सिद्धू का नया सुझाव, भारत और पाकिस्तान की इन टीमों के बीच खेली जाए क्रिकेट सीरीज

इमरान के शपथ ग्रहण समारोह का न्योता मिलने पर कांग्रेस सरकार के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू इस्लामाबाद गए थे.

सिद्धू का नया सुझाव, भारत और पाकिस्तान की इन टीमों के बीच खेली जाए क्रिकेट सीरीज
सिद्धू ने कहा कि आईपीएल और पीएसएल की विजेता टीम के बीच मैच एक अच्छा विचार है. (फाइल)

नई दिल्ली: भारत के पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी नवजोत सिंह सिद्धू ने भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट संबंधों को फिर से शुरू करने का एक तरीका सुझाया है. सिद्धू ने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के सांसद फैसल जावेद से साथ बातचीत के दौरान इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) और पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) के विजेताओं के बीच तीन मैचों की सीरीज का सुझाव दिया.

इस्लामाबाद में प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने के बाद लाहौर जाने से पहले सिद्धू ने कहा,  ''क्रिकेट पाकिस्तान और भारत को एक साथ ला सकता है. आईपीएल और पीएसएल की विजेता टीम के बीच मैच एक अच्छा विचार है."

पीएसएल चैंपियन इस्लामाबाद यूनाइटेड के कोच डीएस जोन्स ने नवजोत सिंह सिद्धू का समर्थन किया और कहा कि उनकी टीम चुनौती के लिए तैयार है. बता दें कि इस साल इस्लामाबाद यूनाइटेड ने ही पीएसएल का फाइनल मुकाबला जीता था.

गौरतलब है कि इमरान के शपथ ग्रहण समारोह का न्योता मिलने पर कांग्रेस सरकार के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू वाघा सीमा के जरिए लाहौर पहुंचे थे, जहां से उन्होंने पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद पहुंचकर शपथ ग्रहण समारोह में शिरकत की.

वहां सिद्धू को आगे की लाइन में बैठाया गया था जहां भारत के इस नेता ने पाकिस्तानी सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा से बड़ी गर्मजोशी से मुलाकात की. बाजवा से गले मिलते सिद्धू का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था.  इसके बाद से कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू के बाजवा से गले मिलने की देश में तीखी आलोचना हो रही है.

यह भी पढ़ें- पाकिस्तान से लौटकर बोले सिद्धू- 'पूरी उम्र जो नहीं मिला वह 2 दिन में मिला है'

आपको बता दें कि शपथ ग्रहण कार्यक्रम के लिए इमरान खान ने भारत से नवजोत सिंह सिद्धू के अलावा सुनील गावस्कर और कपिल देव को भी बुलाया था. हालांकि, शपथ ग्रहण में हिस्सा लेने के लिए केवल सिद्धू ही इस्लामाबाद गए थे.