KKR vs RCB: मैदान में उतरते ही Virat Kohli के नाम होगी 'डबल सेंचुरी', एकसाथ बनेंगे दो-दो रिकॉर्ड्स
X

KKR vs RCB: मैदान में उतरते ही Virat Kohli के नाम होगी 'डबल सेंचुरी', एकसाथ बनेंगे दो-दो रिकॉर्ड्स

आरसीबी (RCB) की कप्तानी छोड़ने के ऐलान के ठीक एक दिन बाद विराट कोहली (Virat Kohli) आईपीएल इतिहास का एक बड़ा रिकॉर्ड अपने नाम करने वाले हैं.

KKR vs RCB: मैदान में उतरते ही Virat Kohli के नाम होगी 'डबल सेंचुरी', एकसाथ बनेंगे दो-दो रिकॉर्ड्स

नई दिल्ली: आईपीएल 2021 (IPL 2021) में आरसीबी और केकेआर (RCB vs KKR) के बीच मुकाबले के लिए मैदान में उतरते ही विराट कोहली (Virat Kohli) के नाम बड़ा रिकॉर्ड दर्ज हो जाएगा जिससे वो एमएस धोनी (MS Dhoni), रोहित शर्मा (Rohit Sharma) के क्लब में शामिल हो जाएंगे.

विराट बनाएंगे 'डबल सेंचुरी'

विराट कोहली (Virat Kohli) आईपीएल इतिहास में 200 मैच खेलने वाले 5वें खिलाड़ी बन जाएंगे. उनसे ज्यादा मैच सिर्फ एमएस धोनी (MS Dhoni), रोहित शर्मा (Rohit Sharma), दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) और सुरेश रैना (Suresh Raina) ने ही खेले हैं .

यह भी पढ़ें-भारत के इस प्लेयर से थर-थर कांप रहा है पाकिस्तान! टी-20 वर्ल्ड कप में साबित होंगे 'डेंजर मैन'

सबसे ज्यादा आईपीएल मैच खेलने वाले क्रिकेटर्स

एमएस धोनी- 212 मैच
रोहित शर्मा- 207 मैच
दिनेश कार्तिक- 203 मैच
सुरेश रैना-201 मैच
विराट कोहली-199 मैच
 


कोहली के नाम होगा एक और रिकॉर्ड

इसके साथ ही आरसीबी कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) के नाम एक और रिकॉर्ड दर्ज हो जाएगा. वो इकलौते ऐसे खिलाड़ी बन जाएंगे जिन्होंने किसी एक टीम की तरफ से सबसे ज्यादा मैच खेला है. 200 आईपीएल मैच खेलने वाले बाकी सभी क्रिकेटर्स कम से कम 2 टीमों का हिस्सा जरूर रहे हैं.

14 साल से हैं RCB का हिस्सा

विराट कोहली (Virat Kohli) साल 2008 से लगातार बैंगलोर (Bangalore) फ्रेंचाइजी के लिए ही खेलते आ रहे है, यही वजह है कि वो इस खास रिकॉर्ड को बनाने में कामयाब रहेंगे. उन्हें साल 2013 में आरसीबी (RCB) टीम का कप्तान बनाया गया था. विराट अपने करियर के आखिर तक इसी टीम का हिस्सा रहना चाहते हैं.
 

IPL 2021 के बाद छोड़ेंगे कप्तानी

विराट कोहली (Virat Kohli) इस रिकॉर्ड को बनाने के एक दिन पहले ही आरसीबी (RCB) की कैप्टनसी छोड़ने का ऐलान कर चुके हैं. बतौर कप्तान आईपीएल 2021 (IPL 2021) उनका 9वां और आखिरी सीजन होगा. गौरतलब है कि वो पिछले 8 सालों में एक बार भी अपनी टीम को चैंपियन नहीं बना सके.

 

 

Trending news