टी-20 में कहर ढा रहे हैं मनीष पांडे, रन औसत में विराट को छोड़ कोई नहीं टिकता सामने

टी20 में रन औसत के मामले में इस समय दुनिया में सबसे आगे विराट कोहली हैं. उनका रन औसत 50 के ऊपर है.

टी-20 में कहर ढा रहे हैं मनीष पांडे, रन औसत में विराट को छोड़ कोई नहीं टिकता सामने
मनीष पांडे ने 31 गेंदों में 3 चौके और 1 छक्के की मदद से 42 रनों की पारी खेली. BCCI

नई दिल्ली : निडास ट्रॉफी टी-20 ट्राइ सीरीज के चौथे मैच में अहम समय पर नाबाद 42 रनों की पारी खेलने वाले भारत के मध्य क्रम के बाल्लेबाज मनीष पांडे इस समय अपने विरोधियों पर कहर बन कर टूट रहे हैं. उनका बल्ला पिछले लंबे समय से जिस अंदाज में गरज रहा है, उससे उनकी फॉर्म का अंदाजा हो जाता है. पिछले 6 टी20 मुकाबलों को अगर हम देखें तो उनकी रन औसत के मामले में उनके आगे कोई नहीं ठहर पा रहा है. इस दौरान उन्होंने 114 की रन औसत से रन बनाए हैं.

2018 में खेले गए पिछले 6 मुकाबलों में पांडे के बल्ले से 42*, 27*, 37, 13, 79*, 29* रन बनाए हैं. अपनी 6 पारियों में से 4 पारी के दौरान मनीष पांडे नाबाद रहे हैं. यही कारण है कि उनका रन औसत इन मैचों में 114 का हो गया है. हालांकि पूरे करियर के रन औसत की हम बात करें तो भी मनीष पांडे के रन औसत के आगे सिर्फ विराट कोहली ही आगे हैं. टी20 में जो भी खिलाड़ी 20 या उससे ज्यादा मैच खेल चुके हैं, उनमें मनीष पांडे रन औसत के मामले में दुनिया में दूसरे नंबर पर हैं.

नीता अंबानी ने सुनाई हार्दिक पांड्या की कहानी, 300 रु. कमाने के लिए करते थे ये काम

57 मैचों में विराट कोहली ने 50.84 की रन औसत से 1983 रन बनाए हैं. वहीं मनीष पांडे ने 21 मैचों में 42.36 की औसत से 466 रन बनाए हैं. मनीष पांडे ने अपना पहला मैच जुलाई 2015 में जिंबाब्वे के खिलाफ खेला था. आईपीएल में पहला शतक बनाने का रिकॉर्ड भी मनीष पांडे के नाम है.

अंत तक टिके रहना चाहता था : मनीष पांडे
मनीष पांडे ने कहा है कि वह अंत तक टिके रहकर अपनी टीम को जीत दिलाना चाहते थे जिसमें वो कामयाब हुए. भारत ने सोमवार को श्रीलंका को इस अहम मैच में छह विकेट से मात देते हुए सीरीज के फाइनल में जान की अपनी उम्मीदों को जिंदा रखा है. श्रीलंका ने भारत के सामने 153 रनों का लक्ष्य रखा जिसें भारत ने 17.3 ओवरों में चार विकेट खोकर हासिल कर लिया.


मनीष पांडे के साथ दिनेश कार्तिक ने शानदार बल्लेबाजी कर टीम को जीत दिलाई. फोटो : बीसीसीआई

1 ओवर में 27 रन देकर विलेन बने शार्दुल ठाकुर 4 विकेट लेकर बने हीरो

मैच के बाद पांडे ने कहा, "नंबर-5 पर बल्लेबाजी करते हुए मैंने सोचा था कि मैं अंत तक टिका रहूंगा और मैच खत्म करते हुए जाऊंगा. पहले मैच के बाद हमारे गेंदबाजों ने अच्छी वापसी की है और इसी कारण हम उन्हें 152 रनों पर रोकने में कामयाब रहे. छह-सात नंबर के बाद हमारे पास ज्यादा बल्लेबाजी नहीं थी, इसलिए कार्तिक के साथ साझेदारी करना अच्छा रहा." पांडे ने 31 गेंदों में तीन चौके और एक छक्के की मदद से 42 रनों की पारी खेली. इस मैच में चार विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर को मैन ऑफ द मैच चुना गया.