भारत जामठा में ऑस्ट्रेलिया से कभी नहीं हारा; जानिए इस मैदान से जुड़े 10 Facts..

मेजबान भारत ने नागपुर के वीसीए, जामठा स्टेडियम में 5 मैच खेले है. वह इस मैदान पर ऑस्ट्रेलिया को तीन बार हरा चुका है.

भारत जामठा में ऑस्ट्रेलिया से कभी नहीं हारा; जानिए इस मैदान से जुड़े 10 Facts..

नागपुर: भारत और ऑस्ट्रेलिया ( India vs Australia) के बीच मंगलवार को दोपहर 1.30 बजे से दूसरा वनडे मैच (Nagpur ODI) खेला जाना है. यह मैच नागपुर के जामठा के विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन (वीसीए) स्टेडियम में खेला जाएगा. यह मैदान भारत के लिए ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अब तक भाग्यशाली रहा है. इन दोनों टीमों के बीच इस मैदान (VCA Stadium, Jamtha) पर अब तक तीन वनडे मैच खेले गए हैं. इन सभी में भारतीय टीम विजयी रही है. इस मैदान से जुड़े 10 रिकॉर्ड और दिलचस्प फैक्ट...

1. भारत ने इस मैदान पर कुल पांच मैच खेले हैं. उसने इनमें से तीन मुकाबलों में ऑस्ट्रेलिया को हराया है. बाकी दो मैचों में उसे दक्षिण अफ्रीका और श्रीलंका से हार का सामना करना पड़ा है. 

2. ऑस्ट्रेलिया ने इस मैदान पर कुल चार मैच खेले हैं. उसे भारत के खिलाफ तीन मैचों में हार का सामना करना पड़ा है. हालांकि, वह यहां अपनी पड़ोसी टीम न्यूजीलैंड को हराया चुका है. 

3. नागपुर के इस स्टेडियम में सबसे अधिक रन बनाने का रिकॉर्ड एमएस धोनी (MS Dhoni) के नाम है. उन्होंने यहां पांच मैच में 134 की औसत से 268 रन बनाए हैं. विराट कोहली (209) दूसरे नंबर पर है. 

यह भी पढ़ें: INDvsAUS: टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया पर दूसरी जीत की तलाश, Playing XI में कर सकती है एक बदलाव

4. इस मैदान पर सबसे बड़ा स्कोर बनाने का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के जॉर्ज बेली (George Bailey) के नाम है. उन्होंने यहां 2103 में भारत के खिलाफ 156 रन की पारी खेली थी. इसके बावजूद उनकी टीम हार गई थी. 

5. एमएस धोनी ने इस मैदान पर सबसे अधिक 2 शतक लगाए हैं. विराट कोहली (Virat Kohli), रोहित शर्मा, सचिन तेंदुलकर, शिखर धवन, जॉर्ज बेली, शेन वाटसन, तिलकरत्ने दिलशान और रेयान टेन डोश्चेज यहां एक-एक शतक बना चुके हैं. 
 

MS Dhoni

6. इस मैदान पर सबसे बड़ा स्कोर भारत ने बनाया है. उसने यहां 2009 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 7 विकेट पर 354 रन बनाए थे. भारत ने यह मैच 99 रन से जीता था. 

7. जामठा के मैदान को हाईस्कोरिंग ग्राउंड माना जा सकता है. यहां खेले गए मैचों में सिर्फ एक टीम 200 से कम के स्कोर पर आउट हुई है. कनाडा की टीम यहां 2011 में 123 रन पर सिमट गई थी. 

यह भी पढ़ें: World Cup 2019: धोनी ही नहीं, इन भारतीयों का भी यह आखिरी विश्व कप हो सकता है

8. ऑस्ट्रेलिया के मिचेल जॉनसन (Mitchell Johnson) इस मैदान के सबसे सफल गेंदबाज हैं. उन्होंने यहां तीन मैच खेलकर नौ विकेट झटके हैं. डेल स्टेन, हरभजन सिंह, रवींद्र जडेजा पांच-पांच विकेट ले चुके हैं. 

9. रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने इस मैदान पर सबसे अधिक 8 छक्के लगाए हैं. जॉर्ज बेली ने यहां छह और एमएस धोनी ने पांच छक्के मारे हैं. सुरेश रैना और शेन वाटसन ने 4-4 छक्के जमाए हैं. 

10. इस मैदान पर सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड जिम्बाब्वे के नाम है. उसने 2011 में कनाडा को 175 रन से हराया था. विकेटों के मामले में भारत और ऑस्ट्रेलिया बराबरी पर हैं. दोनों ही यहां एक-एक मैच सात-सात विकेट से जीत चुके हैं.