close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कर्नाटक बना विजय हजारे चैंपियन, अभिमन्यु मिथुन की बर्थडे पर हैट्रिक

Vijay Hazare Trophy: अभिमन्यु मिथुल की हैट्रिक और बारिश की बाधा के बीच कर्नाटक ने चौथा खिताब जीता. 

कर्नाटक बना विजय हजारे चैंपियन, अभिमन्यु मिथुन की बर्थडे पर हैट्रिक
अभिमन्यु मिथुन विजय हजारे ट्रॉफी में हैट्रिक लेने वाले कर्नाटक के पहले गेंदबाज हैं. (फाइल फोटो)

बेंगलुरू: कर्नाटक ने चौथी बार विजय हजारे ट्रॉफी (Vijay Hazare Trophy) का खिताब अपने नाम कर लिया है. मेजबान टीम ने शुक्रवार को अपने घर एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में पांच बार की विजेता तमिलनाडु को बारिश से बाधित मैच में वीजेडी प्रणाली से 60 रनों से हरा दिया. कनार्टक ने अभिमन्यू मिथुन (Abhimanyau Mithun) की हैट्रिक और पांच विकेट के दम पर तमिलनाडु को 49.5 ओवरों में 252 रनों पर रोका और उसके बाद 23 ओवरों में एक विकेट के नुकसान पर 146 रन बना लिए थे. तभी बारिश आ गई और मैच रोक दिया गया.

वीजेडी प्रणाली से मिली कर्नाटक को जीत
बारिश होने के बाद मैच नहीं हो सका और कर्नाटक वीजेडी प्रणाली से मैच जीतने में सफल रही. मैच जब रुका तब कर्नाटक के सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल 52 और मयंक अग्रवाल 69 रन बनाकर खेल रहे थे. राहुल ने 72 गेंदों पर पांच चौकों की मदद से अर्धशतक बनाया तो वहीं मयंक ने 55 गेंदों पर सात चौके और तीन छक्कों की मदद से अर्धशतकीय पारी खेली. मेजबान टीम ने एक मात्र विकेट देवदूत पडीकल (11) का खोया. उन्हें 34 के कुल स्कोर पर वॉशिंगटन सुंदर ने पवेलियन भेजा.

यह भी पढ़ें: अपने पहले चयन में नहीं चुने गए थे सचिन, बच्चों को बताया, फिर कैसे मिली सफलता

अभिमन्यु मिथुन रहे कर्नाटक के हीरो
इससे पहले कर्नाटक के तेज गेंदबाज अभिमन्यु मिथुन ने इस मैच में हैट्रिक ले इतिहास रचा. वह इस टूर्नामेंट में हैट्रिक लेने वाले कर्नाटक के पहले गेंदबाज बन गए हैं. मिथुन ने आखिरी ओवर में तीसरी, चौथी और पांचवीं गेंद पर लगातार तीन विकेट लिए. उन्होंने पहले शाहरूख खान (27), एम. मोहम्मद (0) और मुरुगुन अश्विन (0) को आउट कर तमिलनाडु को ऑल आउट कर अपनी हैट्रिक पूरी की. वह इस टूर्नामेंट में हैट्रिक लेने वाले कर्नाटक के पहले गेंदबाज हैं.

तमिलनाड़ु का टॉप आर्डर रहा फेल
तमिलनाडु का शीर्ष क्रम पूरी तरह से विफल रहा. सिर्फ सलामी बल्लेबाज अभिनव मुकुंद ही विकेट पर टिक सके. उन्होंने टीम के लिए सबसे ज्यादा 85 रन बनाए. मुकुंद ने 110 गेंदों का सामना किया और नौ चौके मारे.
मुकुंद के साथी मुरली विजय शून्य और हाल ही में टेस्ट मैच खेलकर लौटे रविचंद्रन अश्विन आठ रन बना सके. मुकुंद को बाबा अपराजित का साथ मिला. अपराजित ने 84 गेंदों पर 66 रन बनाए और मुकुंद के साथ तीसरे विकेट के लिए 124 रनों की साझेदारी की.

आखिरी ओवर में ली मिथुन ने हैट्रिक
148 के कुल स्कोर पर प्रतीक जैन ने मुकुंद को पवेलियन भेजा. मुकुंद के बाद आए विजय शंकर ने 38 रन बनाकर टीम को मजबूत स्कोर तक पहुंचाने की कोशिश की, लेकिन 178 के कुल स्कोर पर अपराजित रन आउट हो गए और शंकर अकेले पड़ गए.कप्तान दिनेश कार्तिक 11, वॉशिंगटन सुंदर दोनों जल्दी पवेलियन लौट लिए. आखिरी ओवर में मिथुन ने हैट्रिक ले तमिलनाडु को ज्यादा आगे नहीं जाने दिया मिथुन के अलावा वी. कौशिक ने दो विकेट लिए. प्रियम और कृष्णाप्पा गौतम ने एक-एक विकेट लिया.
(इनपुट-आईएएनएस)