलने वाले ऑलराउंडर खिलाड़ी हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) ने कहा है कि वह अपने गेंदबाजी को बेहतर करने पर ध्यान दे रहे हैं. भारत ने विंडीज को पहले टेस्ट में 318 रनों से मात दी.

मैच के बाद विहारी ने कहा, "यह जरूरी है कि मेरी ऑफ स्पिन में सुधार हो. यह सिर्फ मेरे लिए नहीं बल्कि टीम के लिए भी अच्छा होगा क्योंकि मैं इसी संयोजन के साथ टीम में फिट बैठता हूं. मैं लगातार सुधार करने की कोशिश कर रहा हूं. उम्मीद है कि मुझे ज्यादा ओवर फेंकने को मिलें और मैं भविष्य में टीम के काम आ सकूं."

रहाणे ने मेरी मदद की
विहारी ने 102 रन बनाने वाले रहाणे के साथ 135 रनों की साझेदारी की थी. इस साझेदारी के दम पर भारत ने विंडीज के सामने 419 रनों की चुनौती रखी. विहारी ने अपनी पारी के लिए रहाणे को भी श्रेय दिया. उन्होंने कहा, "जिस तरह से गेंदबाज गेंदबाजी कर रहे थे उसे देखते हुए रहाणे ने मेरी मदद की, क्योंकि वह काफी देर से बल्लेबाजी कर रहे थे. वह मुझे बता रहे थे कि विकेट किस तरह से खेल रही है."

मुझे मदद मिली
दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा, "मैं यहां इंडिया-ए टीम के साथ पहले आ गया था इसलिए मुझे यहां के हालात के बारे में पता था और इससे मुझे मदद मिली. मुझे पता था कि विकेट हरकत करेगी. मैं भाग्यशाली रहा कि कुछ रन कर सका."

बुमराह भी निराश थे
भारत की जीत में तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह का भी अहम योगदान रहा जिन्होंने दूसरी पारी में सात रन देकर पांच विकेट लिए. विहारी ने बताया कि बुमराह पहली पारी में अपने प्रदर्शन से निराश थे. उन्होंने कहा, "पहली पारी में किए गए प्रदर्शन से बुमराह काफी निराश थे. उन्हें लग रहा था कि उन्होंने अपने स्तर के मुताबिक गेंदबाजी नहीं की. दूसरी पारी में उन्होंने बेहतरीन गेंदबाजी की. वह चैम्पियन गेंदबाज हैं. हमने बीते छह महीनों से टेस्ट नहीं खेला है इसलिए वह पहली पारी में लय हासिल नहीं कर पाए थे."