मिताली राज टी-20 से ले सकती हैं संन्‍यास, अंतरराष्‍ट्रीय क्र‍िकेट में पूरे कर चुकी हैं 20 साल

भारतीय महिला टीम बुधवार से न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की टी-20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज खेलेगी, लेकिन अभी यह तय नहीं है कि मिताली राज को टीम के अंतिम 11 खिलाड़ियों में जगह मिलेगी या नहीं.

मिताली राज टी-20 से ले सकती हैं संन्‍यास, अंतरराष्‍ट्रीय क्र‍िकेट में पूरे कर चुकी हैं 20 साल
म‍िताली राज वनडे क्र‍िकेट खेलती रहेंगी. फोटो : आईएएनएस

नई दिल्ली: भारतीय महिला क्रिकेट टीम की दिग्गज खिलाड़ी मिताली राज इंग्लैंड के खिलाफ आगामी घरेलू टी-20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज के बाद खेल के इस प्रारूप से संन्यास ले सकती हैं, जबकि वह वनडे में खेलना जारी रखेंगी जहां वह टीम की कप्तान हैं. भारतीय महिला टीम बुधवार से न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की टी-20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज खेलेगी, लेकिन अभी यह तय नहीं है कि मिताली को टीम के अंतिम 11 खिलाड़ियों में जगह मिलेगी या नहीं.

इस खिलाड़ी का चयन अगर अंतिम 11 में होने की स्थिति में भी यह पता चला है कि 36 साल की मिताली इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू टी20 सीरीज के बाद इस प्रारूप में आगे नहीं खेलेंगी. इंग्लैंड के खिलाफ तीन मैचों की टी20 श्रृंखला को चार मार्च से असम के बारासपारा में खेला जाएगा.

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर बताया, ‘मिताली इस बात को समझती हैं कि कप्तान हरमनप्रीत कौर टी-20 वर्ल्‍डकप की टीम तैयार करने पर ध्यान दे रही हैं और उनके उस टूर्नामेंट में खेलने की संभावना लगभग नहीं है.’ अधिकारी ने कहा, ‘मिताली की कद की खिलाड़ी को शानदार विदायी मिलनी चाहिये और ऐसा इंग्लैंड के खिलाफ होने की संभावना है.’

ऐसा संकेत भी मिला है कि न्यूजीलैंड के खिलाफ सभी मैचों में मिताली का चयन (अंतिम 11 में) नहीं होगा और टीम प्रबंधन के एक वरिष्ठ सदस्य ने उन्हें इस बात से अवगत करा दिया है. यह समझा जाता है कि मिताली टीम प्रबंधन का इशारा समझ रही है और क्रिकेट बोर्ड उन्हें छोटे प्रारूप से अपनी शर्तों पर संन्यास लेने का मौका देगा.

अधिकारी ने कहा, ‘अभी यह तय नहीं है कि वह इंग्लैंड के खिलाफ पूरी सीरीज में खेलेगी या पुरुष टीम के पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा की तरह सीरीज के पहले मैच के बाद संन्यास लेंगी.’ टी20 में धीमी स्ट्राइक-रेट और कमजोर क्षत्ररक्षण के करण उनकी जगह पक्की नहीं है, जिसके कारण उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ महिला टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल में जगह नहीं मिली.

मिताली को हालांकि टीम से बाहर रखने के फैसले पर काफी विवाद भी हुआ और उन्होंने प्रशासकों की समिति (सीओए) की सदस्य डायना एडुल्जी पर तत्कालीन कोच रमेश पोवार के साथ मिलकर करियर को बर्बाद करने का आरोप लगाया. इस विवाद के बाद पोवार का करार आगे नहीं बढ़ा और डब्ल्यूवी रमन को महिला टीम का कोच बनाया गया. मिताली ने अब तब 85 टी20 अंतरराष्ट्रीय में 2283 रन बनाये है, जिसमें 17 अर्धशतकीय पारियां शामिल हैं. उनका सर्वोच्च स्कोर 97 रन का है.