डे-नाइट टेस्ट पर बोले ऑस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर, 'केवल रंग का ही तो अंतर है'

Pink Ball Test: ऑस्ट्रेलिायई कोच जस्टिन लैंग को गुलाबी गेंद और लाल गेंद के क्रिकेट में केवल रंग का हि अंतर नजर आता है. 

डे-नाइट टेस्ट पर बोले ऑस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर, 'केवल रंग का ही तो अंतर है'
जस्टिंन लैंगर को लगता है कि पिंक बॉल टेस्ट में केवल ढलने की ही बात है जो अंतर पैदा करती है. (फाइल फोटो)

एडिलेड: हाल ही में टीम इंडिया (Team India) ने तमाम आशंकाओं के बीच कोलकाता में अपना पहला डे-नाइट टेस्ट (Day-NIght Test) खेला. अब जबकि शुक्रवार से ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान (Australia vs Pakistan) डे-नाइट टेस्ट खेलने जा रहे हैं, मैच से पहले ऑस्टेलिया के कोच जस्टिन लैंगर का मानाना है कि गुलाबी गेंद और लाल गेंद दोनों के टेस्ट में ज्यादा अंतर नहीं है. 

टीम इंडिया ने खेला है हाल ही में डे-नाइट टेस्ट
इससे पहले टीम के कई खिलाड़ियों ने गुलाबी गेंद को लेकर और डे-नाइट टेस्ट के प्रारूप की वजह से आने वाली कुछ समस्याओं के बारे में बात की. तमाम आशंकाओं के बावजूद टीम इंडिया के खिलाड़ियों ने इस प्रारूप को सकारात्मक चुनौती के तौर पर लिया और टीम ने मैच में शानदार जीत भी हासिल की.

यह भी पढ़ें: संन्यास या वापसी के सवाल पर आखिरकार बोले धोनी, 'जनवरी तक मत पूछो'

पहले टेस्ट में एक पारी से जीता है मेजबान
ऑस्ट्रेलिया ने इससे पहले ब्रिस्बेन में हुए दो टेस्ट की सीरीज के पहले मैच में पाकिस्तान को एक पारी और 5 रन से हराया था. अब सीरीज का दूसरा टेस्ट एडिलेड में खेला जाएगा. इस मैच के बाद ऑस्ट्रेलिायाई टीम पर्थ में न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट मैच खेलेगी. इस तरह ऑस्ट्रेलिया पहली बार लगातार दो टेस्ट मैच डे-नाइट प्रारूप वाले टेस्ट मैच खेलेगी. 

ज्यादा अतंर नहीं गुलाबी और लाल टेस्ट में
मैच से पूर्व लैंगर ने संकेत दिया के वे अपनी टीम की प्लेइंग 11 में कोई बदलाव नहीं करेंगे. लेकिन अपने खिलाड़ियों को सलाह देते हुए कहा है कि पिंक बॉल टेस्ट की तैयारी में रिवॉल्यूशन की कम इवोल्यूशन की ज्यादा जरूरत होती है. लैंगर ने कहा कि दोनों तरह के टेस्ट में ज्यादा अंतर नहीं है.  इससे पहले टीम के कई खिलाड़ियों ने गुलाबी गेंद को लेकर और डे-नाइट टेस्ट के प्रारूप की वजह से आने वाली कुछ समस्याओं के बारे में बात की. तमाम आशंकाओं के बावजूद टीम इंडिया के खिलाड़ियों ने इस प्रारूप को सकारात्मक चुनौती के तौर पर लिया और टीम ने मैच में शानदार जीत भी हासिल की.

ढलना होगा प्रारूप के मुताबिक
 इस मैच के बारे में बात करते हुए लैंगर ने कहा, "यहां केवल ढालने की बात है. दोनों प्रारूप में में अंतर केवल रंग का है. बेहतरीन खिलाड़ी इसमें ढल जाते हैं. मैं वह होते देख नहीं रहा हूं. उन्हें लाल गेंद, गुलाबी गेंद और सफेद बॉल में ढलना होगा. उन्हें टेस्ट क्रिकेट, चार दिनी टेस्ट, वनडे क्रिकेट और टी20 क्रिकेट में भी ढलना होगा. बेहतरीन खिलाड़ी ऐसा कर पाते हैं. और बेहतरीन टीम भी."
(इनपुट आईएएनएस)