दक्षिण अफ्रीका में मेरे पास हीरो बनने का मौका था : अजिंक्य रहाणे

पहले दो टेस्ट मैच हारने के बाद विराट कोहली की टीम ने जोहानिसबर्ग में होने वाले तीसरे टेस्ट मैच के लिए रोहित शर्मा को बाहर करके अंजिक्य रहाणे को मौका दिया था.

दक्षिण अफ्रीका में मेरे पास हीरो बनने का मौका था : अजिंक्य रहाणे
अजिंक्य रहाणे ने कहा, हम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीत सकते थे (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: भारत का दक्षिण अफ्रीका दौरा अब यादों में थोड़ा धुंधला पड़ने लगा है, खासतौर पर निडास ट्रॉफी के लिए टीम इंडिया की तैयारियों के मद्देनजर. इस ट्राई सीरीज में भारत के अलावा बांग्लादेश और श्रीलंका भी भाग ले रहे हैं. छह मार्च से इस सीरीज का आगाज हो चुका है, लेकिन यादों को जरा-सा पीछे ले जाएं तो याद आता है कि भारत 3 टेस्ट मैचों में दक्षिण अफ्रीका से 2-1 से पराजित हुआ था. हालांकि, 6 मैचों की वनडे सीरीज में टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका को 5-1 से मात दी थी और इसके बाद 3 मैचों की टी-20 सीरीज में भारत 2-1 से विजयी रहा था. टेस्ट सीरीज गंवाने के बाद वनडे सीरीज जीतने वाली भारतीय टीम ने आखिरी टी-20 मैच में जीत के साथ ही 8 सप्ताह के दौरे का शानदार अंत किया था. भारत ने अपने दक्षिण अफ्रीका दौरे की शुरुआत न्यूसलैंड के मैदान पर टेस्ट मैच में हार के साथ की थी, लेकिन दौरे का अंत जीत के साथ किया. 

पहले दो टेस्ट मैच हारने के बाद विराट कोहली की टीम ने जोहानिसबर्ग में होने वाले तीसरे टेस्ट मैच के लिए रोहित शर्मा को बाहर करके अंजिक्य रहाणे को मौका दिया था. पहले दोनों टेस्ट मैचों में रोहित शर्मा का बल्ला खामोश रहा था. रोहित को टेस्ट सीरीज में खिलाने के इस फैसले की काफी आलोचना भी हुई थी. 

खासतौर पर यह देखते हुए कि रोहित शर्मा का विदेशी पिचों पर रिकॉर्ड बहुत खराब रहा है. लिहाजा तीसरे टेस्ट में अजिंक्य रहाणे को मौका दिया गया. रहाणे ने एक अखबार से बातचीत में उस टेस्ट मैच को याद करते हुए कहा, ''इस टेस्ट में मौका मिलना उनके लिए हीरो बनने का सुनहरे अवसर था. जब मुझे पता चला कि मैं तीसरा टेस्ट खेलने जा रहा हूं तो मैं सिर्फ बेहतर परफॉर्म करने के बारे में सोच रहा था. मेरे लिए यह हीरो बनने का अवसर था.''

रहाणे की पारी के मुरीद हुए गांगुली, कहा- कोहली से कहीं कम नहीं रहे

इस टेस्ट मैच में रहाणे ने अहम मौके पर 48 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली थी और भारत ने यह टेस्ट मैच 63 रनों से जीत लिया था. रहाणे ने कहा कि काफी इंतजार के बाद खेलने का मौका मिला था. इसलिए मेरे भीतर रनों की भूख थी और मजबूत इरादा था. 

उन्होंने बताया, ''मैं ड्रेसिंग रूम में अकेला बैठा अपने शॉट्स सलेक्शन के बारे में कल्पना कर रहा था. इसने मुझे बेहतर परफॉर्म करने के लिए प्रेरित किया. सचमुच इससे मुझे बड़ी मदद मिली. मैं अपनी क्षमताओं और यो जना के बारे में एकमद स्पष्ट था. रहाणे ने कहा, बेशक टेस्ट मैचों में हम लोग सीरीज हार गए, लेकिन इसका श्रेय दक्षिण अफ्रीका की शानदार परफॉर्मेंस को दिया जाना चाहिए.

टी20 मुंबई लीग: अजिंक्य रहाणे, सूर्यकुमार सात-सात लाख रुपये में बिके

अजिंक्य रहाणे ने कहा, ''मैं सिर्फ इतना कह सकता हूं कि हम शानदार खेल और सीरीज जीत सकते थे. हमारे गेंदबाजों ने तीनों टेस्ट मैचों में अफ्रीका के 60 विकेट लिए, जो बड़ी बात है.'' उन्होंने कहा, हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि दक्षिण अफ्रीका टेस्ट में हमसे बेहतर खेला. उन्होंने हमारे बल्लेबाजों को टिकने नहीं दिया. यदि हमारे बल्लेबाज पहले दो टेस्ट में अच्छी साझेदारियां करते तो हम तीनों टेस्ट जीत सकते थे.