close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

INDvsWI: अगर मौका मिला तो मुरलीधरन का रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं अश्विन

टीम इंडिया ने रविचंद्रन अश्विन को वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच की प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किया था. 

INDvsWI: अगर मौका मिला तो मुरलीधरन का रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं अश्विन
रविचंद्रन अश्विन विंडीज के खिलाफ 60 विकेट ले चुके हैं और 4 शतक भी लगा चुके हैं. (फोटो: IANS)

नई दिल्ली: ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) मौजूदा भारतीय टीम के सबसे कामयाब गेंदबाज हैं. उनका वेस्टइंडीज (West Indies) के खिलाफ बेहतरीन रिकॉर्ड भी है. विंडीज एक तरह से उनकी पसंदीदा विरोधी टीम भी है. अब वे मौके के इंतजार में हैं. अश्विन को अगर दूसरे टेस्ट में प्लेइंग इलेवन में जगह मिलती है तो वे एक रिकॉर्ड बना सकते हैं. टीम इंडिया (Team India) ने अश्विन को पहले टेस्ट मैच की प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किया था. 

भारत ने पहले टेस्ट मैच में वेस्टइंडीज (India vs West Indies) को 318 रन से हराया था. इस मैच में भारतीय टीम की ओर से खेलने वाले एकमात्र स्पिनर रवींद्र जडेजा थे. जडेजा ने पहली पारी में अर्धशतक बनाया था. उन्होंने मैच में दो विकेट लिए थे. ऐसे में दूसरे टेस्ट मैच के लिए वे टीम की पहली पसंद बने रहेंगे. लेकिन अगर पिच सूखी हुई, तो भारतीय टीम दो स्पिनरों के साथ उतर सकती है. ऐसे में रविचंद्रन अश्विन को खेलने का मौका मिल सकता है. दूसरा टेस्ट किंग्सटन में 30 अगस्त से खेला जाएगा. 

यह भी पढ़ें: Sports Day: ध्यानचंद की वो 10 बातें, जिसने उन्हें जादूगर और सबसे बड़ा ‘खेल रत्न’ बनाया

रविचंद्रन अश्विन ने अब तक 65 टेस्ट मैच में 342 विकेट लिए हैं और 2361 रन बनाए हैं. अश्विन को विंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट में खेलने का मौका मिला तो वे सबसे तेजी से 350 विकेट लेने का रिकॉर्ड बना सकते हैं. अभी यह रिकॉर्ड श्रीलंका के दिग्गज मुथैया मुरलीधरन के नाम है. मुरलीधरन ने 66 टेस्ट में 350 विकेट हासिल किए थे.

यह भी पढ़ें: एंडी रॉबर्ट्स ने बताई बुमराह की सबसे बड़ी खासियत, कहा- भारत में फिर नहीं होगा ऐसा बॉलर

रविचंद्रन अश्विन ने वेस्टइंडीज के खिलाफ अब तक 11 11 टेस्ट मैच खेले हैं. उन्होंने इन 11 टेस्ट में 21.85 की औसत से 60 विकेट लिए हैं. इसके अलावा विंडीज के खिलाफ चार शतक भी वे जमा चुके हैं. अश्विन ने आखिरी टेस्ट पिछले साल दिसंबर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था. इसके बाद वे चोट के कारण टीम से बाहर हो गए. इसके बाद उन्होंने टीम इंडिया में जगह तो बना ली, लेकिन प्लेइंग इलेवन में ऐसा नहीं कर पा रहे हैं.