close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

धोनी अपनी यूनिट के साथ कश्मीर में करेंगे सेना की ड्यूटी, दी जाएगी बेसिक ट्रेनिंग

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भारतीय सेना की पैराशूट रेजिमेंट के साथ 15 दिन की ट्रेनिग करने वाले हैं.

धोनी अपनी यूनिट के साथ कश्मीर में करेंगे सेना की ड्यूटी, दी जाएगी बेसिक ट्रेनिंग
धोनी की अपनी यूनिट के साथ ड्यूटी करने का आवेदन सेना मुख्यालय ने स्वीकार किया...

नई दिल्ली: क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी की अपनी यूनिट के साथ ड्यूटी करने का आवेदन सेना मुख्यालय ने स्वीकार कर लिया है और अब वो 31 जुलाई से 15 अगस्त तक अपनी यूनिट के साथ सेना की ड्यूटी करेंगे. इस दौरान उन्हें सेना की बेसिक ट्रेनिंग देने के साथ-साथ घाटी के युवाओं को सेना की तरफ़ आकर्षित करने और उनके मन में देशप्रेम की भावना भरने के कई कार्यक्रमों में भी ले जाया जाएगा. 

महेंद्र सिंह धोनी को टेरीटोरियल आर्मी की 106 वीं पैरा बटालियन (टेरीटोरियल आर्मी) में लेफ्टिनेंट कर्नल का मानद रैंक दिया गया है. इस समय उनकी यूनिट आतंकवाद से निपटने वाली राष्ट्रीय राइफल्स की विक्टर फोर्स के साथ है और श्रीनगर में तैनात है. धोनी ने कुछ दिन पहले सेना से 2 महीने के लिए अपनी यूनिट के साथ तैनाती की अनुमति मांगी थी. 

महेंद्र सिंह धोनी की यूनिट की ज़िम्मेदारी पुराने एयरपोर्ट और बादामी बाग स्थित सेना की 15वीं कोर के मुख्यालय सहित महत्वपूर्ण सैनिक ठिकानों की सुरक्षा की है. सेना मुख्यालय के सूत्रों के मुताबिक, धोनी की लगभग 2 हफ्ते की यूनिट के साथ तैनाती के दौरान उन्हें सैनिक ड्यूटी की ट्रेनिंग और अनुभव देने के अलावा भी कई ज़िम्मेदारियां दी जाएंगी. धोनी को शुरूआत में तीन दिन तक यूनिट में रखा जाएगा जिस दौरान उन्हें ड्रिल, आर्मी फील्डक्राफ्ट की बेसिक सबक दिए जाएंगे. 

धोनी की सैनिक शिष्टाचार और सेना के बारे में बेसिक जानकारी भी दी जाएगी, साथ ही उन्हें गश्त लगाने,संतरी ड्यूटी करने के सबक भी दिए जाएंगे. उन्हें इंफेंट्री यूनिट्स द्वारा इस्तेमाल होने वाले हल्के हथियार जैसे राइफल, पिस्टल और हल्की मशीनगन से भी परिचित कराया जाएगा. इसके बाद उन्हें एक हफ्ते तक 15 वीं कोर के अलग-अलग फॉर्मेशनों में ले जाया जाएगा और उनके महत्व के बारे में बताया जाएगा. उन्हें कुपवाडा और बारामुला स्थिति सेना की डिवीज़नों में ले जाने की संभावना है. 

धोनी की इस तैनाती का महत्वपूर्ण हिस्सा सेना के ब्रांड एंबेसडर की तरह घाटी में युवाओं तक पहुंचना भी है. इस दौरान धोनी 4-5 स्थानीय क्रिकेट टीमों से मिलेंगे और उनके साथ क्रिकेट खेलेंगे. घाटी के युवाओं में क्रिकेट को लेकर खासा उत्साह रहता है. धोनी को सेना द्वारा चलाए जा रहे आर्मी गुडविल स्कूलों का भी दौरा करना है. इन स्कूलों को सेना चलाती है और पिछले कुछ समय में इन स्कूलों से कई अच्छे छात्र निकले हैं. इन स्कूलों में पढ़ने वाले कई छात्रों ने कड़ी प्रतियोगिता का सामना करके भारतीय सेना में अफसर बनने में कामयाबी हासिल की है.