INDvsENG: पुजारा ने किया बचाव, बोले- अश्विन ने सटीक गेंदबाजी की

इंग्लैंड की टीम पांच मैचों की सीरीज में 2-1 से आगे है और सीरीज का आखिरी मैच लंदन के ओवल में खेला जाएगा.

INDvsENG: पुजारा ने किया बचाव, बोले- अश्विन ने सटीक गेंदबाजी की
अश्विनी ने 35 ओवर में 78 रन देकर एक विकेट लिया था.

साउथम्पटन: भारतीय बल्लेबाल चेतेश्वर पुजारा ने इंग्लैंड के खिलाफ यहां खेले जा रहे चौथे टेस्ट मैच के तीसरे दिन स्पिनर रविचंद्रन अश्विन की खराब गेंदबाजी आंकड़ों का बचाव करते हुए कहा कि उन्होंने सही लाइन-लेंथ से गेंदबाजी की लेकिन अपेक्षित सफलता नहीं मिली.

जोस बटलर की अर्धशतकीय पारी की बदौलत तीसरे दिन स्टंप तक अपनी बढ़त 233 रन की कर ली है और उसके दो विकेट शेष है जिससे भारतीय टीम को चौथी पारी में मुश्किल लक्ष्य का पीछा करना होगा.

इंग्लैंड के मोईन के पांच विकेट की तुलना में सीरीज में फार्म में चल रहे अश्विन शनिवार को ज्यादा प्रभाव नहीं छोड़ पाए. उन्होंने 35 ओवर में 78 रन देकर एक विकेट लिया.

पुजारा ने हालांकि टीम के अपने साथी का बचाव किया. उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि उसके लिए यह बुरा दिन था. उसे ज्यादा विकेट नहीं मिले लेकिन उन्होंने सही लाइन-लेंथ से गेंदबाजी की. एक गेंदबाज के तौर पर कभी-कभी आपको ऐसे दिनों का सामना करना पड़ता है जब आप अच्छी गेंदबाजी करते हैं लेकिन अधिक विकेट नहीं मिलते.’’

तमिलनाडु का यह गेंदबाज मोहम्मद शमी (53 रन पर तीन विकेट), इशांत शर्मा (36 रन पर दो विकेट) और जसप्रीत बुमराह (51 रन पर एक विकेट) के पैरों के निशान का फायदा नहीं उठा सका. उसे एकमात्र सफलता स्टोक्स के विकेट के रूप में मिली जिनका कैच अजिंक्य रहाणे ने पकड़ा.

पहली पारी में शतक लगाने वाले पुजारा ने कहा किअश्विन होशियार गेंदबाज है, उसने हमारे लिए घरेलू सत्र और विदेशों में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है. इसलिए मुझे नहीं लगता कि उसने खराब गेंदबाजी की. हां, पिच काफी धीमी हो गई है और यह एक कारण हो सकता है कि वह जैसा चाहता था वैसे नतीजे नहीं मिले.’’

पुजारा ने कहा कि जीत के लिए टीम को धीमी होती इस पिच पर अच्छी बल्लेबाजी करनी होगी खासकर मोईन अली के खिलाफ. उन्होंने हालांकि कहा कि यह पिच उपमहाद्वीप की पिचों की तरह हो गयी है जिससे चौथी पारी में भारतीय टीम को फायदा हो सकता है.

उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि यह हमारे लिए मुश्किल दिन था, पिच को देखें तो यह थोड़ी धीमी हो गई है. ऐसा लग रहा है कि बल्लेबाजी करना थोड़ा आसान है और हमें ऐसी स्थितियों में खेलने का अनुभव हैं. हमने पहली पारी में अच्छी तरह से शुरुआत की लेकिन बीच में बहुत सारे विकेट गंवा दिए, अगर अच्छी बल्लेबाजी की होती तो हमें 100 या 150 रन की बढ़त मिल सकती थी.’’