...तो गावस्कर और रवि शास्त्री के कारण चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान बना था चैंपियन

इस साल जून में पाकिस्तानी क्रिकेट टीम ने तमाम पूर्वानुमानों को ध्वस्त करते हुए चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में भारत को हराकर खिताब पर कब्जा जमाया था.

...तो गावस्कर और रवि शास्त्री के कारण चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान बना था चैंपियन
क्रिकेट के इन दिग्गजों ने फाइनल से पहले पाकिस्तान को नहीं दिया था भाव. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली : ये खबर पढ़कर भले आपको यकीन न हो, लेकिन इस बात का खुलासा खुद पाकिस्तान की टीम से जुड़े अधिकारी ने किया है. दरअसल इस साल जून में पाकिस्तानी क्रिकेट टीम ने तमाम पूर्वानुमानों को ध्वस्त करते हुए चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में भारत को हराकर खिताब पर कब्जा जमाया था. ये सभी को पता है कि पाकिस्तान की टीम इस टूर्नामेंट की शुरुआत में किसी की फेवरेट नहीं थी. ऊपर से पहले ही लीग मैच में भारत के खिलाफ मिली हार ने उसकी फजीहत करा दी थी. लेकिन उसके बाद कहानी पूरी तरह से बदल गई. और पाकिस्तान टूर्नामेंट में चैंपियन बना था. एक तरह से कहा जाए तो 1992 में वर्ल्ड कप जीतने के बाद पाकिस्तानी क्रिकेट की सबसे बड़ी जीत है. इन दोनों जीतों में बड़ी समानता ये थी कि इन दोनों ही टूर्नामेंट की शुरुआत में पाकिस्तान को सबसे कमजोर टीम माना जा रहा था.

अब यह बात सामने अ रही है कि पाकिस्तान की इस जीत में दो भारतीयों का हाथ था. चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान टीम के मैनेजर रहे तलत अली ने अब फाइनल में भारत के खिलाफ अपनी टीम की जीत के राज का खुलासा किया है. अली ने क्रिकबज को दिए एक इंटरव्यू में बताया है कि किस बात ने उनकी टीम के खिलाड़ियों में फाइनल के लिए जोश भरा.

VIDEO : 'गौतम' के 3 'गंभीर' विवाद, कभी विराट कोहली से भिड़ें तो कभी आफरीदी से टकराए

दरअसल एक रिपोर्ट के मुताबिक चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान टीम के कोच रहे तलत अली ने इस मुद्दे पर खुलासा किया है. उन्होंने कहा कि टीम इंडिया ने फाइनल के लिए पाकिस्तान को जरा भी भाव नहीं दिया था. यहां तक कि भारत के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी भी पाकिस्तान को तवज्जो  नहीं दे रहे थे. तलत ने कहा, ‘फाइनल से पहले मैं सुनील गावस्कर और रवि शास्त्री के विश्लेषण सुन रहा था. उन्होंने हमारी जीत की जरा भी संभावना नहीं जताई थी. इसी बात ने खिलाड़ियों में जोश भरा. इस मैच के बारे में कहा गया कि कोई मुकाबला ही नहीं है, तब हमने फैसला किया चलो बैट और गेंद से जवाब देते हैं.’

शतक लगाने की होड़ में विराट से भी आगे निकल गया ये पाकिस्तानी खिलाड़ी

इस इंटरव्यू में अली ने फाइनल में टॉस जीतकर पाकिस्तान को पहले बल्लेबाजी के लिए बुलाने के भारत के निर्णय पर भी हैरानी जाहिर की. अली ने आगे कहा, ‘हम थोड़ा लकी भी रहे. ये समझ पाना मुश्किल है कि भारत ने टॉस जीतने के बाद हमें पहले बैटिंग क्यों दी. हमारे अच्छे गेंदबाजी आक्रमण को देखते हुए एक बार अच्छा स्कोर खड़ा कर लेने के बाद भारत के लिए लक्ष्य का पीछा कर पाना मुश्किल होता.’

इस बल्लेबाज ने 18 महीने में 9 शतक और 19 अर्धशतक बनाकर मचा दी थी सनसनी

हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव कम करने के लिए इन दोनों के बीच ज्यादा मैचों का आयोजन किया जाना चाहिए.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.