close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जानिए क्या है वह मामला जिसकी वजह से ईडी के घेरे में आए हैं फारुख अब्दुल्ला

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्य मंत्री फारूख अब्दुल्ला को एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट ने अपने चंडीगढ़ ऑफिस में पूछताछ के लिए बुलाया है. फारुख पर  जम्मू कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन (JKCA) के 113 करोड़ रुपये का घोटाला करने का आरोप है.

जानिए क्या है वह मामला जिसकी वजह से ईडी के घेरे में आए हैं फारुख अब्दुल्ला
फारुख अब्दुल्ला को 8 साल पुराने मामले में ईडी ने पूछताछ के लिए बुलाया था. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दूल्ला (Farooq Abdullah) इस बार एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट के घेरे में आ गए हैं. ED फारुख अब्दूल्ला से जम्मू कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन (JKCA) के 113 करोड़ रुपये के घोटाले मामले में पुछताछ कर रही है. फारूख को बुधवार को दिन में करीब 12.30 बजे चंडीगढ़ स्थित एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट के ऑफिस में पुछताछ के लिए बुलाया गया था. फारुख अब्दुल्ला पर आरोप है कि जम्मू कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन को उनकी अध्यक्षता के समय बीसीसीआई ने जो पैसा दिया था उसमें भारी हेरफेर हुई है.

क्या है फारुख पर आरोप
ये पूछताछ ED के चंडीगढ़ वाले दफ्तर में हो रही है क्योंकि जम्मू कश्मीर ED के चंडीगढ़ जोन के अंर्तगत आता है. फारुख अब्दूल्ला पर आरोप है कि जब वे 2001 से 2011 के दौरान JKCA के अध्यक्ष थे उसी दौरान BCCI की तरफ से डेवलेपमेंट के नाम पर 113 करोड़ रुपये दिये गए थे लेकिन इन पैसों का डेवलेपमेंट के नाम पर गबन कर लिया गया. बताया जा रहा है कि फारुख ने दो विरोधाभासी तरीके से इस फंड को रिलीज किया था. 

क्या है सीबीआई की भूमिका
CBI ने ये मामला 21 सितंबर 2015 को जम्मू कश्मीर हाईकोर्ट के आदेश पर दर्ज किया था. इससे पहले इस मामले की जांच जम्मू कश्मीर पुलिस कर रही थी. CBI ने मामला RPC की धारा 120B r/w 406,409 के तहत दर्ज किया था और इस मामले में जांच पुरी कर 16 जुलाई 2018 को श्रीनगर की अदालत में फारुख अब्दूल्ला, सलीम खान, मोहम्मद अहसान मिर्जा और बसीर अहमद मंसिर के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी.

मनी लॉन्ड्रिग का है मामला
ED ने CBI में दर्ज मामले के आधार पर मनी लॉड्रिंग का मामला दर्ज कर जांच शुरु की थी और अब फारुख अब्दूल्ला से चंडीगढ़ में पुछताछ की जा रही है. ED के मुताबिक इस मामले से जुड़े बाकी आरोपियों को भी जल्दी ही जांच के लिये सम्मन भेजा जायेगा.