close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

न्यूजीलैंड के कोच माइक हेसन बोले, भारतीय स्पिनरों से डरने की जरूरत नहीं

पिछले साल न्यूजीलैंड और भारत के बची हुई सीरीज के पांच मैचों में अमित मिश्रा ने 15 विकेट लिए थे.

न्यूजीलैंड के कोच माइक हेसन बोले, भारतीय स्पिनरों से डरने की जरूरत नहीं
पहला वनडे मैच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में होगा. (फाइल फोटो)

मुंबई: न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के कोच माइक हेसन ने कहा है कि 22 अक्टूबर से भारत के खिलाफ शुरू होने वाली वनडे सीरीज में उनकी टीम के बल्लेबाजों को भारतीय स्पिननों से डरने की जरूरत नहीं है. आस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करने वाले गेंदबाज कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल के बारे में हेसन ने कहा कि कलाई के कारीगर हमेशा ही रन बनाने के मौके देते हैं, इसलिए हमें उनसे डरने की आवश्यकता नहीं है.

यह भी पढ़ें: भारत दौरे में पिचों की परिस्थिति को समझना जरूरी: विलियमसन

हेसन ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, "हम जानते हैं कि कलाई से स्पिन कराने वाले हमेशा ही रन बनाने का मौका देते हैं, इसलिए हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हम उन्हें रहस्यमयी स्पिनर समझे बिना गेंद को अच्छे से खेलें." पिछले साल न्यूजीलैंड और भारत के बची हुई सीरीज के पांच मैचों में अमित मिश्रा ने 15 विकेट लिए थे. इस बार मेहमान टीम को फॉर्म में चल रहे चहल और कुलदीप का सामना करना है. 

हेसन ने माना कि हर बल्लेबाज का स्पिन को खेलने का अपना तरीका होता है और हमारे लिए यह जरूरी है कि हम भारतीय स्पिन गेंदबाजों को रहस्मयी ना समझे. हेसन ने कहा, "हमारे पास बहुत सारे ऐसे खिलाड़ी है, जिन्होंने आईपीएल में कुलदीप का सामना किया है. कुछ तो उनके साथ एक ही टीम में खेलें हैं, तो वे खिलाड़ी बाकी खिलाड़ियों से जानकारियां साझा कर रहे है."

हेसन ने आगे कहा, "यह एक व्यक्तिगत बात है. बल्लेबाजी करते समय कुछ बल्लेबाजों की नजर गेंदबाज के हाथ और कलाई पर रहती है. कुछ बल्लेबाज पिच के पढ़कर बल्लेबाजी करते है, तो कुछ हवा में गेंद को देखकर. हर किसी का अलग तरीका है और मैं समझता हूं कि आप सभी बल्लेबाजों को एक आकार में फिट नहीं हो सकते." न्यूजीलैंड 22 अक्टूबर से 7 नवंबर के बीच भारत से तीन वनडे और तीन टी-20 मैच की सीरीज खेलेगी. पहला वनडे मैच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में होगा.