Indian Cricket: गांगुली की लीडरशिप पर विराट को पूरा भरोसा, इन बदलावों की है उम्मीद

Team India: टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को लगता है कि गांगुली के नेतृत्व में भारतीय क्रिकेट में सकारात्मक बदलाव होंगे

Indian Cricket: गांगुली की लीडरशिप पर विराट को पूरा भरोसा, इन बदलावों की है उम्मीद
विराट कोहली का कहना है कि टी20 पर ही ज्यादा ध्यान देना ठीक नहीं होगा. (फोटो: IANS)

कोलकाता: टीम इंडिया की बांग्लादेश के खिलाफ (India vs Bangladesh) पिंक बॉल टेस्ट में ऐतिहासिक जीत दर्ज की. इस जीत के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली (Vikat Kohli) ने हाल ही में हुए भारतीय क्रिकेट (Indian Cricket) के बारे में हुए बदलावों और भविष्य के बारे में बात की. विराट ने बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) के नेतृत्व से लेकर भारत के टेस्ट क्रिकेट के भविष्य और टी20 के उस पर प्रभाव पर बात की. 

गांगुली की तारीफ 
कोहली ने साथ ही बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली की भी तारीफ करते हुए कहा कि उनके नेतृत्व में भारतीय क्रिकेट में बहुत सारे सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेंगे. कोहली ने कहा कि देश में खेल की बेहतरी के लिए बीसीसीआई प्रमुख अच्छा काम कर रहे हैं. 

यह भी पढ़ें: IND vs BAN: पिंक बॉल टेस्ट जीतने बाद बोले विराट, 'ये सब दादा की टीम से शुरू हुआ था...'

मजबूत होगा भारतीय क्रिकेट
कप्तान ने कहा, "दादा (गांगुली) के साथ साथ सभी मामलों पर विचार करने के लिए दरवाजे खुले हैं. वह एक टीम के रूप में हमारे विचारों को समझने के लिए उपलब्ध हैं. वह टेस्ट क्रिकेट की बेहतरी के लिए काम कर रहे हैं और और इससे भारतीय क्रिकेट मजबूत होगा."

टेस्ट क्रिकेट का मार्केट अहम
विराट ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट का अच्छे से मार्केटिंग करने और इस प्रारूप के अच्छे खिलाड़ियों को सेंट्रल अनुबंध में शामिल करने की जरूरत है. कोहली ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, "वनडे और टी-20 की तरह ही टेस्ट क्रिकेट का मार्केट भी अहम है. यह केवल खिलाड़ियों का काम नहीं है. लेकिन इसे क्रिकेट बोर्ड और घरेलू प्रसारणकर्ता से भी दूर ले जाने की जरूरत है." 

टी20 क्रिेकेट पर ही ध्यान न हो
विराट कोहली ने टी20 क्रिकेट और उसके टेस्ट पर प्रभाव के बारे में भी बात की उन्होंने कहा, "अगर आप केवल टी-20 क्रिकेट में ही रोमांच लाते हैं और टेस्ट क्रिकेट में ज्यादा नहीं लाते हैं तो फिर फैन्स के बीच यह एक अलग तरह की धारणा बना लेती है."

टेस्ट स्पेशलिस्ट को न हो समस्या
कोहली ने टेस्ट स्पेशलिस्ट के वित्तीय सुरक्षा पर कहा, "अगर आप टेस्ट क्रिकेट को अच्छी वित्तीय स्थिति में नहीं रखते हैं तो इससे प्रेरणा कम हो जाएगी. अगर एक खिलाड़ी 20 ओवर खेलता है और गेंदबाज केवल चार ओवर डालता है तो फिर आप केवल टी-20 खेलना पसंद करेंगे. इसे केवल सेंट्रल अनुबंध के जरिए ही हल किया जा सकता है."

सकारात्मक बदलाव होंगे
आगे के बारे में विराट ने कहा, "हम सही दिशा में आगे बढ़ हैं. उनके नेतृत्व में हमें अधिक सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेंगे जो कि क्रिकेट के लिए खास होगा. साथ ही टेस्ट क्रिकेट को प्राथमिकता दी जाएगी."
(इनपुट आईएएनएस)