Zee Rozgar Samachar

स्टीमाक के कोच बनने से खुश हैं भारतीय खिलाड़ी, कहा- अनुभव से बहुत लाभ होगा

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) ने स्टीमाक के साथ दो साल का करार किया है.

स्टीमाक के कोच बनने से खुश हैं भारतीय खिलाड़ी, कहा- अनुभव से बहुत लाभ होगा
अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) ने स्टीमाक के साथ दो साल का करार किया है. (फोटो: IANS)

नई दिल्ली: क्रोएशिया के इगोर स्टीमाक (Igor Stimac) के भारतीय फुटबॉल टीम के कोच बनने पर खिलाड़ियों ने अपनी खुशी जाहिर की और कहा कि उन्हें नए कोच के अनुभव से बहुत लाभ होगा. अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) ने स्टीमाक के साथ दो साल का करार किया है. टीम के कप्तान सुनील छेत्री ने स्टीमाक के मुख्य कोच के रूप में नियुक्त होने के बाद ट्वीट किया, "मैं नए बॉस इगोर स्टीमाक को भारतीय फुटबॉल टीम का कोच बनने पर शुभकामनाएं देता हूं और उनका स्वागत करता हूं. उनके पास ऊंचे स्तर पर कोचिंग का अच्छा अनुभव है और हमें उसका लाभ मिलेगा."

छेत्री ने कहा, "टीम के खिलाड़ी अपना 100 प्रतिशत देंगे. मैंने टीम के खिलाड़ियों से बात कर ली है और हमने अपनी फिटनेस पर भी काम करना शुरू कर दिया है क्योंकि हमें जल्द ही परिस्थितियों के अनुरूप होना है."

टीम ने अनुभवी डिफेंडर संदेश झिंगन ने भी स्टीमाक के टीम से जुड़ने पर खुशी व्यक्ति की. एआईएफएफ ने झिंगन के हवाले से बताया, "अभी क्रोएशिया फीफा रैंकिंग में पांचवें पायदान पर काबिज है और स्टीमाक का इसमें बहुत योगदान रहा है जो उनकी सकारात्मक दृष्टि को दर्शाता है. व्यक्तिगत रूप से यह मेरे लिए बड़ा बोनस है क्योंकि एक खिलाड़ी के रूप में वह एक डिफेंडर थे और 1998 विश्व कप में उनका प्रदर्शन दमदार रहा था. यह मेरे लिए सीखने का बहुत अच्छा मौका है."

स्टीमाक के मार्गदर्शन में 5 जून से थाईलैंड में शुरू होने वाले किंग्स कप में पहली बार भारतीय टीम खेलेगी. भारतीय टीम को किंग्स कप के बाद जुलाई में इंटरकॉन्टिनेंटल कप में भी भाग लेना है. भारत के अलावा सीरिया, उत्तर कोरिया और ताजिकिस्तान की फुटबॉल टीमें भी सात जुलाई से शुरू होने वाले इंटरकॉन्टिनेंटल कप में हिस्सा लेंगी.

मेजबान टीम इस टूर्नामेंट में अपना खिताब बचाने उतरेगी. भारत ने इसके पहले संस्करण में केन्या को हराकर खिताब जीता था.

(इनपुट-आईएएनएस)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.