close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ओलंपिक 2020 से पहले भारत को बड़ा झटका, नेशनल डोप टेस्टिंग लैब सस्पेंड

एनडीटीएल देश की एकमात्र ऐसी प्रयोगशाला है जो डोप टेस्ट करती है.

ओलंपिक 2020 से पहले भारत को बड़ा झटका, नेशनल डोप टेस्टिंग लैब सस्पेंड
एनडीटीएल देश की एकमात्र ऐसी प्रयोगशाला है जो डोप टेस्ट करती है.

नई दिल्ली: विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (WADA) ने यहां भारत की राष्ट्रीय डोप परीक्षण प्रयोगशाला (NDTL) को छह महीने के लिए निलंबित कर दिया है. इस निलंबन ने देश के डोपिंग रोधी कार्यक्रम को बड़े पैमाने पर झटका दिया है क्योंकि 2020 में टोक्यो में होने वाले ओलम्पिक में अब बेहद कम समय बचा है.

वाडा ने एक प्रेस रिलीज में कहा, "वाडा की जांच के दौरान एनडीटीएल की प्रयोगशालाओं के लिए तय अंतर्राष्ट्रीय मानकों (ISL) के अनुरूप नहीं पाया गया जिसके कारण उसे निलंबित किया गया है."

एनडीटीएल देश की एकमात्र ऐसी प्रयोगशाला है जो डोप टेस्ट करती है. यह दुनिया में मौजूद 34 वाडा मान्यता प्राप्त प्रयोगशालाओं में से एक है. वाडा ने कहा कि एनडीटीएल के नमूना विश्लेषण के तरीके सटीक नहीं थे.

वाडा ने कहा, "यह निलंबन 20 अगस्त से प्रभावी है और एनडीटीएल अब किसी प्रकार की डोपिंग रोधी गतिविधी में शामिल नहीं हो पाएगी. इसमें रक्त और मूत्र के नूमनों का विश्लेषण भी शामिल है."

वाडा ने कहा, "उन नमूनों को भारत के बाहर वाडा से मान्यता प्राप्त प्रयोगशाला में भेजना होगा जिसे एनडीटीएल पहले ही एकत्र कर चुकी है, जो फिलहाल पुष्टि की प्रक्रिया में शामिल है या जिनके विश्लेषण के खिलाफ रिपोर्ट की गई है."

वाडा के इस निर्णय के खिलाफ एनडीटीएल अगले 21 दिनों में कोर्ट ऑफ आर्ब्रिटेशन फॉर स्पोर्ट्स  में अपील कर सकता है.