INDvsSA: दक्षिण अफ्रीका को ऐतिहासिक हार के बाद एक और झटका, यह गेंदबाज हुआ टीम से बाहर

India vs South Africa: भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच अब तीसरा और अंतिम टेस्ट मैच रांची में 19 अक्टूबर से खेला जाएगा. 

INDvsSA: दक्षिण अफ्रीका को ऐतिहासिक हार के बाद एक और झटका, यह गेंदबाज हुआ टीम से बाहर
केशव महाराज ने पुणे टेस्ट की पहली पारी में 72 और दूसरी पारी में 22 रन बनाए थे. (फोटो: IANS)

नई दिल्ली: भारत के खिलाफ लगातार दो टेस्ट मैच हार चुके दक्षिण अफ्रीका (South Africa) को तीसरे टेस्ट से पहले बड़ा झटका लगा है. पुणे में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में उसके टॉप स्कोरर रहे केशव महाराज (Keshav Maharaj) चोट के कारण अगले मैच से बाहर हो गए हैं. केशव महाराज ने पुणे टेस्ट की पहली पारी में 72 और दूसरी पारी में 22 रन बनाए थे. महाराज वैसे स्पेशलिस्ट गेंदबाज हैं. भारत और दक्षिण अफ्रीका (India vs South Africa) के बीच अब तीसरा और अंतिम टेस्ट मैच रांची में 19 अक्टूबर से खेला जाएगा. 

29 साल के केशव महाराज ने दक्षिण अफ्रीका के लिए अब तक 27 टेस्ट मैच खेले हैं. वे मेहमान टीम के स्पिन अटैक के मुख्य हथियार हैं. उन्होंने पुणे टेस्ट की पहली पारी में 50 ओवर की गेंदबाजी की. हालांकि, उन्हें ज्यादा कामयाबी नहीं मिली और वे सिर्फ एक विकेट ही ले सके. उन्होंने पहले टेस्ट मैच में पहली पारी में तीन और दूसरी पारी में दो विकेट लिए थे. 

यह भी पढ़ें: INDvsSA: कोहली ने बताया अपना सबसे बड़ा लक्ष्य, कहा-रन बनाना नहीं, बल्कि...

दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट बोर्ड (CSA) ने दूसरे टेस्ट मैच के बाद बताया कि केशव महाराज के कंधे में चोट है. इस वजह से वे रांची में होने वाले तीसरे टेस्ट मैच में नहीं खेल पाएंगे. उन्हें वापसी करने में दो से तीन सप्ताह तक का वक्त लग सकता है. इस वजह से केशव की जगह जॉर्ज लिंडे (George Linde) को टीम में शामिल किया गया है. 27 साल के जॉर्ज लिंडे ने अभी तक एक भी टेस्ट मैच नहीं खेला है. 

दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट (CSA) ने बताया कि केशव महाराज को मैच के दूसरे ही दिन चोट लग गई थी. हालांकि, उन्होंने इसके बावजूद दोनों पारियों में बैटिंग की. उन्होंने पहली पारी में 72 रन बनाए, जो उनके टेस्ट करियर का सबसे बड़ा स्कोर भी है. 

यह भी पढ़ें: विजय हजारे ट्रॉफी: संजू सैमसन ने ठोका दोहरा शतक, सबसे बड़ी पारी का रिकॉर्ड भी बनाया

बता दें कि दक्षिण अफ्रीका को पुणे टेस्ट में पारी व 137 रन से करारी शिकस्त झेलनी पड़ी. यह भारत के खिलाफ टेस्ट मैचों में उसकी सबसे बड़ी हार है. इससे पहले भारत के खिलाफ उसकी सबसे बड़ी हार का रिकॉर्ड पारी व 57 रन से था.