close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मोहम्मद हफीज का हुआ तीसरी बार गेंदबाजी एक्शन परीक्षा

पाकिस्तान के अनुभवी हरफनमौला स्पिनर मोहम्मद हफीज ने इंग्लैंड में बायोमेट्रिक गेंदबाजी परीक्षण दिया

मोहम्मद हफीज का हुआ तीसरी बार गेंदबाजी एक्शन परीक्षा
मोहम्मद हफीज ने इंग्लैंड में दिया अपनी गेंदबाजी के एक्शन का परीक्षण (फाइल फोटो)

कराची : एक ओर पाकिस्तान के अनुभवी हरफनमौला क्रिकेटर मोहम्मद हफीज को संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन के चलते परीक्षण देना पड़ा है वही पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड अपने खिलाड़ियों में यह स्पष्ट संदेश देना चाहते हैं कि वह भ्रष्टाचार को कतई बर्दाश्त नहीं करेगा. इसीलिए पीसीबी खालिद लतीफ पर आजीवन प्रतिबंध लगाना चाहता है.

पाकिस्तान के अनुभवी हरफनमौला मोहम्मद हफीज ने इंग्लैंड में आज बायोमेट्रिक गेंदबाजी परीक्षण दिया जिसका नतीजा दो सप्ताह बाद आयेगा और यह तय होगा कि वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी कर सकते है या उन पर एक बार फिर प्रतिबंध लगेगा.

यह भी पढ़ें : जिम्बाब्वे ने कैसे तोड़ा लगातार दस टेस्ट मैचों की हार का सिलसिला

स्पिन गेंदबाजी करने वाले हफीज की हाल ही में श्रीलंका के खिलाफ यूएई में खेली गयी एकदिवसीय श्रृंखला में संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन की रिपोर्ट की गयी थी.यह उनके करियर में तीसरा अवसर है जब आईसीसी मैच अधिकारियों ने उनकी गेंदबाजी को संदिग्ध पाया है. 

यह भी पढ़ें : एक मैच में 136 वाइड बॉल, बल्लेबाजों के मुकाबले वाइड बॉल 'बेस्ट स्कोरर'

वहीं पीबीसी ने स्पॉट फिक्सिंग मामले में दोषी करार दिये गये क्रिकेटर खालिद लतीफ पर आजीवन प्रतिबंध लगाने के लिये याचिका दायर की है. लतीफ पर फिलहाल पांच साल का प्रतिबंध और दस लाख रुपये का जुर्माना लगा है. पीसीबी के कानूनी सलाहकार तफज्जुल रिजवी ने कहा कि उन्होंने स्वतंत्र निर्णायक के माध्यम से आजीवन प्रतिबंध लगाने की याचिका दाखिल की है. 

हम दूसरों के लिये उदाहरण पेश करना चाहते हैं
उन्होंने कहा, ‘‘ हम लतीफ पर पांच साल के प्रतिबंध और जुर्माने की रकम से संतुष्ट नहीं है. हमारी नीति साफ है कि हम भ्रष्टाचार में लिप्त खिलाड़ियों को बर्दाश्त नहीं करेंगे. हम नहीं चाहते की भ्रष्टाचार रोधी आचार संहिता के तहत दोषी पाये गये खिलाड़ी को फिर से खेलने का मौका मिले. हम दूसरों के लिये उदाहरण पेश करना चाहते हैं. ’’ लतीफ और बल्लेबाज शारजील खान को तीन सदस्यीय भ्रष्टाचार रोधी न्यायाधिकरण ने स्पॉट फिक्सिंग और दूसरी भ्रष्टाचार निरोधक आचार संहिता के तहत मैच फिक्सिंग का दोषी पाया गया हो.
(इनपुट भाषा)