INDvsNZ: वेलिंगटन टी20 में टीम इंडिया की बड़ी हार के 5 कारण

वेलिंगटन टी20 टीम इंडिया हर विभाग में नाकाम नजर आई. 

INDvsNZ: वेलिंगटन टी20 में टीम इंडिया की बड़ी हार के 5 कारण
रोहित शर्मा के लिए वेलिगंटन टी20 मैच एक बहुत ही बुरा सपना साबित हुआ. (फोटो: IANS)

वेलिंगटन: टीम इंडिया की वेलिंगटन में हुए पहले टी20 मैच में न्यूजीैलैंड के खिलाफ 80 रनों की बड़ी हार हुई. इसी मैदान पर तीन दिन पहले टीम इंडिया ने शानदार खेल दिखाते हुए खराब शुरुआत के बावजूद जीत हासिल की थी. बुधवार को हालात बिलकुल अगल ही थे और जहां न्यूजीलैंड ने शानदार बल्लेबाजी और गेंदबाजी की वहीं टीम इंडिया का प्रदर्शन भी औसत से काफी नीचे रहा.

न्यूजीलैंड ने भारत के सामने 220 रनों की चुनौती रखी.  टीम इंडिया की पूरी टीम 20 ओवर से पहले ही केवल 139 रनों पर सिमट गई. टीम के लिए सबसे ज्यादा रन एमएस धोनी ने 39 रन बनाए. भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर किवी टीम को पहले बल्लेबाजी के लिए बुलाया. मेजबान टीम के बल्लेबाजों ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए निर्धारित 20 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 219 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया. किवी टीम के लिए टिम सेइफेर्ट ने 43 गेंदों में सात चौके और छह छक्कों की मदद से 84 रनों की तूफानी पारी खेली. टीम की हार के पांच प्रमुख कारण थे. 

1 टीम इंडिया की लचर गेंदबाजी
टीम इंडिया की ओर से गेंदबाजों ने कापी दिशाहीन गेंदबाजी की गेंदबाज दिशा से भटकते नजर आए. पहले भुवी और खलील अहमद बेअसर दिखे और कभी ऐसा लगा ही  नहीं कि वे बढ़िया गेंदबाजी कर रहे हैं. भुवी ने पहले ओवर में जरूर अच्छी गेंदबाजी की लेकिन उसके बाद तो टीम इंडिया के सभी गेंदबाजों की धुनाई ही होती रही. भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद, क्रुणाल पांड्या, युजवेंद्र चहल, 

2. टीम इंडिया की गैरजिम्मेदाराना बल्लेबाजी
इस मैच में टीम इंडिया की बल्लेबाजी काफी गैर जिम्मेदार रही. टीम इंडिया के बल्लेबाज हमेशा रन बनाने की जल्दी में दिखे जिसके फायदा उठाकर ऩ्यूजीलैंड के गेंदबाज कसी हुई गेंदबाजी कर सके. भारतीय बल्लेबाजों पर रन बनाने का दबाव साफ दिखा. यही वजह रही की ज्यादातर बल्लेबाज बड़ा शॉट लगाने के चक्कर में आउट हुए. वहीं धवन और पंत शानदार यार्कर गेंद पढ़ नहीं पाए और बोल्ड आउट हो गए. 

3. रोहित शर्मा की खराब कप्तानी
इस मैच में एक बार फिर रोहित की कप्तानी में रणनीति का अभाव दिखा. रोहित की न तो फील्डिंग में और न ही गेंदबाजों के चुनाव में कोई रणनीति दिखी.  भारतीय गेंदबाजों को तो देखकर लग रहा था कि वे यह तय नहीं कर पा रहे हैं कि वे चाहते क्या हैं. गेंदबाजी और फिल्डिंग में तालमेल में कमी साफ झलकी. रोहित दोनों को साथ लाने में पूरी तरह से नाकाम रहे. ऐसा ही कुछ उनकी बल्लेबाजी में भी दिखा वे शुरु से तेजी से रन बनाने को बेताब दिखे जिससे न्यूजीलैंड के गेंदबाजों को उनपर काबू करने में खासी आसानी हो गई. 

4. टीम इंडिया की खराब फील्डिंग
इस मैच में टीम इंडिया की खराब फिल्डिंग भी एक खास कारण रही. दिनेश कार्तिक ने बेशक एक बेहतरतीन कैच पकड़ा लेकिन उन्होंने दो कैच भी छोड़े एक कैच रॉस टेलर का था और एक टिम सेइफर्ट का था जिन्होंने सबसे ज्यादा 84 रनों की पारी खेली. दिनेश ने 11वें ओवर में सेइफर्ट को ड्रॉप किया जब वे 73 रन के निजी स्कोर पर थे. 

5. विलियम्सन की शानदार कप्तानी
इस मैच में जहां रोहित शर्मा की कप्तानी की खामियां सामने आई तो केन विलियम्स ने भी बता दिया के वे एक शानदार कप्तान हैं.  विलियम्सन ने बड़े स्कोर का बखूबी फायदा उठाया और टीम इंडिया पर सफलता पूर्वक दबाव बनाया. इसमें विलियम्सन की फील्ड प्लेसमेंट शानदार रही और खिलाड़ियों ने अपने कप्तान का बखूबी साथ देते हुए शानदार फिल्डिंग की.