IPL-12: दिल्ली से हार के बावजूद प्लेऑफ में पहुंच सकता है बेंगलुरू, जानें कैसे...

बेंगलुरू की टीम 12 अंक के साथ भी प्लेऑफ में प्रवेश कर सकती है. लेकिन ऐसा तभी होगा, जब अन्य टीमों के रिजल्ट उसकी मदद करें.

IPL-12: दिल्ली से हार के बावजूद प्लेऑफ में पहुंच सकता है बेंगलुरू, जानें कैसे...
बेंगलुरू के कप्तान विराट कोहली अपने साथी खिलाड़ियों के साथ. (फोटो: IANS)

नई दिल्ली: इंडियन टी20 लीग (आईपीएल) का 12वां सीजन अब उस दौर में है, जहां मैच के साथ-साथ प्वाइंट टेबल भी रोमांच बढ़ा रहा है. शनिवार (27 अप्रैल) तक चेन्नई की टीम 16 अंक के साथ प्वाइंट टेबल पर टॉप पर थी और बेंगलुरू (Royal Challengers Bangalore) की टीम आठ अंकों के साथ सबसे नीचे थी. इस प्वाइंट टेबल के बाद बेंगलुरू और दिल्ली (Delhi Capitals) के मैच को करो या मरो का बताया गया. कहा गया कि अगर बेंगलुरू रविवार (28 अप्रैल) का यह मैच हार जाए तो वह प्लेऑफ की रेस से बाहर हो जाएगी. लेकिन हम बता दें कि ऐसा नहीं होने जा रहा है. अभी प्लेऑफ का समीकरण ऐसा है कि बेंगलुरू की टीम दिल्ली से हारकर भी प्लेऑफ में पहुंच सकती है. 

दरअसल, बेंगलुरू की टीम को दिल्ली से मुकाबले के बाद भी दो मैच खेलने हैं. अगर वह दिल्ली से हारने के बाद अगले दो मैच जीत ले तो उसके 12 अंक हो जाएंगे. वह 12 अंकों के साथ भी प्लेऑफ खेल सकती है. लेकिन ऐसा तभी होगा, जब बाकी टीमों के नतीजे ऐसे आएं, जिससे बेंगलुरू को फायदा हो. हम आपको टीमवार बताते हैं कि किस टीम का कौन सा रिजल्ट बेंगलुरू के पक्ष में जा सकता है. इसे हर टीम के मैचों के समीकरण से समझें: 

1. चेन्नई (Chennai Super Kings): इस टीम को अभी दो मैच खेलने हैं. उसके ये मैच दिल्ली और पंजाब से हैं. अगर वह ये दोनों मैच जीत ले तो उसके 20 अंक हो जाएंगे. अगर वह दिल्ली से हार भी जाए, तब भी पंजाब को जरूर हराए. इसका सीधा फायदा बेंगलुरू जैसी टीमों को मिलेगा.  

2. मुंबई (Mumbai Indians):  इस टीम को अब कोलकाता से दो मैच और हैदराबाद से एक मैच खेलना है. यदि मुंबई तीनों मैच जीत ले तो उसके 20 अंक हो जाएंगे और केकेआर और हैदराबाद को झटका लगेगा. इसका फायदा बेंगलुरू को मिलेगा.  

3. दिल्ली (Delhi Capitals): इस टीम को बेंगलुरू के बाद दो मैच और  (विरुद्ध चेन्नई, राजस्थान) खेलने हैं. अगर वह राजस्थान को हरा दे तो उसके 18 अंक हो जाएंगे. राजस्थान को लगा झटका, बेंगलुरू के लिए फायदेमंद साबित होगा.  
 
4. हैदराबाद (Sunrisers Hyderabad): इस टीम को तीन मैच (विरुद्ध पंजाब, बेंगलुरू और मुंबई ) खेलने हैं. अगर वह तीनों मैच हारे तो उसके अधिकतम 10 अंक होंगे. वह खुद ब खुद प्लेऑफ से बाहर हो जाएगी.   

5. पंजाब (Kings XI Punjab): इस टीम को तीन मैच (विरुद्ध चेन्नई, हैदराबाद और कोलकाता) खेलने हैं. अगर वह चेन्नई-कोलकाता से हारे और हैदराबाद से जीते तो उसके अधिकतम 12 अंक होंगे. ऐसे में नेट रनरेट महत्वपूर्ण हो जाएगा. 

6. राजस्थान (Rajasthan Royals): अब उसके दो मैच ही बाकी हैं. अगर वह दिल्ली और बेंगलुरू से ये दोनों मैच हारे तो उसके 10 अंक ही रह जाएंगे और वह बाहर हो जाएगी. 

7. कोलकाता (Kolkata Knight Riders): इस टीम को तीन मैच खेलने हैं. अगर वह पंजाब को हरा दे और मुंबई से दोनों मैच हार जाए तो उसके अधिकतम 10 अंक ही रह जाएंगे. 

8. बेंगलुरू (Royal Challengers Bangalore): इस टीम को दिल्ली के बाद राजस्थान और हैदराबाद से खेलना है. अगर विराट कोहली की टीम दिल्ली से हार जाए तो भी उसके पास प्लेऑफ की संभावना बनी रहगी. लेकिन ऐसा तब ही होगा, जब वो अपने दोनों मैच बड़े अंतर से जीते और बाकी मैचों के रिजल्ट वैसे ही आएं, जैसे हमने शुरुआती सात प्वाइंट में बताए हैं. ऐसा होने पर बेंगलुरू 12 अंक के बावजूद प्लेऑफ में पहुंच जाएगा. क्योंकि हारने वाली टीमों के नेट रनरेट कम होते जाएंगे, जबकि बेंगलुरू बड़े अंतर से जीता तो उसका रनरेट सुधरेगा.