Breaking News

टेस्ट हुआ ड्रॉ तो रूट और स्मिथ ने पिच को बताया खलनायक

इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया दोनों के कप्तानों ने पिच की आलोचना की.

टेस्ट हुआ ड्रॉ तो रूट और स्मिथ ने पिच को बताया खलनायक
एशेज का चौथा टेस्ट बिना किसी नतीजे के समाप्त हो गया. फोटो : क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया

मेलबर्न : आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड दोनों टीम के कप्तानों ने यहां चौथे एशेज टेस्ट के ड्रा पर समाप्त होने के बाद निर्जीव मेलबर्न पिच की आलोचना की जो बाक्सिंग डे टेस्ट में 20 वर्षों में दूसरा ड्रा मुकाबला है. मेलबर्न क्रिकेट मैदान की पिच गेंदबाजों के लिये निराशाजनक साबित हुई जिसमें 1,081 रन जुटाये गये और 5 दिन में केवल 24 विकेट ही गिरे. इस सपाट और निर्जीव पिच की काफी आलोचना हुई क्योंकि यह बाक्सिंग डे एशेज जैसे बड़े टेस्ट के लायक नहीं थी.

आस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने ड्रा मैच के अंतिम दिन नाबाद 102 रन बनाये. उन्होंने कहा, ‘इसमें पिछले 5 दिन में कोई बदलाव नहीं हुआ है और मैं कहूंगा कि अगर हम अगले दो दिन भी खेलेंगे तो शायद इसमें फिर भी कोई बदलाव नहीं होगा.’ इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने कहा कि पिच बॉक्सिंग डे टेस्ट के लिये उचित नहीं थी. उन्होंने कहा, ‘खिलाड़ी के तौर पर आपके सामने जो कुछ भी है, आप सिर्फ उसी पर ही प्रतिक्रिया दे सकते हो.’

इंग्लैंड का जज्बा शानदार था : रूट
एशेज में चौथे टेस्ट के ड्रॉ होने पर इंग्लैंड के कप्तान जो रूट का कहना है कि सभी की निगाहें सिडनी में होने वाले अंतिम टेस्ट में सम्मान बचाने वाली जीत दर्ज करने पर लगी हुई हैं. बाक्सिंग डे टेस्ट में ज्यादातर समय मेहमान टीम अच्छी स्थिति में बनी हुई थी और उसने एमसीजी पिच पर आस्ट्रेलिया को 327 रन के स्कोर पर समेटकर एलिस्टर कुक के नाबाद 244 रन की बदौलत 164 रन की बढ़त बना ली थी.

शास्त्री ने इशारों में 4 साल पुरानी टीम इंडिया पर कसा तंज, धोनी समर्थक हो सकते हैं नाराज

लेकिन आस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने अंतिम दिन पूरे दिन बल्लेबाजी कर नाबाद 102 रन पर खेल रहे थे जब मैच ड्रा करने का फैसला हुआ जिससे मेहमान टीम चार टेस्ट में एक में भी जीत दर्ज नहीं कर पायी. मेजबान टीम सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त से पहले ही एशेज जीत चुकी है और पांचवां टेस्ट अगले हफ्ते सिडनी में शुरू होगा.

युवी और रैना के लिए बुरी खबर, बोर्ड और कड़े करेगा यो यो टेस्ट के नियम

रूट ने कहा, ‘निराश हैं कि हम विकेट नहीं झटक सके, हमने हर चीज करने की कोशिश की लेकिन सभी प्रयास विफल रहे.’ उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन हमने जो प्रदर्शन किया, उससे मुझे गर्व है. पिछले तीन मुश्किल मैचों के बाद इस तरह का प्रदर्शन सचमुच अच्छा था.’