VIDEO : विराट कोहली के 'दुश्मन' ने की कपिल देव के रिकॉर्ड की बराबरी

कपिल देव ने 23 बार पारी में पांच और दो बार मैच में दस विकेट लिए थे.

VIDEO : विराट कोहली के 'दुश्मन' ने की कपिल देव के रिकॉर्ड की बराबरी
एंडरसन से पहले यह करिश्मा भारतीय टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव कर चुके हैं.

नई दिल्ली : इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन हेडिंग्ले में वेस्ट इंडीज के साथ दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन अपने शानदार स्विंग्स का जलवा जारी रखते हुए पांच विकेट हासिल किए. इसके साथ ही एंडरसन पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव के साथ दूसरे ऐसे गेंदबाज बन गए, जिन्होंने एक पारी में 23वीं बार पांच या उससे अधिक विकेट लिए हैं. यह टेस्ट मैच लाल गेंद से खेला जा रहा है. वेस्ट इंडीज ने मैच के तीसरे दिन पांच विकेट पर 329 रन बनाए थे. शाई होप वेस्ट इंडीज टीम की बड़ा स्कोर करने की अंतिम होप रही. 

जेरमीन ब्लैकवुड ने 21 रन बनाए. मैच के तीसरे दिन आक्रमण के लिए गेंद एंडरसन को सौंपी गई. होप स्ट्राइक पर थे. इंग्लैंड के सबसे प्रभावशाली गेंदबाज एंडरसन ने सीधी शॉर्ट ऑफ लेंथ गेंद फेंकी, गेंद ने होप के बल्ले को चूमा और विकेटकीपर बेयरस्टो के दस्ताने में जाकर ठहर गयी. यह दिन की पहली गेंद थी, जिसने होप के विकेट के साथ बड़ा स्कोर बनाने की वेस्टइंडीज की उम्मीदों को करारा झटका दिया. . 

होप के आउट होने के बाद क्रीज पर शेन डावरिच आए. एंडरसन ने ओवर की दूसरी गेंद भी पहली गेंद की ही तरह फेंकी. गेंद बाहर की तरफ जा रही थी. डावरिच ने गेंद पर बल्ला लगाया और गेंद इंग्लैंड के कप्तान जो रूट के हाथों में पहुंच गई. डावरिच पहली ही गेंद पर आउट हो गए. डोवरिच की इस विकेट के साथ ही वह टेस्ट मैच में 23वीं बार 5 विकेट लेने वाले खिलाड़ी बन गए. एंडरसन से पहले यह करिश्मा भारतीय टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव कर चुके हैं. मैच के पहले दिन एंडरसन ने देवेंद्र बिशू और दूसरे दिन काइले होप उनका शिकार बने.

बता दें कि कपिल देव ने 23 बार पारी में पांच और दो बार मैच में दस विकेट लिए थे. कपिल ने अपने टेस्‍ट करियर में 434 विकेट लिए हैं. मुरलीधरन टेस्ट इतिहास में सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं. पारी में पांच या इससे अधिक विकेट लेने का रिकॉर्ड श्रीलंका के करिश्‍माई ऑफ स्पिनर मुथैया मुरलीधरन के नाम पर हैं, जिन्‍होंने 137 टेस्‍ट में 67 बार यह काम किया. मुरली ने 22 बार मैच में 10 या इससे अधिक विकेट लेने की उपलब्धि हासिल की.

गौरतलब है कि पिछले साल इंग्‍लैंड के तेज गेंदबाज जेम्‍स एंडरसन इस समय टीम इंडिया के टेस्‍ट कप्‍तान विराट कोहली की बल्‍लेबाजी को लेकर अपने बयान के कारण पूर्व क्रिकेटरों और क्रिकेट समीक्षकों के निशाने पर रहे थे. जब विराट कोहली की जबर्दस्‍त बल्‍लेबाजी की पूरा क्रिकेट जगत जमकर प्रशंसा कर रहा था, एंडरसन ने उनके बारे में ऐसा बयान दिया था जो किसी को पसंद नहीं आया था. 

पिछले साल मुंबई टेस्‍ट में विराट कोहली की जबर्दस्‍त बल्‍लेबाजी के बीच जब एंडरसन से पूछा गया कि कोहली की बैटिंग तकनीक में क्या बदलाव आया है तो इंग्‍लैंड के तेज गेंदबाज ने कहा था, ‘मुझे नहीं लगता कि कोई बदलाव आया है. मुझे सिर्फ इतना लगता है कि उसके अंदर जो तकनीकी खामियां हैं वह यहां नजर नहीं आ रही हैं. विकेटों ने इसे समीकरण से बाहर कर दिया है. विकेट में इतनी गति नहीं है कि गेंद बल्ले का किनारा ले जैसा कि हमनें इंग्लैंड में कुछ अधिक मूवमेंट के साथ उसके खिलाफ किया था.’

टेस्ट मैचों में इंग्लैंड के सबसे सफल गेंदबाज एंडरसन ने चौथे क्रिकेट टेस्ट के चौथे दिन के खेल के बाद कहा था, ‘जब यह (गति और मूवमेंट) नहीं होते, तो वह (कोहली) इस तरह के हालात में खेलने का आदी है वह स्पिन का काफी अच्छा खिलाड़ी है और अगर आप सटीक नहीं हो और मौकों का फायदा नहीं उठाते तो वह आपको परेशान करेगा.’