IND vs WI: आसान नहीं है टीम इंडिया के लिए तिरुवनंतपुरम टी20 की डगर, ये हैं कारण

India vs West Indies: हैदराबाद टी20 में काफी कुछ ऐसा हुआ था जिससे टीम इंडिया को ज्यादा खुश होने के बजाय गंभीरता से तिरुवनंतपुरम टी20 की तैयारी करने की जरूरत है. 

IND vs WI: आसान नहीं है टीम इंडिया के लिए तिरुवनंतपुरम टी20 की डगर, ये हैं कारण
विराट कोहली अच्छे से जानते हैं कि टीम इंडिया में तिरुवनंतपुरम में भी काफी सुधार की जरूरत है.

नई दिल्ली: टीम इंडिया ने हैदराबाद में वेस्टइंडीज के खिलाफ (India vs West Indies) रिकॉर्ड रन चेज से जीत हासिल की. इस मैच में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने एक बार फिर साबित किया कि वे बेहतरीन कप्तान के पहले बेहतरीन बल्लेबाज हैं और उनकी टीम को हराना आसान नहीं हैं. विराट ने इस मैच में 50 गेंदों में 94 रन बनाए और 208 रन का टारगेट 8 गेंद शेष रहते ही हासिल कर लिया. लेकिन इस मैच में कई बातें ऐसी हैं जो इशारा करती हैं. टीम इंडिया के लिए अगले मैच मुश्किल हो सकते हैं. 

ऐसा लगा की भारतीय बल्लेबाजों को था कमाल, लेकिन
इस मैच में टीम इंडिया को 20 ओवर में 208 रन बनाने थे लेकिन विराट के तूफान से टीम ने 18.4 ओवर में ही 209 रन बना डाले. लेकिन इस मैच के बाद वेस्टइंडीज के कप्तान कीरोन पोलार्ड ने इस बात पर ध्यान दिलाया कि दरअसल टीम इंडिया ने यह जीत हासिल नहीं की बल्कि वेस्टइंडीज के गेंदबाजों ने ही मेजबानों के लिए यह मैच आसान बनाया.

यह भी पढ़ें: IND vs WI जब केएल ने चहल से कहा, 'पता है कितने रन आगे हैं आप मुझसे', देखें VIDEO

इन गेंदों ने बदला खेल का गणित
इस मैच में वेस्टइंडीज के गेंदबाजों ने कुल 23 अतिरिक्त रन दिए. जिसमें से 14 वाइड गेंद और तीन नो बॉल थी. यानि की वेस्टइंडीज के बॉलर्स ने 17 अतिरिक्त गेंदें टीम इंडिया को तोहफे में दे दी और लक्ष्य 208 के बजाय 185 रन वैसे ही हो गया. वहीं अगर इन 23 गेंदों को जोड़ा जाए तो टीम इंडिया ने 22.3 ओवरों में यह लक्ष्य हासिल किया जिसमें से 23 गेंदों में टीम इंडिया को एक-एक शर्तिया रन मिला.

यह भी पढ़ें: IND vs WI: हैदराबाद में भारत की लचर फील्डिंग पर युवी बोले, क्या ज्यादा क्रिकेट है वजह

और मुश्किल हो जाएगा मुकाबला
अब अगर वेस्टइंडीज तिरुवनंतपुरम में अपनी गेंदबाजी में सुधार के साथ उतरती है तो सोचा जा सकता है कि टीम इंडिया के लिए राह कैसी हो सकती है. अब जरा सोचें कि अगर तिरुअनंतपुरम में टीम इंडिया को उसी तरह का लक्ष्य मिला और विंडीज गेंदबाज अनुशासन दिखाने में सफल रहे तब टीम इंडिया के लिए लक्ष्य हासिल करना एक मुसीबत बन सकता है.

किसकी बैटिंग में ज्यादा गहराई
एक तरफ वेस्टइंडीज की टीम के ज्यादातर बल्लेबाज बढ़िया बैटिंग करते दिखे. इवान लुइस, ब्रैंडन किंग, शिमरोन हेटमायर, कीरोन पोलार्ड, और जेसन होल्डर सभी ने तेजी से रन बनाए. वही टीम इंडिया के लिए विराट कोहली, केएल राहुल, और कुछ हद तक ऋषभ पंत ही तेजी से रन बना सके. ऐसे में मेहमान टीम की बल्लेबाजी के पास ज्य़ादा गहराई दिखी. यानि अगर किसी तरह से भारतीय बैटिंग में वेस्टइंडीज ने जल्दी विकेट लिए तो टीम इंडिया के लिए समस्या हो सकती है.

टीम इंडिया को भी इन सुधारों की दरकार
इस मैच में टीम इंडिया की फील्डिंग काफी लचर रही. खिलाड़ियों ने न केवल लगातार कई कैच छोड़े, बल्कि कई बार खिलाड़ियों के थ्रो सटीक नहीं रहे. इसके कारण कुछ रन आउट के मौके भी चूके गए और उसके अलावा कई अतिरिक्त रन भी निकले. टीम की यह समस्या कोई नई नहीं हैं. इस में टीम को और कोच स्टाफ को भी लंबे समय तक काम करने की जरूरत है.