WTC Final इंग्लैंड में करवाना सबसे बड़ी बेवकूफी, इस अंग्रेज दिग्गज ने कसा तंज

केविन पीटरसन (Kevin Pirtersen) के मुताबिक बेहद महत्व वाला कोई भी क्रिकेट मैच अपने अस्थिर मौसम के लिये बदनाम इंग्लैंड की धरती पर आयोजित नहीं किया जाना चाहिए.

WTC Final इंग्लैंड में करवाना सबसे बड़ी बेवकूफी, इस अंग्रेज दिग्गज ने कसा तंज
WTC final India vs New Zealand

साउथेम्प्टन: वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप (WTC) फाइनल में बारिश के कहर को देखते हुए इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन (Kevin Pietersen) ने ICC को जमकर लताड़ा है. केविन पीटरसन (Kevin Pirtersen) का मानना है कि इंग्लैंड की धरती पर वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप (WTC) का फाइनल करवाना सबसे बड़ी बेवकूफी है.

केविन पीटरसन ने ICC पर उठाए सवाल 

केविन पीटरसन (Kevin Pirtersen) के मुताबिक बेहद महत्व वाला कोई भी क्रिकेट मैच अपने अस्थिर मौसम के लिये बदनाम इंग्लैंड की धरती पर आयोजित नहीं किया जाना चाहिए. भारत और न्यूजीलैंड के बीच चल रहा फाइनल मैच अब ड्रॉ की तरफ बढ़ता जा रहा है, क्योंकि पिछले चार दिनों में इसमें लगभग 140 ओवर का ही खेल हो पाया है.

इंग्लैंड में नहीं होना चाहिए था WTC Final

केविन पीटरसन (Kevin Pirtersen) ने इस महत्वपूर्ण फाइनल के लिए साउथेम्प्टन को चुनने के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) के फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा, ‘यह कहते हुए मुझे पीड़ा हो रही है, लेकिन कोई भी बेहद महत्वपूर्ण क्रिकेट मैच इंग्लैंड की धरती पर नहीं खेला जाना चाहिए.’

भरोसे से बाहर हैं इंग्लैंड का मौसम 

पीटरसन का मानना है कि फाइनल जैसा मैच दुबई में खेला जाना चाहिए जहां मौसम से जुड़े व्यवधान की बहुत कम संभावनाएं होती हैं. पीटरसन ने कहा, ‘यदि मुझे फैसला करना होता तो मैं डब्ल्यूटीसी फाइनल जैसे मैच के लिए दुबई को मेजबान चुनता. नैसर्गिक स्थल, शानदार स्टेडियम, मौसम अच्छा रहने की गारंटी, अभ्यास की बेहतरीन सुविधाएं और यात्रा के लिए उत्तम जगह और हां स्टेडियम के करीब ही आईसीसी का मुख्यालय भी है.’

सहवाग ने भी उठाए थे सवाल 

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने तो आईसीसी की आलोचना करने में अधिक मजाकिया अंदाज दिखाया. सहवाग ने ट्वीट किया, ‘बैट्समैन (बल्लेबाज) को भी टाइमिंग नहीं मिली ढंग की और आईसीसी को भी.’

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.