close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महेंद्र सिंह धोनी ने चहल को दिया है ये नाम, सुनकर आप भी नहीं रोक पाएंगे हंसी

इंग्लैंड के खिलाफ वन-डे सीरीज में कुलदीप यादव ने 9 विकेट लिए और चहल को केवल दो विकेट से संतोष करना पड़ा.

महेंद्र सिंह धोनी ने चहल को दिया है ये नाम, सुनकर आप भी नहीं रोक पाएंगे हंसी
युजवेंद्र चहल ने की महेंद्र सिंह धोनी की तारीफ (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में युजवेंद्र चहल डेब्यू करने के बाद से कप्तान विराट कोहली के लिए हमेशा फेवरेट बॉलर रहे हैं. उनसे कभी भी गेंदबाजी कराई जा सकती है. युजवेंद्र चहल ने अपनी शानदार स्पिन से अबतक के अपने छोटे से ही करियर में दुनिया के बड़े-बड़े बल्लेबाजों को परेशान कर दिया है. इसी साल दक्षिण अफ्रीकी दौरे पर युजवेंद्र चहल ने कुलदीप यादव के साथ मिलकर अफ्रीकी बल्लेबाजों को खूब छकाया और भारत को वन-डे और टी-20 सीरीज जीतने में मदद की. अपनी इस सफलता का श्रेय युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव की तरह ही महेंद्र सिंह धोनी को देते हैं. धोनी विकेट के पीछे खड़े होकर भी कप्तान से कुछ कम काम नहीं करते हैं. वह गेंदबाजों को लगातार निर्देश और सुझाव देते रहते हैं, जो गेंदबाजों को विकेट झटकने में काफी मदद करते हैं.

कुलदीप यादव अपने कई इंटरव्यूज में विकेट के पीछे महेंद्र सिंह धोनी की भूमिका के बारे में बता चुके हैं. इसके साथ ही स्टंप्स में लगे माइक भी अक्सर धोनी के इन निर्देशों को कैद कर चुके हैं. हाल ही में एक वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में अब युजवेंद्र चहल ने भी महेंद्र सिंह धोनी की जमकर तारीफ की है. चहल ने बताया कि किस तरह धोनी अलग-अलग परिस्थितियों में उन्हें सुझाव देते रहते हैं. धोनी के यह आइडिया अक्सर काम भी करते हैं और चहल को सफलता भी दिलाते हैं.

इन सुझावों के साथ-साथ महेंद्र सिंह धोनी विकेट के पीछे मजाकिया मूड में भी रहते हैं और मैदान पर हंसी-मजाक का माहौल बना रहता है. इसी हंसी-मजाक में धोनी ने युजवेंद्र चहल को एक मजेदार निकनेम भी दिया है. क्विंट को दिए एक इंटरव्यू में चहल ने बताया कि महेंद्र सिंह धोनी ने उन्हें निकनेम दिया है- तिल्ली. बता दें कि युजवेंद्र चहल के शरीर का डील-डौल काफी पतला है. ऐसे में साथी खिलाड़ी भी अक्सर उनका मजाक उड़ाते रहते हैं. 

चहल ने साथ ही बताया कि, वह विकेट के पीछे खड़े धोनी से हमेशा सलाह लेते रहते हैं. 28 वर्षीय युजवेंद्र चहल से रैपिड फायर में कई मजेदार सवाल पूछे गए. एक सवाल के जवाब में चहल ने कहा कि, चिन्नास्वामी स्टेडियम में इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 में लिए उनके 6 विकेट उनके अब तक के करियर का यादगार पल था. 

जब चहल से उनके पसंदीदा विरोधी खिलाड़ी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह अब तक पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले का इंतजार कर रहे हैं. उन्हें पाकिस्तान के खिलाफ खेलना पसंद है. और उनकी यह इच्छा जल्द पूरी होगी क्योंकि एशिया कप में भारत और पाकिस्तान के बीच 19 सितंबर को मुकाबला होगा. 

23 सितंबर को दोनों के बीच दोबारा मुकाबला होगा और यदि दोनों टीमें अच्छा परफॉर्म करती हैं तो 28 सितंबर को दोनों टीमें दुबई में फाइनल में भी भिड़ सकती हैं. फिलहाल युजवेंद्र चहल क्रिकेट से ब्रेक पर हैं. बता दें कि युजवेंद्र चहल हाल ही में इंग्लैंड दौरे से भारत से लौटे हैं. इंग्लैंड में युजवेंद्र चहल ने टी-20 और वन-डे में अच्छी गेंदबाजी की, लेकिन बल्लेबाजों ने उन्हें विकेट नहीं दिया. इंग्लैंड दौरे पर टी-20 सीरीज में युजवेंद्र चहल केवल एक विकेट ले पाए. इंग्लिश बल्लेबाजों को उनका सामना करने में कोई दिक्कत नहीं हुई. वन-डे सीरीज में कुलदीप यादव ने 9 विकेट लिए और चहल को केवल दो विकेट से संतोष करना पड़ा.

इंग्लैंड दौरा इस स्पिनर के लिए एक सबक है, जिसके बाद अब चहल को ऐसी पिचों पर अपनी गेंदबाजी पर काम करना होगा, जो स्पिन नहीं कर रही हैं. उन्हें ऐसी पिचों पर वेरिएशन के साथ गेंदबाजी करनी होगी. बता दें कि चहल ने अबतक भारत के लिए 26 वन-डे और 26 ही टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं. उनके नाम वन-डे में 45 और टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 42 विकेट दर्ज हैं.